Sunday, October 24, 2021
Follow us on
BREAKING NEWS
T20 वर्ल्ड कप: पाकिस्तान ने जीता टॉस, भारत को पहले बल्लेबाजी का न्योतासौ करोड़ से ज्यादा टीकाकरण देश के लिए बड़ी उपलब्धि : गृह मंत्री अनिल विजजम्मू कश्मीरः JDA ग्राउंड में ही होगी अमित शाह की रैली, मौसम में बदलाव के बाद BJP का फैसलापेट्रोल-डीजल की कीमतों में इजाफे के खिलाफ 14 से 29 नवंबर तक आंदोलन करेगी कांग्रेसजम्मू कश्मीरः पुंछ में आतंकियों से मुठभेड़, 2 पुलिसकर्मी और सेना का एक जवान घायलडीएपी खाद पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने बुलाई उच्च स्तरीय बैठकमुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जाएंगे अयोध्या, 26 अक्टूबर को करेंगे रामलला के दर्शनजम्मू कश्मीर को लेकर गृह मंत्री अमित शाह की हाई लेवल मीटिंग खत्म
Haryana

योगेंद्र यादव कांग्रेस के एजेंट, कांग्रेस शासित राज्य में किसानों की समस्या पर कभी नहीं बोलते – दिग्विजय चौटाला

October 12, 2021 08:01 PM

जननायक जनता पार्टी के प्रधान महासचिव दिग्विजय चौटाला ने कहा है कि योगेंद्र यादव को किसानों के फायदे अच्छे नहीं लगते है क्योंकि उन्हें कांग्रेस पसंद है और कांग्रेस के फायदे के लिए वे राजनीतिक साजिश के तहत तीन नए कानूनों का मुद्दा हल नहीं होने दे रहे। दिग्विजय ने कहा कि दोहरा चरित्र रखने वाले योगेंद्र यादव राजस्थान में किसानों की समस्याओं पर कभी नहीं बोलतेक्योंकि वहां कांग्रेस की सरकार है। उन्होंने कहा कि ऐसा इसलिए हैक्योंकि योगेंद्र यादव केंद्र में पूर्व कांग्रेस सरकार में अच्छे-अच्छे पदों का आनंद उठा चुके हैं। मंगलवार को जेजेपी प्रदेश कार्यालय पर आयोजित एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान दिग्विजय चौटाला पत्रकारों से रूबरू थे। इन दौरान उन्होंने योगेंद्र यादव द्वारा उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला से पूछे गए 10 सवालों का जवाब दिया और उनसे छह प्रश्नों का उत्तर मांगा। साथ ही दिग्विजय ने किसानों के मुद्दों पर कभी भी और किसी भी माध्यम पर चर्चा करने के लिए योगेंद्र यादव को खुली बहस की चुनौती दी।  

 

जेजेपी प्रधान महासचिव ने कहा कि योगेंद्र यादव यूपीए सरकार के दौरान आठ साल में कम से कम 22 ऐसी कमेटियों के सदस्य रहे जिनमें नियुक्ति केंद्र सरकार के माध्यम से होती हैवे इन अच्छे पदों पर आनंद लेते रहे। दिग्विजय चौटाला ने कहा कि आज योगेंद्र यादव का ध्यान किसान कानून या किसानों को अच्छा एमएसपी दिलवाने पर नहीं है क्योंकि कांग्रेस हाईकमान के आदेश पर उनका टारगेट केवल दुष्यंत चौटाला हैं।  

 

दिग्विजय चौटाला ने योगेंद्र यादव से अपने सवालों का उत्तर मांगते हुए पूछा कि नेताओं के विरोध में पिक एंड चूज की पॉलिसी क्यों अपनाई जा रही है। कुछ खास नेताओं और कुछ क्षेत्रों में ही विरोध क्यों किया जा रहा है और आपके खुद के क्षेत्र में कोई विरोधटोल बंद आदि क्यों नहीं हो रहा है उन्होने पूछा कि हरियाणा के किसानों को आप बार-बार गुमराह कर रहे हो और भड़का रहे हो जबकि राजस्थान में बाजरे की सरकारी खरीद तक नहीं हो रही और वहां के किसान हरियाणा आकर बाजरा बेचते हैं। राजस्थान के किसानों की आपको कभी चिंता नहीं हुई क्या दिग्विजय ने पूछा कि हरियाणा देश में सबसे ज्यादा 11 फसलों को एमएसपी पर खरीदता है और आप यहीं पर एमएसपी खत्म होने का डर बताकर आंदोलन करते हो। किसी अन्य राज्य में एमएसपी की फसलों की संख्या बढ़वाने पर आपका क्यों ध्यान नहीं है ?

 

दिग्विजय ने यह भी सवाल पूछा कि हरियाणा देश में गन्ने का सर्वाधिक मूल्य 362 रुपये क्विंटल देता है जबकि उत्तर प्रदेश के गन्ना किसानों को 325 रुपये का रेट मिल रहा है। आप गन्ना सर्वाधिक दाम पर खरीदने पर हरियाणा सरकार की तारीफ और उत्तरप्रदेश में किसानों को जागरूक क्यों नहीं करते उन्होंने पूछा कि उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने बार-बार किसानों और केंद्र सरकार के बीच बातचीत के लिए मध्यस्थता का प्रस्ताव रखा है। आपने उस पर कभी निमंत्रण स्वीकार कर बातचीत बहाल करवाने में सहयोग क्यों नहीं किया। क्या आप चाहते हैं कि बातचीत हो अगर हांतो बीते 9 महीने में इस बारे में आपके उठाए कदमों के बारे में बताएं। दिग्विजय ने पूछा कि आप बार-बार उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला का इस्तीफा मांगते हैं जबकि आपके ही साथी गुरनाम चढ़ूनी कहते हैं कि सदन में रहकर ही आवाज़ प्रमुखता से उठाई जा सकती है और किसान हित में काम किए जा सकते हैं। आपको दुष्यंत चौटाला जी के पद पर रहकर लोगों के काम करने से इतनी तकलीफ क्यों है ?

 

वहीं दिग्विजय चौटाला ने योगेंद्र यादव के सभी 10 सवालों के जवाब में कहा कि जेजेपी हमेशा किसानों की बेहतरी चाहती है और किसान हित में हर बदलाव का स्वागत करती है। उन्होंने कहा कि यह विषय पूरी तरह केंद्र सरकार का रहा है और इन नये तीन कानूनों में किसान को जो भी ऐतराज है उसे दूर करवाने के लिए हम सदैव तैयार रहे हैं और हैं। दिग्विजय ने कहा कि जेजेपी एमएसपी को कानून का लिखित में हिस्सा बनाने के शुरू से पक्षधर है और एमएसपी की लिखित गारंटी देने की मांग करने वाली जेजेपी पहली पार्टी थी। उन्होंने कहा कि रही बात मंडी-एमएसपी खत्मजमीन पर कब्जा होने की तो इन कानूनों से न कोई मंडी बंद होगीन किसी किसान की जमीन पर कब्जा होगा। दिग्विजय ने ये भी कहा कि इन बदलावों की तैयारी पूर्व कांग्रेस सरकार में भी रहीलेकिन वे लोग इन्हें लागू करने का साहस नहीं कर पाए और जब ये कानून अब केंद्र सरकार लेकर आई तो कांग्रेस हल्ला कर रही है। दिग्विजय ने कहा कि दर्जनों किसान संगठन सरकार के साथ हैं और बहुत से किसान नेता योगेंद्र यादव जैसे राजनीतिक महत्वकांक्षा वाले व्यक्ति की असलियत पहचान कर खुद को आंदोलन से दूर कर चुके हैं। उन्होंने कहा कि चौधरी देवीलाल का पड़पौता दुष्यंत चौटाला आज हर दिन किसानों के हित में कोई ना कोई फैसला लेता है और किसान हित को सर्वोपरि रखता है। दिग्विजय ने कहा कि हम कृषि कानूनों की नहींकिसानों की ढाल बनकर खड़े हैं और आखिरी सांस तक किसान हित में काम करते रहेंगे। इस अवसर पर जेजेपी प्रदेश अध्यक्ष सरदार निशान सिंहमहिला सेल की प्रदेश अध्यक्ष शीला भ्याणएससी सेल के प्रदेशाध्यक्ष अशोक शेरवालइनसो राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रदीप देसवालजेजेपी प्रदेश कार्यालय सचिव रणधीर सिंहसर्वजीत मसिता आदि मौजूद रहे।

 
Have something to say? Post your comment
More Haryana News
सौ करोड़ से ज्यादा टीकाकरण देश के लिए बड़ी उपलब्धि : गृह मंत्री अनिल विज
डीएपी खाद पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने बुलाई उच्च स्तरीय बैठक ग्रामीण क्षेत्र में कुटीर उद्योगों को बढ़ावा देने से युवाओं के लिए रोगजार के रास्ते खुलेंगे और देश को आत्म-निर्भर बनाने में यह एक महत्वपूर्ण कदम होगा:बडांरू दत्तात्रेय मुख्यमंत्री मनोहर लाल की सोहना विधानसभा क्षेत्र की विकास रैली आज गांव सरमथला में
हरियाणा सरकार ने 26 आईपीएस और 7 एचपीएस अधिकारियों के तबादले किये
हरियाणा सरकार ने14 एचपीएस अफसरों को अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक के पद पर नियुक्त किया
हरियाणा सरकार ने सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के 20 अधिकारियों के स्थानांतरण आदेश जारी किए.
कल 21 अक्टूबर को भारत ने 1 बिलियन, 100 करोड़ वैक्सीन डोज़ का कठिन लेकिन असाधारण लक्ष्य प्राप्त किया :मोदी
हरियाणा के 2.5 करोड़ लोगों ने धारण किया कोरोना वैक्सिनेशन का सुरक्षा कवच- विज
इलेक्ट्रिक वाहनों को देंगे बढ़ावा, जल्द लेकर आ रहे बेहतरीन ई-व्हीकल पॉलिसी – डिप्टी सीएम