Thursday, October 28, 2021
Follow us on
BREAKING NEWS
नूंह में 81 लाख 99 हज़ार 373 इमेज को अपलोड किया जा चुका है जोकि 99.51 प्रतिशत है : संजीव कौशलपंजाब में दिवाली पर 2 घंटे पटाखे चलाने की इजाजत, रात 8 से 10 बजे तक जला सकेंगे पटाखे ईस्ट एशिया समिट को संबोधित करेंगे पीएम मोदी,आज वर्चुअली होंगे शामिलपेगासस मामले में आज 10:30 बजे आएगा सुप्रीम कोर्ट का फैसलापश्चिम बंगालः कोविड के चलते दक्षिण 24 परगना जिले के सोनारपुर इलाके में 3 दिन का लॉकडाउनक्रूज ड्रग्स केसः आर्यन खान की जमानत याचिका पर अब कल 2.30 बजे से होगी सुनवाईपदोन्नति में आरक्षण से जुड़ी याचिका पर सुनवाई पूरी, SC ने सुरक्षित रखा फैसलाहरियाणा विधान सभा मनाएगी अमृत महोत्सव, उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू करेंगे विशेष सत्र का उद्घाटन
Chandigarh

जीआई डिसआॅर्डर के संपूर्ण प्रबंधन में कारगर है एडवांस्ड एंडोस्कोपिक अल्ट्रासाउंड

August 31, 2021 03:19 PM
चंडीगढ़:हाल के वर्षों में एंडोस्कोपिक प्रक्रियाओं से कई बड़े लाभ मिले हैं और गैस्ट्रो—इंटेस्टाइनल ट्रैक्ट (जीआई ट्रैक्ट) संबंधी कई डिसआॅर्डर के इलाज के लिए एडवांस्ड और न्यूनतम शल्यक्रिया की राह आसान हुई है। एक कारगर साधन के तौर पर एंडोस्कोपिक अल्ट्रासाउंड (ईयूएस) ने विभिन्न प्रकार के जीआई ट्रैक्ट डिसआॅर्डर से पीड़ित मरीजों के इलाज में अनुकरणीय बदलाव ला दिया है। 
 
ईयूएस के दौरान भोजन नली, पेट, आंत के ऊपरी हिस्से और बड़ी आंत के निचला हिस्से के आसपास वाली जगहों का अध्ययन किया जाता है। गॉल ब्लाडर, पित्त वाहिनी, पेनक्रियाज के डिसआॅर्डर और लिम्फ नोड बढ़ने से पीड़ितों को इस प्रक्रिया का लाभ मिल सकता है। 
 
मैक्स सुपर स्पेशियल्टी हॉस्पिटल, साकेत नई दिल्ली में गैस्ट्रोइंटरोलॉजी के निदेशक और प्रमुख डॉ. विवेक सिंगला ने कहा, 'कम से कम 8 घंटे तक मरीज को उपवास पर रहने के बाद बेहोश कर एंडोस्कोपिक अल्ट्रासोनोग्राफी की जाती है ताकि यह दर्दरहित प्रक्रिया बन सके। यदि टिश्यू सैंपलिंग की जरूरत पड़ती है तो डॉक्टर से चर्चा कर खून को पतला करने वाली दवाइयों का सेवन भी रोक देना पड़ता है। जरूरत पड़ने पर टिश्यू सैंपल लिया जाता है और अब नई प्रकार की सुइयों की मदद से इस प्रक्रिया के तहत बायोप्सी भी कराई जा सकती है। पीलिया, बुखार, पेनक्रियाटिक पैथोलॉजी, कैंसर के दर्द का कारण जानने और जीआई ट्रैक्ट कैंसर के कारण उल्टी तथा पीलिया का इलाज अब इस न्यूनतम शल्यक्रिया से बिल्कुल संभव हो गया है।'
 
इस आविष्कार का मकसद बेहतर और न्यूनतम शल्यक्रिया के जरिये विभिन्न रोगों के इलाज में बदलाव लाना है क्योंकि ईयूएस के इस्तेमाल से त्वचा में कट लगाए बिना विभिन्न डायग्नोस्टिक और थेराप्यूटिक प्रक्रियाएं संपन्न की जाती हैं।  जीआई ट्रैक्ट के अंदर का अल्ट्रासाउंड करते हुए ईयूएस एंडोस्कोप की नोक पर कैमरे के जरिये मिनिएचर अल्ट्रासाउंड किया जाता है जिससे उच्च क्वालिटी और बारीक जानकारी वाली तस्वीरें पाने में मदद मिलती है।
 
उन्होंने कहा, 'शुरुआती दौर में परंपरागत तकनीकों के कारण मरीज की बहुत सारी स्थितियां पता नहीं चल पाती थीं। ईयूएस से इस चरण में भी उच्च स्तरीय जानकारी मिल जाती है और कई तरह की बीमारियों पर काबू पाने के तौर—तरीके बदल जाते हैं जिससे शुरुआती चरण की डायग्नोसिस और इलाज संभव हो जाता है।'
 
Have something to say? Post your comment
More Chandigarh News
चंडीगढ़ में होटल नोवोटेल में LIVA मिस Diva यूनिवर्स 2021 हरनाज संधू ने पत्रकारों को संबोधित किया
पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह दो दिन के लिए दिल्ली दौरे पर, मोदी,शाह व नड्डा से मुलाक़ात की संभावना पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी चंडीगढ़ पहुंचे,सरकारी चॉपर से पहुंचे पीजीआई के रिसर्च ब्लॉक में हुआ ब्लास्ट,चंडीगढ़ पीजीआई के रिसर्च ब्लॉक में हुआ धमाका नितिन यादव चंडीगढ़ के नए गृह सचिव नियुक्त आज चंडीगढ़ पहुंचेंगे हरीश रावत, नवजोत सिद्धू और कैप्टन अमरिंदर से अलग-अलग करेंगे मुलाकात
हरियाणा के राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय सोमवार को कृष्ण जन्माष्टमी के अवसर पर सैक्टर-36 के इस्काॅन के मंदिर में भगवान श्री कृष्ण का जलाभिषेक किया
सरकार हमारी बात नहीं सुन रही, अब हम लखनऊ का घेराव करेंगे":राकेश टिकैत,किसान नेता चंडीगढ़ यूटी के अगले संभावित गृह सचिव नियुक्त होने वाले नीतिन कुमार यादव की पत्नी मीनाक्षी यादव ने रविवार को खुदकुशी की
प्रथम टेस्ट प्रेप 1 अगस्त 21 को ऑल इंडिया आईपीएमएटी मॉक टेस्ट आयोजित करेगी