Monday, January 17, 2022
Follow us on
BREAKING NEWS
पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी चुनाव से बचने के लिए नए-नए बहाने ढूंढ रहे- विजअभी भी ICU में लता मंगेशकर, डॉक्टरों ने कहा - नहीं चाहती सार्वजनिक हो ज्यादा जानकारीयूपी चुनाव के लिए AIMIM ने 9 उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी कीकोरोना की वजह से 23 जनवरी तक यूपी में बंद रहेंगे सभी स्कूल-कॉलेज अकाली दल नेता बिक्रम मजीठिया के खिलाफ कोविड -19 प्रोटोकॉल उल्लंघन मामले में FIR दर्जयूपी चुनावों के लिए आज 150 उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी करेगी AAP73 वें गणतंत्र दिवस पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल अम्बाला, उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला जींद गृह मंत्री अनिल विज करनाल और विधानसभा अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता यमुनानगर में राष्ट्रीय ध्वज फहराएंगेचुनाव आयोग ने 22 जनवरी तक मतदान वाले राज्यों में चुनावी रैलियों और रोड शो पर रोक बढ़ा दी है.
Niyalya se

SC: Society must learn to accept intercaste, interfaith marriages

February 09, 2021 05:04 AM

COURTESY HT FEB 9

SC: Society must learn to accept intercaste, interfaith marriages
Utkarsh Anand

letters@hindustantimes.com

New Delhi : The Supreme Court on Monday underscored the right of the adults to choose their life partner, and added that it is time society learns to accept inter-caste and inter-faith marriages without hounding the couples.

A Supreme Court bench of justices Sanjay Kishan Kaul and Hrishikesh Roy futher noted that it would “hardly be a desirable social exercise” for parents to shun their children only because they decided to marry outside their caste or community.

The judges, in their order, also emphasised the need for specific guidelines and a training module for policemen to deal with such “socially sensitive cases”, so that couples can get due protection available to them under the law should the parents lodge criminal cases against them.

It took note that “educated young boys and girls are increasingly choosing their life partner on their own”, which might be viewed as a deviation by the society and the parents, but the police authorities were duty bound to keep such couples out of harm’s way if there was no violation of the law.

The apex court’s comments are significant because they come in the wake of controversial ordinances passed by Uttar Pradesh and Madhya Pradesh that can be misused to obstruct inter-faith marriages.

 
Have something to say? Post your comment
More Niyalya se News
सुप्रीम कोर्ट ने पीएम मोदी की सुरक्षा चूक मामले में 5 सदस्यीय समिति नियुक्त की केंद्र और राज्य में घमासान, पंजाब के गृह सचिव पर भी सवाल; कोर्ट ने सोमवार तक जांच पर रोक लगाई मुंबई: मजिस्ट्रेट कोर्ट में जावेद अख्तर का आवेदन, कंगना के खिलाफ जारी हो गैर जमानती वारंट शक्ति मिल गैंगरेप मामले में HC ने आरोपियों की मौत की सजा रद्द की शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान को तीन हफ्ते की जेल के बाद मुंबई कोर्ट ने दी ज़मानत , साथ में दो और को भी दी राहत बैन पटाखों की खुलेआम बिक्री पर SC ने केन्द्र और राज्यों को लगाई फटकार ड्रग्स मामले में मुंबई कोर्ट ने आर्यन खान समेत आठ आरोपियों की न्यायिक हिरासत 30 अक्टूबर तक बढ़ाई ड्रग्स केस: आर्यन खान की जमानत याचिका खारिज, समीर वानखेड़े बोले- सत्यमेव जयते पंचकूला डेरा सच्चा सौदा के पूर्व प्रबंधक रंजीत सिंह हत्या मामले में सीबीआई कोर्ट ने सभी दोषियों को सुनाई सजा कोर्ट ने आशीष मिश्रा को तीन दिन के लिए पुलिस रिमांड पर भेजा