Monday, November 30, 2020
Follow us on
BREAKING NEWS
किसान दिल्ली में जहां कहीं भी विरोध प्रदर्शन करना चाहते हैं, उन्हें अनुमति मिलेः AAPदिल्लीः किसान आंदोलन को लेकर बैठक खत्म, अमित शाह भी जेपी नड्डा के घर से निकलेकिसान आंदोलन पर सरकार एक्टिव, नड्डा के घर चल रही बैठक, शाह-राजनाथ भी मौजूदकिसान यूनियन ने की प्रेस कॉन्फ्रेंस, कहा- बुराड़ी कभी नहीं जाएंगे, वो खुली जेल हैकिसान बात नहीं कर रहे इसका मतलब मकसद कुछ और है:विजदिल्लीः बुराड़ी जाने का प्रस्ताव नामंजूर, वो खुली जेलः किसान यूनियनदिल्लीः बुराड़ी ओपन जेल, वो आंदोलन की जगह नहींः किसान यूनियनदिल्लीः हमारे पास पर्याप्त राशन, 4 महीने तक रोड पर बैठ सकते हैंः किसान यूनियन
Haryana

इंटरनेट सेवा सस्पेंड का आदेश अब अधिकतम 15 दिनों तक ही प्रभावी रह सकेगा,केंद्रीय संचार मंत्रालय ने 2017 के नियमों में किया संशोधन

November 11, 2020 09:10 PM

विकेश शर्मा

चंडीगढ़ - अब से लोक आपात (पब्लिक इमरजेंसी ) या लोक सुरक्षा (पब्लिक सेफ्टी ) आदि के आधार पर सक्षम प्राधिकारी द्वारा अधिकतम 15 दिनों के लिए ही किसी क्षेत्र में दूरसंचार सेवाएं जिनमे मोबाइल इंटरनेट सेवा भी शामिल है को निलंबित ( सस्पेंड) किया जा सकेगा. अभी तक सम्बंधित नियमों में अधिकतम समय सीमा का कोई उल्लेख नहीं था.
पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट के एडवोकेट हेमंत कुमार ने बताया कि बीते कल 10 नवंबर को केंद्रीय संचार मंत्रालय के अधीन आने वाले दूरसंचार (टेलीकॉम ) विभाग द्वारा एक गजट नोटिफिकेशन जारी कर दूरसंसार अस्थायी सेवा निलंबन (लोक आपात या लोक सुरक्षा ) नियम, 2017 में संशोधन कर नया नियम 2 ए डालकर अधिकतम 15 दिनों की सीमा का उल्लेख किया गया है एवं यह संशोधन बीते कल से प्रभावी भी हो गया है.
हेमंत ने आगे बताया कि सवा तीन वर्ष पूर्व अगस्त, 2017 में केंद्र सरकार द्वारा भारतीय टेलीग्राफ कानून, 1885 की धारा 7 में उपरोक्त 2017 नियम बना कर नोटिफाई एवं लागू किये गए जिनमे केंद्र एवं राज्य के गृह सचिव (जो इस विषय में सक्षम प्राधिकारी हैं ) द्वारा जारी आदेशनुसार आपात परिस्थितियों में टेलीकॉम/इंटरनेट सेवा को लोक हित में सस्पेंड किया जा सकता है. हालांकि केंद्र सरकार के संयुक्त सचिव रैंक का अधिकारी, जिसे केंद्रीय गृह सचिव या प्रदेश के गृह सचिव द्वारा प्राधिकृत किया गया हो, वह ही अपरिहार्य परिस्थितियों में ऐसा आदेश दे सकता है हालांकि इसके 24 घंटो के भीतर उस आदेश को सक्षम प्राधिकारी से अनुमोदित करवाना आवश्यक है अन्यथा वह अप्रभावी हो जाएगा. ऐसे आदेश में टेलीकॉम/इंटरनेट सेवा को सस्पेंड करने का कारणों का भी उल्लेख होना चाहिए एवं इन आदेशों की एक प्रति रिव्यु कमेटी को भेजनी होगी. टेलीकॉम कंपनियों और सर्विस प्रोवाइडर्स के पदांकित अधिकारियों को ऐसे आदेश की प्रति पुलिस के एसपी रैंक या उसके समकक्ष अधिकारी द्वारा ही भेजी जाएंगी. प्रदेश में रिव्यु कमेटी के अध्यक्ष मुख्य सचिव और सदस्यों में विधि सचिव (एलआर ) और राज्य सरकार के कोई अन्य विभाग के (गृह के अलावा ) सचिव होंगे. यह रिव्यु कमेटी उक्त जारी आदेशों के पांच दिनों के भीतर बैठक कर यह सुनिश्चित करेगी कि क्या टेलीकॉम/इंटरनेट सेवाओं को सस्पेंड करना उक्त 1885 कानून की धारा 5 (2 ) के अनुरूप हैं अथवा नहीं.
हेमंत ने बताया कि 25 अगस्त, 2017 को जब डेरा सच्चा सौदा के बाबा गुरमीत राम रहीम को पंचकूला सीबीआई कोर्ट से सज़ा हुई तब 25 अगस्त से 29 अगस्त तक पांच दिनों के लिए हरियाणा, पंजाब और चंडीगढ़ में मोबाइल इंटरनेट सेवा सस्पेंड कर दी गयी थी, तब उन्होंने इस विषय पर दूरसंचार विभाग में एक आरटीआई दायर कर उक्त नियमो के बारे में जानकारी मांगी थी और यह पूछा था कि क्या जितने दिन मोबाइल इंटरनेट सेवा सस्पेंड रखी जायेगी, प्री-पेड मोबाइल फ़ोन ग्राहकों को उनकी सम्बंधित टेलीकॉम कंपनी द्वारा उतने अतिरिक्त दिन उनके डाटा प्लान में दिए जाने सम्बन्धी क्या टेलीकॉम कंपनियों को केंद्र सरकार द्वारा निर्देश दिया गया है परन्तु उनकी आरटीआई को दूरसंचार विभाग ने गोपनीय सूचना करार कर ख़ारिज कर दिया.

Have something to say? Post your comment
More Haryana News
किसान बात नहीं कर रहे इसका मतलब मकसद कुछ और है:विज
अम्बाला:बाल महोत्सव 2020 के परिणाम घोषित
किसानों पर दर्ज एफआईआर तुरंत ली जाएं वापस, गिरफ्तार किसान तुरंत हों रिहा- कुमारी सैलजा मुख्यमंत्री ने विश्वविद्यालय में ही अंतरराष्ट्रीय साइंटिस्ट हॉस्टल का भी उद्घाटन किया हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय (बाल) का अवलोकन किया
3 दिसंबर का इंतज़ार ना करे सरकार, जल्द करे बातचीत,नहीं तो आंदोलन ओर बड़ा हो सकता है - हुड्डा
कांग्रेस महासचिव रणदीप सिंह सुरजेवाला की प्रेस कॉन्फ्रेंस
हिसार में हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल पिछड़ा वर्ग सम्मान समारोह वर्चुअल रैली म बोले,पूरा हरियाणा मेरा परिवार है
अरोड़ा - खत्री समाज के आदि प्रवर्तक अरूट जी महाराज के नाम पर वाटिका का शिलान्यास 1 दिसंबर को
हरियाणा बीजेपी के प्रदेशाध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़ ने रेवाड़ी नगर परिषद चुनाव पूर्व शिक्षा मंत्री रामबिलास शर्मा को चुनाव प्रभारी नियुक्त किया