Thursday, October 29, 2020
Follow us on
BREAKING NEWS
निकिता मर्डर केस की जांच के लिए DCP की देखरेख में SIT का गठनप्रधानमंत्री मोदी ने फ्रांस में चर्च में हुए हमले की निंदा कीग्रेटर नोएडा वेस्ट: गौर सिटी-2 में अज्ञात युवक ने की फायरिंग, सोसाइटी में हड़कंपनिकिता के दोषियों को मिलेगी कड़ी से कड़ी सजा : ओमप्रकाश धनखड़गठबंधन का हमने एक साल पूरा किया:मनोहर लाल, हरियाणा के मुख्यमंत्रीकेरलः गोल्ड स्मगलिंग केस में ED की कार्रवाई, मुख्यमंत्री के पूर्व प्रधान सचिव शिवशंकरन गिरफ्तारदिल्लीः हिंदूराव हॉस्पिटल के डॉक्टर्स की हड़ताल खत्म, बकाया वेतन के भुगतान की थी मांगISRO सात नवंबर को लॉन्च करेगा EOS-01 सैटेलाइट, बादलों के बीच भी पृथ्वी पर रखी जा सकेगी नजर
Haryana

केन्द्र सरकार द्वारा लागू किए गए कृषि कानून खेती एवं किसानी के लिए लाभकारी साबित होंगे:जेपी दलाल

October 18, 2020 04:56 PM

हरियाणा के कृषि मंत्री श्री जय प्रकाश दलाल ने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा लागू किए गए कृषि कानून खेती एवं किसानी के लिए लाभकारी साबित होंगे। किसानों को इन कानूनों से घबराने की जरूरत नहीं है। यहीं कानून भविष्य में किसानों की दशा सुधारने में मिल का पत्थर साबित होंगे।

श्री दलाल ने यह बात आज जिला जींद में आयोजित दूसरे राज्य स्तरीय समृद्ध किसान-सशक्त भारत कार्यक्रम को सम्बोन्धित करते हुए कही।

उन्होंने कहा कि कृषि क्षेत्र में सकारात्मक बदलाव करने के लिए केन्द्र एवं राज्य सरकार द्वारा ठोस कदम उठाए जा रहे हैं। जिनके परिणामस्वरूप प्रदेश की कृषि व्यवस्था तेजी से बदल रही है, जिससे किसानों को लाभ मिलेगा। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा 500 किसान उत्पादक संगठन (एफपीओ) बनाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया था जो लगभग पूरा कर लिया गया है।

श्री दलाल ने कहा कि एफपीओ एक ऐसी व्यवस्था है जो किसानों से फल, सब्जी, फूल, मछली व बागवानी से सम्बन्धित फसलों को खरीदकर सीधे कम्पनियों को बेचते हैं, जिससे किसानों को अधिक आय प्राप्त होती है। इन एफपीओ से अब तक प्रदेश के लगभग 80,000 किसान जुडकऱ लाभ प्राप्त कर रहे हैं। राज्य सरकार द्वारा एफपीओ का ग्रेडेशन करने का कार्य भी शुरू कर दिया गया है। अब शानदार कार्य करने वाले एफपीओ को स्टार रेटिंग भी दी जाएगी। प्रदेश के 90 एफपीओ ऐसे हैं जिन्होंने अपने कार्यालय भी स्थापित कर लिए हैं।

उन्होंने कहा कि कृषि कानूनों के बनने से किसान अपने खेत-खलियान से फसल की बिक्री कर सकेगा। दूसरा फायदा यह मिलेगा अपनी फसल के दाम खुद निर्धारित करेगा और अपनी मर्जी से किसी भी मण्डी में अपनी फसल भी बेच सकेगा और किसानों को फसल बेचने पर मार्किट फीस भी नहीं देनी होगी।

 
Have something to say? Post your comment