Sunday, October 25, 2020
Follow us on
BREAKING NEWS
दिल्ली पुलिस को मिली बड़ी सफलता, फेक करेंसी रैकेट का किया पर्दाफाशमन की बात में बोले पीएम मोदी, त्योहार के दौरान कोरोना को लेकर रहें सतर्कRSS प्रमुख पर राहुल का पलटवार, बोले- मोहन भागवत सच का सामना करने से घबराते हैंमधुबनी चुनावी रैली में बोले नीतीश, न्याय के साथ विकास के रास्ते पर चलते हैं हमकोरोना पर मोहन भागवत ने की सरकार की तारीफ, कहा- भारत में कम नुकसान हुआकोरोना काल के बीच देश आज मना रहा है दशहरा, पीएम मोदी और राहुल ने दी बधाईसमस्त देशवासियों को विजयादशमी के पावन पर्व की हार्दिक शुभकामनाएं: RSSआईपीएल 2020: में किंग्स इलेवन पंजाब ने सनराइजर्स हैदराबाद को 12 रन से हराया
National

पैसे देकर TRP खरीदता है रिपब्लिक टीवी, मुंबई पुलिस का बड़ा खुलासा

October 08, 2020 04:35 PM

पुलिस कमिश्नर ने कहा कि पुलिस के खिलाफ प्रोपेगैंडा चलाया जा रहा था. फॉल्स टीआरपी का रैकेट चल रहा था. पैसा देकर फॉल्स टीआरपी कराया जाता था. पुलिस के खिलाफ कई तरह का एजेंडा चलाया जा रहा था. मुंबई पुलिस ने टीआरपी रैकेट के भंडाफोड़ का दावा करते हुए 2 की गिरफ्तारी की है.

मुंबई पुलिस ने बताया कि हमें ऐसी सूचना मिली कि पुलिस के खिलाफ फेक प्रोपेगैंडा चलाया जा रहा है. फॉल्स टीआरपी (टेलीविजन रेटिंग प्वाइंट्स) को लेकर क्राइम ब्रांच ने एक नए रैकेट का फंडाफोड़ किया है.

कमिश्नर ने बताया कि 30 से 40 हजार करोड़ रुपये के विज्ञापन टीवी इंडस्ट्री में आते हैं, और टीआरपी के आधार पर ही विज्ञापन के रेट तय किए जाते हैं. इसकी मॉनिटरिंग करने के लिए एक संस्था है BARC. BARC ने इन बैरोमीटर की निगरानी के लिए एक करार किया है.

पुलिस ने बताया कि हंसा नाम की कंपनी के कुछ पूर्व कर्मचारी कुछ चैनलों के साथ इस डेटा से छेड़छाड़ कर रहे थे. वे डेटा में हेरफेर करने में संलिप्त थे. वे कुछ घरों में कुछ चैनलों को रखने के लिए कहते थे भले ही वे घर पर न हों. पुलिस के अनुसार, कुछ मामलों में यह भी पाया गया कि अशिक्षित घरों को अंग्रेजी चैनल देखने के लिए कहा गया था.

 
Have something to say? Post your comment
More National News