Thursday, October 29, 2020
Follow us on
BREAKING NEWS
निकिता मर्डर केस की जांच के लिए DCP की देखरेख में SIT का गठनप्रधानमंत्री मोदी ने फ्रांस में चर्च में हुए हमले की निंदा कीग्रेटर नोएडा वेस्ट: गौर सिटी-2 में अज्ञात युवक ने की फायरिंग, सोसाइटी में हड़कंपनिकिता के दोषियों को मिलेगी कड़ी से कड़ी सजा : ओमप्रकाश धनखड़गठबंधन का हमने एक साल पूरा किया:मनोहर लाल, हरियाणा के मुख्यमंत्रीकेरलः गोल्ड स्मगलिंग केस में ED की कार्रवाई, मुख्यमंत्री के पूर्व प्रधान सचिव शिवशंकरन गिरफ्तारदिल्लीः हिंदूराव हॉस्पिटल के डॉक्टर्स की हड़ताल खत्म, बकाया वेतन के भुगतान की थी मांगISRO सात नवंबर को लॉन्च करेगा EOS-01 सैटेलाइट, बादलों के बीच भी पृथ्वी पर रखी जा सकेगी नजर
Haryana

हरियाणा में धान की खरीद शुरू करने का गठबंधन सरकार का दावा हुआ फेल - किरण चौधरी

September 30, 2020 04:42 PM

कांग्रेस विधायक एवं पूर्व सीएलपी श्रीमती किरण चौधरी ने धान की खरीद को लेकर प्रदेश की गठबंधन सरकार पर सवाल उठाए, किरण चौधरी ने कहा की मुख्यमंत्री जी धान की 100 प्रतिसत फसल खरीदने का दावा कर रहे थे इसके उलट करनाल ,कुरुक्षेत्र ,कैथल औऱ अंबाला की मंडियों में किसानों का धान नही बिक रहा , सरकार ने कहा था की धान का दाना-दाना खरीदेंगे लेकिन अब धान खरीद पर भी कैप लगा दी है किसान की प्रति एकड़ 33 क्विंटल धान की खरीद की जा रही है ओर किसान अपनी फसल को बेचने के लिए धरना -प्रदर्शन कर रहे हैं।

किरण चौधरी ने कहा कि मुख्यमंत्री जी धान की पूरी उपज खरीदने के दावे कर रहे हैं पर किसानों के पास मैसज भेजकर किसी से 6 क्विंटल किसी से 8 क्विंटल धान मंडी में लाने के लिए कहा जा रहा है अगर इसी तरह खरीद की गई तो फिर किसान अपनी खून- पसीने से तैयार की गई फसल कहाँ बेचेगा, किरण चौधरी ने कहा कि प्रदेश की गठबंधन सरकार किसानों के लिए मुसीबत बन चुकी है। उन्होंने कहा कि समझा जा सकता है कि अभी यही हालात हैं तो किसानों के खिलाफ जो 3 काले कानून पास किए गए हैं उनके अमल में आने के बाद क्या हालात होंगे, उन्होंने कहा कि गठबंधन की सरकार पूरी तरह से विफल साबित हो चुकी है और सरकार को समझ मे ही नही आ रहा कि क्या करना है, उन्होंने सरकार से किसानों की धान की पूरी फसल खरीदने की मांग करी ताकि किसानों को अपनी फसल बेचने के लिए भटकना न पड़े।

किरण चौधरी ने कहा कि 2 अक्टूबर को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी और पूर्व प्रधानमंत्री स्व: श्री लाल बहादुर शास्त्री जी की जयन्ती के अवसर पर "किसान- मजदूर बचाओ दिवस" मनाया जाएगा व प्रदेश के प्रत्येक विधानसभा व जिला स्तर पर विरोध प्रदर्शन करके किसान विरोधी कानूनों को तत्काल वापिस लेने की मांग की जाएगी।

 
Have something to say? Post your comment