Thursday, October 29, 2020
Follow us on
BREAKING NEWS
निकिता मर्डर केस की जांच के लिए DCP की देखरेख में SIT का गठनप्रधानमंत्री मोदी ने फ्रांस में चर्च में हुए हमले की निंदा कीग्रेटर नोएडा वेस्ट: गौर सिटी-2 में अज्ञात युवक ने की फायरिंग, सोसाइटी में हड़कंपनिकिता के दोषियों को मिलेगी कड़ी से कड़ी सजा : ओमप्रकाश धनखड़गठबंधन का हमने एक साल पूरा किया:मनोहर लाल, हरियाणा के मुख्यमंत्रीकेरलः गोल्ड स्मगलिंग केस में ED की कार्रवाई, मुख्यमंत्री के पूर्व प्रधान सचिव शिवशंकरन गिरफ्तारदिल्लीः हिंदूराव हॉस्पिटल के डॉक्टर्स की हड़ताल खत्म, बकाया वेतन के भुगतान की थी मांगISRO सात नवंबर को लॉन्च करेगा EOS-01 सैटेलाइट, बादलों के बीच भी पृथ्वी पर रखी जा सकेगी नजर
Haryana

हरियाणा उच्च शिक्षा विभाग द्वारा एनएसएस के विद्याथर््िायों को अतिरिक्त गतिविधियों के अंक लाभ वाली श्रेणी से हटाया जाना दुर्भाग्यपूर्ण: आईएसओ

September 26, 2020 03:53 PM

आईएनएलडी स्टूडेंट ऑर्गेनाइजेशन (आईएसओ) के मीडिया प्रभारी विकास ने बताया कि हरियाणा सरकार जहां कोरोना महामारी के इस बुरे दौर में ऑनलाइन ऐडमिशन की वेबसाइट जारी करके वाहवाही लूट रही है वहीं दूसरी ओर विद्यार्थियों को प्रोत्साहित करने की बजाय हतोत्साहित करने का काम कर रही है। विद्यार्थियों के दाखिला प्रक्रिया में विद्यार्थियों द्वारा प्राप्त अंक के अलावा अतिरिक्त गतिविधियों के अंक भी जोड़े जाते हैं जिससे विद्यार्थियों को दाखिले की मेरिट में लाभ मिलता है। इस बार दाखिलों के लिए अतिरिक्त अंकों के कॉलम से एनएसएस को हटा दिया गया है। जो भी बच्चे शिक्षा के साथ-साथ एनएसएस के विशेष कैंपों में भाग लेते हैं वो जागरूकता रैली एवं सरकार द्वारा चलाई गई विभिन्न योजनाओं का प्रचार प्रसार करके समाज को जागरूक करने का कार्य करते हैं, उन्हीं को सरकार के द्वारा अनदेखा किया जा रहा है।
हायर एजुकेशन विभाग द्वारा जारी की गई वेबसाइट में जब बच्चे अपने दाखिले के लिए आवेदन करते हैं तो उन्हें एनसीसी बी सर्टिफिकेट और भारत स्काउट एंड गाइड के राष्ट्रपति अवार्ड के अंक तो मिलते हैं परंतु एनएसएस के वॉलंटियर के रूप में कार्य करने वाले विद्यार्थियों को इन अतिरिक्त अंकों का लाभ नहीं प्राप्त होता। एनएसएस के बच्चों को राष्ट्र स्तर पर खेल एवं युवा कल्याण मंत्रालय के द्वारा स मानित भी किया जाता है। एनएसएस किए हुए छात्रों को अपने ही राज्य मेें अनदेखा किए जाने से छात्रों में भारी रोष है
आईएसओ के राष्ट्रीय महासचिव रमन ढाका ने कहा कि हरियाणा एनएसएस विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर 565 शिक्षण संस्थानों में 577 यूनिट संचालित होने का ब्यौरा दिखाया गया है। प्रत्येक यूनिट में 100 वॉलंटियर होते हैं। परंतु उच्च शिक्षा विभाग की अनदेखी के कारण सभी विद्यार्थी अपने भविष्य को लेकर चिंतित हैं। भारत सरकार के युवा एवं खेल मंत्रालय द्वारा संचालित राज्य की सभी यूनिटों में बच्चे बढ़-चढक़र हिस्सा लेते हैं। एनएसएस में सबसे अधिक विद्यार्थी ग्रामीण परिवेश से आते हैं लेकिन उच्च शिक्षा विभाग द्वारा उन्हें अनदेखा करने के कारण छात्र व्यथित हैं।v

 
Have something to say? Post your comment