Friday, September 18, 2020
Follow us on
BREAKING NEWS
गृहमंत्री से प्राप्त 90 प्रतिशत से अधिक जन शिकायतों का निपटानहरियाणा सरकार ने ‘मेरी फसल मेरा ब्यौरा’ पोर्टल पर पंजीकरण करवाने के लिए 20 सितंबर 2020 तक समय बढ़ा दिया जननायक जनता पार्टी ने 24 जिलाध्यक्ष किये नियुक्तकिसानों के नाम पर अब राजनीति नहीं : जे.पी. दलालजजपा वालों ने चौ0 देवी लाल के नाम पर दुकानदारी बना रखी है: नफे सिंह राठीपश्चिम बंगाल में 2 अक्टूबर से खुलेंगे चिड़ियाघर, ऑनलाइन होगी बुकिंगदिल्लीः कांग्रेस किसान बिल और अध्यादेश के खिलाफ देशभर में विरोध-प्रदर्शन शुरू करेगीसुप्रीम कोर्ट ने पटना में 200 साल से अधिक पुराने कलक्ट्रेट भवन को गिराने के आदेश पर लगाई रोक
Haryana

हरियाणा विधानसभा के अध्यक्ष ज्ञान चन्द गुप्ता ने 74वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर किया ध्वजारोहण

August 15, 2020 02:10 PM

 देश के लिये शहीद होने वाले जाबांजो और स्वतंत्रता सेनानियों की बदौलत आज हम आजादी की खुली हवा में सांस ले रहे हैं। आजादी के परवानो द्वारा बताये गये सेवा और संघर्ष के रास्ते पर चलते हुए समाज और राष्टï्र की रक्षा के लिये हमें अपने संकल्प को और मजबूत करने की जरूरत है। यह अभिव्यक्ति हरियाणा विधानसभा के अध्यक्ष ज्ञान चन्द गुप्ता ने अनाज मंडी अम्बाला शहर में आयोजित 74वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर जिला वासियों को सम्बोधित करते हुए व्यक्त की। उन्होंने कहा कि देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में वर्तमान सरकार ने बहुत बड़े एतिहासिक फैसले लिये हैं, जिनमें धारा 370, 35ए के साथ-साथ तीन तलाक का विषय भी शामिल है। अध्यक्ष ने ध्वजारोण करने उपरांत परेड की सलामी ली। उन्होंने आपसी सौहार्द और राष्टï्रभक्ति के प्रतीक तीन रंगो के गुब्बारे उड़ाकर भाईचारे का संदेश दिया।
अपने सम्बोधन में विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि आज हम देश के 74वें स्वतंत्रता दिवस के गौरवमयी एवं सुखद क्षणों का एहसास करने के लिए एकत्र हुए हैं। एक लंबे संघर्ष के बाद भारत को 1947 में आज ही के दिन आजादी प्राप्त हुई थी। स्वतंत्रता दिवस हमारे देश की एकता, सम्मान और समर्पण का प्रतीक है। मातृभूमि पर बलिदान होने वाले सभी स्वतंत्रता सेनानियों के प्रति आज राष्ट्र अपनी कृतज्ञता प्रकट कर रहा है। भारत माता के वीर सपूतों ने अपने बलिदान से आज ही के दिन सन् 1947 में आजादी की यह गौरव गाथा लिखी थी, जिसकी माटी की सौंधी महक युगों-युगों तक हिन्दुस्तान की वीर प्रस्विनी माटी से आती रहेगी। 
उन्होंने आगे कहा कि देश को आजाद करवाने में अनेक शूरवीरो ने अपना बलिदान दिया। उस समय हमारी आंखों के सामने एक ऐसे समृद्घ भारत की कल्पना तैर रही थी, जहां प्रत्येक नागरिक सामाजिक, आर्थिक एवं शैक्षणिक तौर पर भी सबल हो। इसे पूरा करने के लिए महात्मा गांधी, नेताजी सुभाषचंद्र बोस, रामप्रसाद बिस्मिल, अश्फ ाक उल्ला खां, शहीद भगत सिंह, चंद्रशेखर आजाद सहित देश पर स्वयं को आहूत करने वाले हजारों बलिदानियों को हमारा जनमानस कभी भुला नहीं सकता। देश की प्रगति में स्वामी विवेकानन्द, श्यामा प्रसाद मुखर्जी, पंडित दीनदयाल उपाध्याय, लौहपुरूष सरदार वल्लभभाई पटेल तथा पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी सहित अनेक देशभक्त कर्मयोगियों ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। देश को स्वतंत्रत करवाने में इनके योगदान को कभी भुलाया नहीं जा सकता। इन महापुरुषों के पदचिन्हों पर चलते हुए सर्वप्रिय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के ओजस्वी नेतृत्व से आज देश में क्रांतिकारी बदलाव दिखाई दे रहे हैं। उनकी वैश्विक एवं प्रगतिशील सोच से अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर भारत को एक शक्तिशाली राष्ट्र के रूप में पहचान मिली है। प्रधानमंत्री के मार्गदर्शन में हमारी सरकार ने देश व प्रदेश की जनता के समावेशी विकास के लिए में ईज ऑफ लीविंग पर बल दिया है। इसके लिए सस्ते रिहायशी मकानों हेतु प्रधानमंत्री आवास योजना, उत्कृष्ट खाद्य पदार्थों की उपलब्धता हेतु सॉयल हेल्थ कार्ड, रोजगार एवं आर्थिक स्वतंत्रता के लिए कौशल विकास एवं मुद्रा लोन तथा आधुनिक भारत के नवनिर्माण हेतु स्टार्ट-अप एवं डिजिटल इंडिया, एक राष्ट्र एक राशन कार्ड सहित अनेक अभूतपूर्व योजनाओं की शुरूआत की गई है। इसके अलावा तीन तलाक, नागरिक संशोधन बिल, राम मंदिर जैसे मुददों का हल किया।
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दुनिया के सभी प्लेटफ ॉर्मस पर देश के उत्थान, भारत माता की शान तथा हिन्दुस्तान का सम्मान बढ़ाने का कार्य किया है। देश के आंतरिक एवं बाह्य सुरक्षाचक्र को मजबूत बनाने के लिए राज्यों से लगती विदेशी सरहदों को सुरक्षित किया है। प्रधानमंत्री ने जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाकर भारत की आंतरिक सुरक्षा-व्यवस्था को मजबूत किया। इससे देश के लोगों के लिए जहां नए अवसर सृजित होंगे, वहीं कश्मीर से कन्याकुमारी तक ‘एक भारत, श्रेष्ठ भारत’ से नवभारत के निर्माण को बल मिलेगा। साथ ही, देश एकता एवं अखंडता के लिए अपने प्राण न्यौछावर करने वाले डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी के ‘एक राष्ट्र, एक निशान, एक विधान’ का स्वप्न भी साकार हुआ है।
विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नेतृत्व में हमारी सरकार हरियाणा में ‘समान अवसर, समान विकास’ के सिद्घांत पर कार्य कर रही है। राज्य के लोगों के लिए हमारी सरकार ने खेल, शिक्षा, स्वास्थ्य, सुरक्षा, बिजली, स्वावलम्बन तथा आधारभूत संरचना व अन्य क्षेत्रों के उन्नयन के लिए अनेक कदम उठाए हैं। आज दुनिया में कोरोना एक भयंकर बिमारी के रूप में सामने आई है जिसका अभी तक कोई क्लीनिकल उपचार सम्भव नही हो पा रहा। इसके लिए प्रदेश की जनता को निरोग व सुरक्षित रखने हेतू अनेक कदम उठाए है। चिकित्सों को पीपीई किट, एन-95 मास्क तथा अन्य सुविधाओं के साथ-साथ अस्पतालो में मरीजों के क्वारंटाईन सुविधा दी जा रही है। इसके साथ ही आयुष तथा होमपैथिक दवाईयों की आपूर्ति भी करवाई गई है। प्रदेश सरकार ने ग्रामीण क्षेत्रों में खेल के बुनियादी ढांचे को बढ़ावा देने और गाँवों में पहले चरण में 1000 पार्क एवं व्यायामशालाएं की स्थापना की जा रही है जिसके तहत गुरु पूर्णिमा पर 98 पार्क एवं व्यायामशालाओं को प्रदेशवासियों को समर्पित किया है। इसके साथ ही आने वाले तीन-चार महीनों में 300 अन्य पार्क एवं व्यायामशालाओं का निर्माण कार्य पूरा कर लिया जायेगा । हरियाणा सरकार ने वर्ष 2020 को सुशासन संकल्प वर्ष के रूप में मनाने का निर्णय लिया है। इसी कड़ी में विभिन्न योजनाओं का लाभ नागरिकों तक पहुंचाने के लिए परिवार पहचान पत्र योजना की शुरुआत की गई है। 
सम्बोधन की निरंतरता में उन्होंने कहा कि सरकार ने अपने दूसरे कार्यकाल के मात्र 9 मास के दौरान अनेक योजनाएं शुरू की हैै। इसके तहत आउटसोर्सिंग महिला कर्मचारियों को नियमित कर्मियों के समान मातृृत्व अवकाश देने की सुविधा प्रदान की है। इसके साथ ही सरकारी कर्मचारी के 52 साल की उम्र से पहले निधन होने पर आश्रित को अनुकम्पा आधार पर नौकरी देने की व्यवस्था भी की गई है। लोगों को ‘सरल पोर्टल’ के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्र में 6 हजार अटल सेवा केंद्र तथा शहरों में 115 सरल व अंत्योदय केंद्र शुरू किए है तथा 39 विभागों की 542 सेवाओं ऑनलाइन उपलब्ध करवाया हैं। ग्रामीण स्वच्छ भारत मिशन के तहत जहां राज्य को खुले में शौच-मुक्त किया गया वहीं अब महाग्राम योजना के तहत बड़े गांवों की गलियों को कूड़ा-कर्कट व गंदगी-मुक्त करने की तैयारी है। हमारी सरकार ने पढ़े-लिखे युवाओ को पंचायती राज संस्थानों में प्रतिनिधित्व दिया गया है। इसके अलावा अब आगामी पंचायती राज चुनावों में महिलाओं के लिए 50 प्रतिशत सीटें आरक्षित करने पर विचार है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ योजना के तहत वर्तमान में लिंगानुपात 923 तक पहुंच गया है। सरकार ने बच्चो के लिए ‘मुख्यमंत्री दूध उपहार’ योजना और महिलाओ के लिए ‘महिला एवं किशोरी सम्मान योजना’ शुरू की है। प्रदेश सरकार ने वर्ष 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी वचनबद्ध है। इसके तहत फ सल अवशेष प्रबधंन के लिए मशीनरी पर 80 प्रतिशत तक की सब्सिडी देने की योजना भी शुरू की गई है। प्रदेश में गन्ने का भाव बढ़ाकर 340 रुपये प्रति क्विंटल किया गया है जोकि देश में सर्वाधिक है। प्रदेश में ‘‘मेरा पानी-मेरी विरासत‘‘ योजना के तहत धान के स्थान पर मक्का, कपास, बाजरा, दलहन, सब्जियां व बागवानी फ सलों को बोने पर किसान को 7000 रुपये प्रति एकड़ प्रोत्साहन राशि प्रदान करने का प्रावधान किया है।
जिला वासियों को सम्बोधित करते हुए उन्होंने कहा कि कोरोना काल में केंद्रीय सरकार द्वारा 20 लाख करोड़ रुपये के आत्मनिर्भर भारत के आर्थिक पैकेज में भी कृषि क्षेत्र के लिए एक बड़ी राशि निर्धारित की गई है। देश में कृषि इन्फ ्रास्ट्रक्चर विकसित करने के लिए घोषित एक लाख करोड़ रुपये के आर्थिक पैकेज आबंटित किया गया  हैं। सरकार ने प्रदेश के किसानों व मजदूरों को 10 रूपये प्रति थाली की दर से भोजन उपलब्ध करवाने के लिए, 29 दिसम्बर, 2019 को‘‘अटल किसान मजदूर कैंटीन‘ का शुभारम्भ किया था। इस योजना के तहत पंचकूला, भिवानी, फ तेहाबाद, नूंह, सिरसा, टोहाना, घरौंडा, रेवाड़ी, कुरूक्षेत्र व रोहतक जिलों में कैंटीन शुरू की गई। इनके अलावा ऐसी 14 कैंटीनें जल्द ही शुरू की जाएंगी। सरकार ने प्रदेश के सभी नगर निगम, नगर परिषद एवं नगरपालिकाओं के विकास कार्यों के प्रबन्धन हेतू आनलाईन वेबपोर्टल ‘वर्क मैनेजमेन्ट सिस्टम’ शुरू किया। देश में इस प्रकार की प्रणाली शुरू करने वाला हरियाणा पहला राज्य है। प्रदेश में सिंचाई के उद्देश्यों के लिए विभिन्न जिलों के गांवों में 18 मॉडल तालाब विकसित किए जाएंगे।‘‘जल-जीवन मिशन‘‘ के तहत 2022 तक शत-प्रतिशत घरों में नल से जल पहुंचाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया। इसके तहत अब तक 4.50 लाख से अधिक घरों में नल से जल पंहुचाया गया है।
सरकार 1366 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत से 52 आरओबी/आरयूबी बना रही है। राज्य सरकार ने प्रदेश में 17 टोल बैरियरों को भी हटा दिया है। प्रधानमंत्री ग्राम सडक़ योजना के तहत 2500 किलोमीटर लंबी सडक़ों के सुदृढ़ीकरण के कार्य आवंटित किए गए हैं, जिसमें से वर्ष 2020-21 में 1000 किलोमीटर लंबी सडकों के सुधार के लिए योजना तैयार की गई है। राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना के तहत से 309 रुपये प्रतिदिन की उच्चतम मजदूरी दर देने वाला देश का पहला राज्य है।हमारी सरकार ने प्रदेश के सम्मानित बुजुर्गों का वृद्धावस्था सम्मान भत्ता 2000 रुपए से बढाकर 2250 रुपए कर दिया है। इसके साथ विधवा एवं बेसहारा, दिव्यांग पैंशन, बौना भत्ता तथा किन्नर भत्ता भी बढाकर 2250 रुपए किया गया है। प्रदेश सरकार ने अब तक शहीद सैनिकों के 317 आश्रितों को अनुकम्पा के आधार पर नौकरी प्रदान की है। सरकार ने प्रदेश के गांव मोरखी में लगभग 14 करोड़ रुपये की लागत से राज्य का पहला  1.2 मैगावाट क्षमता का बायोगैस आधारित पॉवर प्लांट चालू किया गया, जिसमें 85 लाख यूनिट प्रत्येक वर्ष बिजली उत्पादन होगा। सरकार ने अपने लगभग 5 वर्ष के शासन के दौरान ‘हरियाणा एक, हरियाणवी एक’ की अवधारणा को पूरा करने के लिए प्रदेश की जनता को एक सूत्र में बांधने का सफ ल प्रयास किया है। यहां पर यह भी उल्लेखनीय है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन और सरकार द्वारा कोविड 19 के दृष्टिïगत जारी निर्देशों की अनुपालना में स्वतंत्रता दिवस समारोह मनाया गया।  
बॉक्स:- हरियाणा सरकार ने रक्षाबंधन के पावन अवसर पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ अभियान को आगे बढ़ाते हुए 11 नए महाविद्यालय खोलने की घोषणा की। प्रदेश में लगभग 6 वर्षों में 63 नए कॉलेज खोले गए। इसके अलावा तीन नए मेडिकल कॉलेज सिरसा, कैथल और यमुनानगर जिलों में खोले जाएंगें। शिक्षा में गुणात्मक सुधार के उद्देश्य से प्रदेश में 82 राजकीय स्कूलों को आदर्श संस्कृति स्कूल के रूप में विकसित किया जाएगा। सरकार की 1000 प्ले स्कूल खोलने की योजना है। 
बॉक्स:- अपने उद्बोधन में विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि सरकार द्वारा नशा एवं अपराधमुक्त हरियाणा बनाने हेतु ऑपरेशन प्रहार शुरू किया है। नशे के कारोबार पर अंकुश लगाने हेतु ‘हरियाणा नार्कोटिक्स ब्यूरो’ का गठन किया है। इसके लिए लोगों की सुविधा हेतू डॉयल 112 सेवा शुरू की। इसके लिए कोई भी व्यक्ति 112 नम्बर पर पुलिस सहायता मांग सकेगा। इस पर मेडिकल सुविधाओं से लैस पुलिस मात्र 15 से 20 मिनट में शिकायतकर्ता के पास पहुंचेगी। 
बॉक्स:- हरियाणा का खेलों में योगदान और खेल क्षमता व दक्षता की सराहना करते हुए उन्होंने कहा कि  केंद्रीय खेल एवं युवा मामले मंत्रालय ने ‘खेलो इंडिया यूथ गेम्स -2021’ के चौथे संस्करण का आयोजन पंचकूला में कराने की घोषणा की। इससे पहले ‘खेलो इंडिया यूथ गेम्स -2018’ में हरियाणा ने पहला स्थान हासिल किया था और गुवाहाटी में आयोजित पिछले आयोजन में भी राज्य ने 200 पदक जीतकर दूसरा स्थान हासिल किया था। विश्व की 10 सबसे ऊँची चोटियों पर पहुंचने वाले हरियाणा के पर्वतारोहियों को पांच लाख रुपये नकद सहित ‘ग्रेड-सी स्पोर्टस ग्रेडेशन सर्टिफि केट’ देने का निर्णय लिया है।
बॉक्स:- केंद्रीय सडक़ एवं परिवहन मंत्रालय ने हरियाणा में 20 हजार करोड़ रुपये से अधिक की 669 किलोमीटर लम्बाई की 11 सडक परियोजनाओं की सौगात दी। भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण अगले दो वर्षों में हरियाणा में नई सडकों के निर्माण पर दो लाख करोड़ रुपये खर्च करेगा। इनके बनने से प्रदेश का हर जिला राष्ट्रीय राजमार्ग से सीधा जुड़ जाएगा।
बॉक्स:- विधानसभा अध्यक्ष ज्ञान चन्द गुप्ता ने सबसे पहले पुलिस लाईन स्थित शहीद स्मारक पर जाकर पुष्पचक्र अर्पित किया और शहीदों को नमन किया। इस अवसर पर उनके साथ डी.सी. अशोक कुमार शर्मा, एस.पी. अभिषेक जोरवाल, विधायक असीम गोयल, जिला बीजेपी अध्यक्ष जगमोहन  लाल कुमार, प्रदेश प्रवक्ता संजय शर्मा सहित अन्य लोग भी उपस्थित थे।

Have something to say? Post your comment
More Haryana News
हरियाणा:गृहमंत्री से प्राप्त 90 प्रतिशत से अधिक जन शिकायतों का निपटान हरियाणा सरकार ने ‘मेरी फसल मेरा ब्यौरा’ पोर्टल पर पंजीकरण करवाने के लिए 20 सितंबर 2020 तक समय बढ़ा दिया जननायक जनता पार्टी ने 24 जिलाध्यक्ष किये नियुक्त किसानों के नाम पर अब राजनीति नहीं : जे.पी. दलाल जजपा वालों ने चौ0 देवी लाल के नाम पर दुकानदारी बना रखी है: नफे सिंह राठी भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने की विधानसभा का विशेष सत्र बुलाने की मांग कांग्रेस विधायकों के साथ पहुंचे राजभवन, सौंपा ज्ञापन पंचकूला में किसानों ने किया 3 विधायकों का समर्थन,सेक्टर 1 स्थित लघु सचिवालय में ट्रैक्टरों सहित पहुंचे किसान Road accidents down 35% this yr
जेजेपी ने किसान के ईलाज के लिए की 51 हजार रूपए की सहायता
किसानों पर नहीं, देवीलाल परिवार पर चली है लाठी - दिग्विजय चौटाला