Saturday, October 01, 2022
Follow us on
BREAKING NEWS
गृह मंत्री अनिल विज ने दिए नकली आईजी (आईबी एमएचए) विनय अग्रवाल व अन्य के खिलाफ कार्यवाही करने के निर्देशFEMA अथॉरिटी ने चाइनीज मोबाइल कंपनी Xiaomi के 5551.27 करोड़ रुपये जब्ती के आदेश दिएहम भारत को भी मां के रूप में देखते हैं, खुद को मां भारती की संतान मानते हैं: पीएम मोदीकांग्रेस अध्यक्ष चुनाव के प्रत्याशी थरूर और खड़गे ने एक-दूसरे को शुभकामनाएं दीं2 अक्‍टूबर को दिल्‍ली मेट्रो ब्‍लू लाइन पर बदलनी पड़ेंगी ट्रेनें, नहीं मिलेगी डायरेक्ट ट्रेनपाकिस्तान ने 16 भारतीय मछुआरों को गिरफ्तार कियाभूपेंद्र सिंह बूरा एक बार फिर बने चंडीगढ़ फुटबॉल एसोसिएशन के उपप्रधानचंडीगढ़ हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री स्व. राव बीरेन्द्र सिंह जी को उनकी पुण्यतिथि पर भावपूर्ण श्रद्धांजलि। देश और समाज को समर्पित उनके आदर्शवादी विचार हमें सदैव जनसेवा के लिए प्रेरित करते रहेंगे।
Haryana

हरियाणा के वर्तमान राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय या सत्यदेव नारायण आर्य ?

July 13, 2021 10:48 PM
रमेश शर्मा

चंडीगढ़ -हरियाणा के राजनीतिक गलियारों में आज यह सर्वत्र चर्चा का विषय है कि वर्तमान में हरियाणा का राज्यपाल कौन है ? क्योंकि बंडारू दत्तात्रेय तो हरियाणा के राज्यपाल की शपथ  लेने के बाद ही विधिवत रूप से हरियाणा के  राज्यपाल बनेगे.वहीं हिमाचल प्रदेश  के नए राज्यपाल राजेंद्र विश्वनाथ अर्लेकर ने आज 13 जुलाई को अपने पद की शपथ ले ली है. इससे पूर्व हिमाचल  के निवर्तमान राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय 12 जुलाई को ही हिमाचल से हरियाणा राज भवन, चंडीगढ़ में आ गए थे। सूत्रों के अनुसार दत्तात्रेय हरियाणा के राज्यपाल के तौर पर 15 जुलाई को शपथ लेने की संभावना है। पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट के एडवोकेट हेमंत कुमार ने बताया कि चूंकि राज्यपाल प्रदेश के संवैधानिक प्रमुख अर्थात हेड ऑफ़ स्टेट होते है, इसलिए उनके पद को रिक्त नहीं रखा जाना चाहिए. भारत के संविधान के अनुसार राज्यपाल का कार्यकाल राष्ट्रपति द्वारा जारी उनके नियुक्ति अधिपत्र (वारंट ऑफ़ अपॉइंटमेंट ) से नहीं अपितु तब से आरंभ माना जाता है जब सम्बंधित प्रदेश की हाई कोर्ट के  चीफ जस्टिस द्वारा राज्यपाल को  संविधान के अनुच्छेद 159 में दी गयी शपथ दिलवाई जाए. अगर  किसी कारणवश हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस उपलब्ध न हों, तो हाई कोर्ट के वरिष्ठम जज द्वारा भी नए राज्यपाल को शपथ दिलवाई जा सकती है. जबकि गत रविवार 11 जुलाई शाम  हरियाणा के निवर्तमान राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य हरियाणा राज भवन से विदा लेकर त्रिपुरा के लिए रवाना हो गए। हालांकि आज 13 जुलाई तक उन्होंने  त्रिपुरा के राज्यपाल के तौर पर शपथ नहीं ली है. आर्य को त्रिपुरा के  प्रदेश के निवर्तमान  राज्यपाल रमेश बैस के स्थान पर नियुक्त किया गया है क्योंकि  बैस को झारखण्ड का राज्यपाल नियुक्त किया गया है. बैस आज  13 जुलाई त्रिपुरा राज भवन छोड़कर  झारखण्ड चले गए है एवं 14 जुलाई को वह झारखण्ड के राज्यपाल की शपथ लेंगे. याद रहे कि एक सप्ताह पूर्व 6 जुलाई को  भारत के राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद द्वारा  देश के 4 राज्यों में नए राज्यपाल नियुक्त किये गए जबकि 4 प्रदेशों  के वर्तमान राज्यपालों को उनके वर्तमान राज्य  से बदलकर दूसरे प्रदेश  में राज्यपाल के तौर पर नियुक्त किया  गया. इसी कड़ी में हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय को वहां से स्थानांतरित  कर  हरियाणा का  नया  राज्यपाल नियुक्त किया गया  जबकि हरियाणा के  राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य को त्रिपुरा का  राज्यपाल नियुक्त किया गया. गौरतलब है कि हरियाणा के नए राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय सोमवार 12 जुलाई शाम को हरियाणा राज भवन पहुंचे थे जहाँ प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर सहित प्रदेश की मंत्रिपरिषद एवं अन्य ने उनका स्वागत किया। वैसे तो उसके  बाद ही पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस द्वारा दत्तात्रेय को प्रदेश के नए राज्यपाल के तौर पर  शपथ दिलवा दी जानी चाहिए थी।जबकि उनकी शपथ को  तीन दिन बाद 15 जुलाई तक,चाहे किसी भी कारण से, टालने का कोई वैध औचित्य नहीं बनता है.हेमंत ने बताया कि ऐसी परिस्थिति में तकनीकी तौर पर  मौजूदा तौर पर  प्रदेश के निवर्तमान  राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य को ही हरियाणा का राज्यपाल  माना जा सकता है. हालांकि अगर वह कल 14 जुलाई को त्रिपुरा के राज्यपाल की शपथ ले लेते हैं, तो फिर उसके बाद आर्य हरियाणा के राज्यपाल नहीं रहेंगे. अब यह देखने लायक होगा कि आर्य कब त्रिपुरा के राज्यपाल की शपथ लेते हैं. हेमंत ने बताया कि प्रत्येक प्रदेश में हर समय नियमित अथवा कार्यवाहक  राज्यपाल होना चाहिए क्योंकि  सर्वप्रथम तो हर राज्य का विधायी और कार्यकारी कामकाज राज्यपाल के नाम से ही किया जाता है और दूसरा अगर कोई ऐसी आकस्मिक परिस्थिति आ जाए जब राज्य सरकार को प्रदेश में कोई तत्काल कानून लागू करना पड़ जाए तो इसके लिए अध्यादेश (आर्डिनेंस ) राज्यपाल के हस्ताक्षर करने के बाद ही तत्काल प्रभाव से लागू किया जा सकता है.
Have something to say? Post your comment
 
More Haryana News
गृह मंत्री अनिल विज ने दिए नकली आईजी (आईबी एमएचए) विनय अग्रवाल व अन्य के खिलाफ कार्यवाही करने के निर्देश
चंडीगढ़ हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री स्व. राव बीरेन्द्र सिंह जी को उनकी पुण्यतिथि पर भावपूर्ण श्रद्धांजलि। देश और समाज को समर्पित उनके आदर्शवादी विचार हमें सदैव जनसेवा के लिए प्रेरित करते रहेंगे।
बरसात से फसलों को हुए नुकसान की भरपाई करेगी सरकार : उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला राज्य अल्पसंख्यक आयोग में प्रत्येक अल्पसंख्यक समुदाय से एक-एक प्रतिनिधि होगा - सैयद शहजादी
रेहड़ी मार्केट के दुकानदारों को कल मिलेगा मालिकाना हक, मुख्यमंत्री और विधान सभा अध्यक्ष पंचकूला में आहुतियां डाल करेंगे पूरे प्रदेश के लिए योजना लांच
जिला लोक संपर्क और परिवाद कमेटी के बने नए चेयरमैन मुख्यमंत्री मनोहर लाल अब फरीदाबाद जिले के होंगे चेयरमैन
गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सांवत हरियाणा निवास चंडीगढ़ में प्रेसवार्ता को सम्बोधित करते हुए, मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव डॉ अमित अग्रवाल व अंबाला विधायक असीम गोयल भी मौजूद रहे
चंडीगढ़ पहुँचे गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत,मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव डॉ अमित अग्रवाल व अंबाला विधायक असीम गोयल ने किया स्वागत
*पंचकुला* - हरियाणा खादी एवं ग्रामोद्योग बोर्ड के नवनियुक्त चेयरमैन राजेन्द्र लितानी ने संभाला कार्यभार ,जेजेपी प्रदेश अध्यक्ष स. निशान सिंह, विधायक नैना चौटाला की मौजूदगी में पदभार किया ग्रहण
अंग्रेजो के खिलाफ आजादी की लड़ाई लड़ी और मुगलों के साथ भी लोहा लिया :मनोहर लाल