Tuesday, August 11, 2020
Follow us on
BREAKING NEWS
कोलकाताः दिल्ली, मुंबई समेत 6 शहरों की उड़ान पर 31 अगस्त तक रोकअंडमान निकोबार में एक हफ्ते के लिए बढ़ा लॉकडाउन, जारी रहेंगी सीमित उड़ानेंराजस्थानः कमेटी गठन का सचिन पायलट ने स्वागत किया, कांग्रेस अध्यक्ष का किया धन्यवादहरियाणा सरकार ने 11अगस्त, 2020 से ग्रामीण क्षेत्रों में कृषि भूमि की रजिस्ट्री के लिए ई-अपॉइंटमेंट लेने की प्रक्रिया शुरू करने का फैसला कियाहरियाणा में सोने के आभूषणों की परख एवं हॉलमार्किंग के लिए नौ जिलों में केन्द्र खोले जाएंगे तीन कर्मचारियों को 8,000 रुपये से 13,000 रुपये तक की रिश्वत लेते हुए रंगे-हाथों गिरफ्तार कर उनके विरुद्घ भ्रष्टïाचार निवारण अधिनियम के तहत मामले दर्ज किएPM मोदी ने बाढ़ प्रभावित 6 राज्यों के CM के साथ की समीक्षा बैठकअंतर-राज्यीय ड्रग सचिवालय‘ नशे के खिलाफ संयुक्त लड़ाई में कर रहा सहयोग
Haryana

हरियाणा में प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के वाटरशैड विकास घटक के तहत वर्ष 2020-21 के लिए 60 करोड़ रूपये की वार्षिक कार्य योजना को अनुमति प्रदान की गई

July 09, 2020 09:01 PM
हरियाणा में प्रधानमंत्री कृषि  सिंचाई योजना के वाटरशैड विकास घटक के तहत वर्ष 2020-21 के लिए 60 करोड़ रूपये की वार्षिक कार्य योजना को अनुमति प्रदान की गई है।
यह अनुमति आज यहां हरियाणा की मुख्य सचिव श्रीमती केशनी आनंद अरोड़ा की अध्यक्षता में गठित राज्य स्तरीय अनुमोदन कमेटी में दी गई।
बैठक में श्रीमती अरोडा ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि योजना के बेहतर क्रियान्वयन के लिए परियोजनाओं का प्रभाव, कवर क्षेत्र, उपचारित क्षेत्र, वन क्षेत्र, परियोजना से लाभान्वित किसान और सिंचाई के अंतर्गत आने वाले क्षेत्र का मूल्यांकन कर उसकी रिपोर्ट तैयार करें। बैठक में बताया गया कि इस परियोजना के तहत वर्ष 2020-21 के दौरान  6 जिलों  गुरूग्राम, रोहतक,झज्जर, सोनीपत, पलवल तथा मेवात की 1,25,573 हैक्टेयर भूमि में 28 वाटरशैड परियोजनाओं पर कार्य किया जायेगा। बैठक में बताया गया कि एकीकृत जलग्रहण प्रबंधन कार्यक्रम के तहत अब तक लगभग 128 करोड़ रूपये खर्च किये जा चुके हैं।
बैठक में बताया गया कि प्रधानमंत्री कृषि  सिंचाई योजना के तहत वर्ष 2020-21 के लिए 222 करोड 65 लाख रूपये की वार्षिक कार्य योजना को भारत सरकार की अनुमति के लिए भेजा गया है। इस योजना के तहत 202‐75 करोड़ रूपये ‘प्रति बूंद अधिक फसल’ लेने के  उद्देश्य से तथा 19‐90 करोड़ रूपये अन्य कार्यों पर खर्च किया जायेगा।
बैठक में बताया गया कि इस योजना का लाभ उठाने के लिए अब तक 12,602 आवेदकों ने आनलाइन आवेदन किया हैं जिनमें 3481 स्प्रिंकलर के, 7196 मिनी-स्प्रिंकलर के तथा 1925 ड्रिप के आवेदन शामिल हैं।
बैठक में कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के अतिरिक्त मुख्यसचिव श्री संजीव कौशल,वन एवं वन्य जीव विभाग के अतिरिक्त मुख्यसचिव श्री आलोक निगम,वित्त एवं योजना विभाग के अतिरिक्त मुख्यसचिव श्री टी वी एस एन प्रसाद तथा विकास एवं पंचायत विभाग के प्रधान सचिव श्री सुधीर राजपाल के अलावा अन्य वरिष्ठï अधिकारी उपस्थित थे।
Have something to say? Post your comment
More Haryana News
हरियाणा सरकार ने 11अगस्त, 2020 से ग्रामीण क्षेत्रों में कृषि भूमि की रजिस्ट्री के लिए ई-अपॉइंटमेंट लेने की प्रक्रिया शुरू करने का फैसला किया हरियाणा में सोने के आभूषणों की परख एवं हॉलमार्किंग के लिए नौ जिलों में केन्द्र खोले जाएंगे तीन कर्मचारियों को 8,000 रुपये से 13,000 रुपये तक की रिश्वत लेते हुए रंगे-हाथों गिरफ्तार कर उनके विरुद्घ भ्रष्टïाचार निवारण अधिनियम के तहत मामले दर्ज किए अंतर-राज्यीय ड्रग सचिवालय‘ नशे के खिलाफ संयुक्त लड़ाई में कर रहा सहयोग हरियाणा में अगले हफ्ते शुरु हो सकता है रजिस्ट्रियों का काम, सरकार तैयार कर रही नया सॉफ्टवेयर
कोरोना से लड़ने में हरियाणा प्रतिबद्ध:अनिल विज,हरियाणा के स्वास्थ्य एवं गृह मंत्री
सांसद नायब सैनी अम्बाला स्थित घर में आइसोलेट हुए हरियाणा: 500 से अधिक शराब की बोतल की तस्करी के आरोप में एक शख्स गिरफ्तार
कपास की फसल के नुकसान पर स्पेशल गिरदावरी के दिए आदेश - दुष्यंत चौटाला
सरकार का लक्ष्य, हर गांव में हो मॉडर्न सरकारी लाइब्रेरी - उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला