Saturday, August 08, 2020
Follow us on
BREAKING NEWS
दिल्ली में 9-12 अगस्त के बीच आंधी तूफान के साथ बारिश की संभावनाजम्मू-कश्मीर: उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने 25000 रुपये के स्पेशल यात्रा भत्ते को दी मंजूरीअशोक गहलोत के पास अपनी सरकार बचाने के लिए नंबर नहीं: सतीश पूनियाहरिद्वार, देहरादून समेत उत्तराखंड के कई इलाकों में भारी बारिश का अलर्टऐ - मेरे भोले किसान अपनी फसल बेचना सीख ले, मोदी ने राह दिखा दी -धनखड़केरल विमान हादसा: मृतकों के परिजनों को 10 लाख, गंभीर रूप से घायलों को 2 लाख सहायता राशिदिल्ली: राजस्थान की पूर्व CM वसुंधरा राजे ने राक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से की मुलाकातराजस्थान सियासी संकट: बीजेपी के नौ विधायक पहुंचेंगे पोरबंदर, रात को सोमनाथ में रुकेंगे
Haryana

हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज का हालचाल जानने आज पूर्व केंद्रीय मंत्री बलवंत सिंह रामूवालिया और मशहूर पंजाबी गायक हरभजन मान उनके निवास स्थान पर मिलने पहुंचे

July 05, 2020 03:44 PM

हरियाणा के गृहमंत्री श्री अनिल विज का हालचाल जानने आज पूर्व केंद्रीय मंत्री बलवंत सिंह रामूवालिया और मशहूर पंजाबी गायक हरभजन मान उनके निवास स्थान पर मिलने पहुंचे और उनके शीघ्र स्वास्थ्य होने की कामना की। 

इस दौरान पूर्व केंद्रीय मंत्री रामूवालिया ने हरियाणा मे कबूतरबाजी पर नकेल कसने के लिए एसआईटी गठित करने पर गृहमंत्री अनिल विज की सराहना की और आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि अपने राजनैतिक जीवन में उन्होंने पंजाब मे कबूतरबाजी के मामलों को उजागर करने और उचित कार्रवाई के लिए आवाज उठाई, लेकिन कई दशकों तक उनके प्रयासों के बावजूद पंजाब की सरकारों ने इस तरफ कोई ध्यान नहीं दिया। उन्होंने कहा कि अनिल विज द्वारा हरियाणा में एसआईटी गठित कर कबूतरबाजी पर गहरी चोट की है, इससे कबूतरबाजों पर न केवल शिकंजा कसेगा बल्कि इस फैसले से प्रदेश के लाखों पीड़ित परिवारों को राहत व न्याय मिलेगा।
गृहमंत्री अनिल विज ने कहा कि नवगठित एसआईटी ने गैर कानूनी तरीके से विदेशों में भेजने वाले और कबूतरबाजी में विभिन्न जिलों में करीब दो दर्जन से अधिक दर्ज मामलों में करीब अढ़ाई दर्जन आरोपी एजेंटो को गिरफ्तार किया है और उनके कब्जे से 35 लाख रुपए से अधिक की राशि बरामद की है। उन्होंने बताया कि इस एसआईटी की कमान करनाल रेंज की आई जी भारती अरोड़ा को दी है तथा इसमें 6 अन्य एसपी स्तर के अधिकारियों को शामिल किया गया है।
विज ने कहा कि सरकार द्वारा गठित एसआईटी गत वर्षो में दर्ज मामलों की भी जांच कर रही है। इसके तहत वर्ष 2018-19 में कुछ एजेंटों द्वारा हरियाणा के नौजवानों को अवैध रूप से संयुक्त राज्य अमेरिका भेजा गया, जहाँ उन्हें पुलिस ने पकड़ लिया और जेल में डाल दिया। इसके काफी समय तक जेल मेें रहने के बाद अमेरिका सरकार ने उन्हें वापिस भारत डिपोर्ट कर दिया गया। इनकी शिकायतों पर संज्ञान लेते हुए हरियाणा सरकार के आदेश पर पुलिस द्वारा ऐसे एजेंटों के खिलाफ कबूतरबाजी के 254 अभियोग दर्ज किये। इसके अलावा कबूतरबाजी के 156 नए मामले दर्ज किये है, इन सभी मामलों की जांच यही एसआईटी कर रही है।

Have something to say? Post your comment