Tuesday, August 04, 2020
Follow us on
BREAKING NEWS
हरियाणा के सीएम मनोहर लाल ने राज्य में फसल अवशेष प्रबंधन के लिए 1,304.95 करोड़ रुपये की एक व्यापक योजना स्वीकृति प्रदान की मंडियों में नहीं रहेगी बारदाने की कमी : दुष्यंत चौटालाआडवाणी, जोशी, कल्याण सिंह राम मंदिर भूमि पूजन कार्यक्रम में नहीं होंगे शामिल: स्वामी गोविंद गिरीराम मंदिर निर्माण शुभारंभ कार्यक्रम में कुल 175 लोगों को भेजा निमंत्रण: श्री राम जन्मभूमि ट्रस्टसुशांत सिंह राजपूत केस में पिता का बड़ा आरोप, कहा- मुंबई पुलिस को फरवरी में ही किया था आगाहसुशांत सिंह राजपूत केस में पिता से मुंबई पुलिस का सवाल, किस थाने में दी थी शिकायत?सुशांत सिंह राजपूत के पारिवारिक सूत्रों ने कहा- पूजा-पाठ के नाम पर अकाउंट से निकाले गए पैसेगुजरात के भरूच जिले में महसूस किए गए भूकंप के झटके
Punjab

इस क्षेत्र के लोगों ने ‘प्रधान मंत्री ग़रीब कल्याण अन्न योजना’ के विस्तार का स्वागत किया

July 01, 2020 09:06 PM

इस क्षेत्र के लोगों ने ‘प्रधन मंत्री ग़रीब कल्याण अन्न योजना’ का विस्तार नवम्बर के अंत तक करने के केन्द्र सरकार के निर्णय का स्वागत किया है। राष्ट्र के नाम अपने हालिया संभाषण में प्रधान मंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने कहा था कि अगले कुछ माह के दौरान कई त्यौहार आने वाले हैं, जिनके कारण खर्च बढ़ जाते हैं; ऐसी आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए सरकार ने ‘प्रधान मंत्री ग़रीब कल्याण अन्न योजना’ का विस्तार करने का निर्णय लिया है।

हरियाणा के महेन्द्रगढ़ ज़िले के अनिल कुमार ‘प्रधान मंत्री ग़रीब कल्याण अन्न योजना’ का विस्तार करने हेतु धन्यवाद प्रकट करते हुए कहा कि इससे ग़रीबों को अत्यंत राहत मिलेगी। एक लाभार्थी वेद प्रकाश ने ‘प्रधान मंत्री ग़रीब कल्याण अन्न योजना’ का विस्तार दीपावली तक करने के लिए केन्द्र सरकार का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि उन्हें पहले ही निःशुल्क राशन मिल रहा है, जिसके लिए वह शुक्रगुज़ार हैं। हरियाणा के एक अन्य लाभार्थी व दिहाड़ीदार मज़दूर बलबीर सिंह ने राहत अनुभव करते हुए कहा उन्हें अब दीपावली तक निःशुल्क अनाज मिलेगा, जिसके लिए उन्होंने सरकार का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि इस समय के दौरान सरकार प्रत्येक प्रकार की सहायता प्रदान करवा रही है तथा पांच माह का यह विस्तार एक स्वागतयोग्य कदम है।

इन पांच माह की समायावधि के दौरान 80 करोड़ से अधिक लोगों को 5 किलोग्राम निःशुल्क गेहूं/चावल प्रत्येक माह मुहैया करवाए जाएंगे। प्रत्येक माह प्रत्येक परिवार के हर एक सदस्य को 5 किलोग्राम निःशुल्क चावल/गेहूं दिए जाने के साथ-साथ प्रत्येक परिवार को 1 किलोग्राम चने भी दिए जाएंगे। प्रधान मंत्री ने यह भी बताया कि इस योजना के विस्तार पर सरकार 90,000 करोड़ रुपए से अधिक की राशि ख़र्च करेगी, साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि यदि विगत तीन माह में ख़र्च की गई राशि भी जोड़ ली जाए, तो इस योजना पर कुल लगभग 1.5 लाख करोड़ रुपए ख़र्च होंगे।

Have something to say? Post your comment