Saturday, July 04, 2020
Follow us on
BREAKING NEWS
बर्खास्त पीटीआई अध्यापकों को कानून बना बहाल करे खट्टर सरकार - रणदीपकानपुर: चौबेपुर के SHO विनय तिवारी सस्पेंड, विकास दुबे से मिलीभगत का आरोपदिल्ली: कोरोनिल के खिलाफ दर्ज शिकायत पर पटियाला हाउस कोर्ट ने बसंत विहार के SHO को जारी किया नोटिसमध्य प्रदेशः BJP विधायक रामेश्वर शर्मा होंगे विधानसभा के प्रोटेम स्पीकरभाजपा के नेताओं और पदाधिकारियों से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे संवादगैंगस्टर विकास दुबे पर एक्शन, घर गिरा रहा है कानपुर प्रशासनगृह मंत्री अमित शाह ने स्वामी विवेकानंद को पुण्यतिथि पर किया याद, अर्पित किए श्रद्धा सुमनकानपुर मुठभेड़ः सीज किए जाएंगे विकास दुबे के बैंक खाते, संपत्ति की होगी जांच
Haryana

हरियाणा सरकार ने स्टार्टअप इंडिया के सहयोग से वर्चुअल मेंटरशिप वर्कशॉप सीरीज की शुरुआत की

June 04, 2020 09:50 PM

कोविड-19 के दौरान विभिन्न संगठनों पर पड़े व्यावसायिक प्रभाव को कम करने के उद्देश्य से हरियाणा सरकार ने स्टार्टअप इंडिया के सहयोग से वर्चुअल मेंटरशिप वर्कशॉप सीरीज की शुरुआत की है। राज्य सरकार समय-समय पर विभिन्न लाभ प्रदान करके उद्यमियों और युवाओं की सहायता के लिए एक गतिशील स्टार्टअप इकोसिस्टम को स्थापित करने के लिए पर्याप्त कदम उठा रही है।

          इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी विभाग के एक प्रवक्ता ने इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि विभाग ने स्टार्टअप इंडिया के साथ मिलकर शुरुआती चरण के स्टार्टअप के लिए एक वर्चुअल मेंटरशिप वर्कशॉप सीरिज की शुरुआत की है जिसका उद्देश्य संकट के समय में अपने-अपने स्थानों से मेंटर्स और स्टार्टअप को एक-दूसरे के साथ जुडऩे का एक सुरक्षित सलाह मंच प्रदान करना है।

        प्रवक्ता ने बताया कि वर्चुअल मेंटरशिप वर्कशॉप सीरीज़ का उद्देश्य स्टार्टअप्स के दृष्टिकोण को व्यापक बनाने और विशेष रूप से वैश्विक संकट के मद्देनजर उनका आत्मविश्वास बढ़ाने में उनकी मदद करना है। उन्होंने बताया कि यह तीन महीने का कार्यक्रम है, जो शुरुआती चरण के स्टार्टअप के लिए उद्योग के विशेषज्ञों के साथ बातचीत करने,उनके ज्ञान और विशेषज्ञता से सीखने तथा अपने कारोबार में तेजी लाने के लिए रणनीति तैयार करने का एक अवसर प्रदान करता है।

          उन्होंने बताया कि कार्यक्रम में समूह सत्र और व्यक्तिगत सत्र शामिल हैं। समूह सत्र स्टार्टअप को मेंटर्स के ज्ञान और अनुभव से सीखने और अन्य स्टार्टअप के साथ बातचीत करने का अवसर प्रदान करते हैं,जबकि व्यक्तिगत सत्र स्टार्टअप को उनके स्टार्टअप से जुड़े विशेष मुद्दों पर मेंटर्स के साथ बातचीत करने में मदद करते हैं।

        उन्होंने बताया कि इस कार्यक्रम में व्यवसाय मॉडलिंग, उत्पादों / सेवा का आवश्यकता विश्लेषण, कराधान,कानून और वित्त पोषण की मूल बातों, डिजिटल विपणन, व्यापार निरंतरता आदि जैसे विषयों पर सत्र शामिल हैं, जो शुरुआती दौर में स्टार्टअप्स के लिए उपयोगी होते हैं।

        उन्होंने बताया कि विभाग ने कोविड-19 संकट के दौरान 8 मई, 2020 को ‘व्यापार निरंतरता’ विषय पर पहला सत्र आयोजित किया था। उसके बाद 18 मई, 2020 को कराधान / कानूनी आधार विषय पर दूसरा सत्र आयोजित किया गया था।

        प्रवक्ता ने बताया कि जून और जुलाई महीनों के सत्र भी निर्धारित किए गए हैं, जिनमें डिजिटल मार्केटिंग आवश्यकता, फंडिंग टिप्स,पिच डेक प्रिपरेशन, निवेशक संबंध प्रबंधन, कराधान / कानूनी रणनीतियाँ और अन्य प्रासंगिक विषयों को कवर किया जाएगा।

Have something to say? Post your comment