Monday, May 25, 2020
Follow us on
BREAKING NEWS
महाराष्ट् ने मुंबई में एक जून तक सभी उड़ानों पर लगाई गई पाबंदी, अमृतसर हवाई अड्डे से मुंबई जाने वाली पहली उड़ान रद्दमहाराष्ट्र में बीते 24 घंटे में कोरोना के 2436 नए केस मिले, 60 ने तोड़ा दमगुरुग्राम में आज आए 13 पॉजिटिव मामले, संक्रमितों का आंकड़ा हुआ 284गुरुग्राम में इलाज के बाद अब तक कोरोना संक्रमित 166 मरीज हुए ठीकअगर कोई अभिभावक वर्तमान में फीस देने में असमर्थ है तो वह स्कूल प्रशासन को लिखित रूप में बाद में किश्तों में देने का अनुरोध कर सकता है:कंवर पालगुरुग्राम रेलवे स्टेशन से आज 1400 प्रवासी नागरिकों को लेकर श्रमिक स्पेशल ट्रेन मणिपुर के जरिबम नामक स्थान के लिये रवाना हुईसुरक्षित और व्यवस्थित तरीके से प्रवासी श्रमिकोंं के परिवहन पर 10 करोड़ रुपये से अधिक का खर्च किया गया:एडीजीपी अनिल राव,देश में अभी जारी रहेगा लू का दौर, 29 मई के बाद गर्मी से मिलेगी कुछ राहतः मौसम विभाग
National

थायरॉयड कैंसर होने पर भी नहीं हारी हिम्मत अब घर-घर में लग रही हैपीनेस क्लास

April 26, 2020 05:51 AM

COURTESY NBT APR 26

थायरॉयड कैंसर होने पर भी नहीं हारी हिम्मत
अब घर-घर में लग रही हैपीनेस क्लास

...ताकि कोरोना वायरस के बढ़ते डर के बीच भी बनी ही रहे लोगों के चेहरों पर बड़ी सी मुस्कान

 

• एडि. डीसीपी आनंद कुमार मिश्रा ऑपरेशन के बारे में सोच रहे थे कि लॉकडाउन हो गया• वह आउटर जिले के एरिया में लोगों की मदद में जुट गए• लेकिन थायरॉयड कैंसर बढ़ता गया और अचानक एक दिन आनंद की तबीयत बिगड़ गई


टूटा नहीं हौसला
अच्छी पहल• हैपीनेस ब्लॉग को 15 हजार से ज्यादा लोग देख चुके हैं• फेसबुक में भी क्लास को रोजाना यही रिस्पॉन्स मिल रहा है• यूट्यूब में भी 50 हजार से ज्यादा लोग इससे सीख रहे हैं
• ऑनलाइन क्लास में बच्चों के साथ-साथ पैरंट्स भी

ले रहे हिस्सा
हैपीनेस क्लास को ऑनलाइन लाने में इसके टीचर अविनाश कुमार झा का खास रोल है। वह कहते हैं, हैपीनेस क्लास के भाव को कैसे स्कूल से घर तक परिवार में पहुंचाया जाए, यह पहले से ही मैं सोचता था। अब लॉकडाउन में कई लोग हमें देख रहे हैं और सीख कर उसे फॉलो कर रहे हैं। अब तक 7 क्लास हुई हैं और इस दौरान हमें पैरंट्स से भी अच्छा फीडबैक मिला है। हम ज्यादा से ज्यादा पैरंट्स का फीडबैक जानने के लिए उत्सुक हैं। खासतौर से यह जानने के लिए कि कैसे वे हैपीनेस की क्लास को परिवार के संग फॉलो कर रहे हैं। वह बताते हैं कि ऑनलाइन क्लास में कंटेंट काफी हद तक करिकुलम का ही है। मगर छोटे बच्चे से लेकर बड़ी उम्र के शख्स का खयाल रखते हुए हमने कुछ-कुछ बदलाव भी किए हैं, ताकि पूरे परिवार एक्टिविटी साथ कर सके। क्लास की शुरुआत माइंडफुलनेस से शुरू होती है। खासतौर पर लोग इस एक्टिविटी को सीखकर उत्साहित हैं। मस्जिद मोड़ के सर्वोदय कन्या विद्यालय में 5वीं में पढ़ने वालीं हिमांशी की मां रीमा कहती हैं कि यह एक्टिविटी मेरी बेटी घर पर पहले भी रोज करती थी, लेकिन हमने कभी ध्यान नहीं दिया। मगर अब ऑनलाइन हैपीनेस क्लास से बेटी के साथ मैं, उसके पापा, दादी भी ध्यान करते हैं। सादिक नगर के रहने वाले दीपक सिंह कहते हैं, मेरे बच्चे सरकारी स्कूल में नहीं है मगर मैं अपने दोनों बच्चों के साथ यह क्लास तीन दिन से देख रहा हूं। सचमुच यह बढ़िया कदम है। यह दिमाग फ्रेश करता है। स्टूडेंट्स के लिए आईवीआर और एसएमएस के जरिए भी हैपीनेस क्लास की एक्टिविटी भेजी जा रही हैं। टीचर्स की एक टीम करिकुलम में से एक्टिविटी को छोटा कर इसे पैरंट्स को भेज रही है।
ऑपरेशन के बाद बोले, दुआएं साथ हैं... जंग जीत कर ड्यूटी पर लौटूंगा
कैंसर के बावजूद एडिशनल डीसीपी आनंद कुमार मिश्रा ड्यूटी पर डटे रहे। लगातार कोरोना से जंग लड़ते रहे। सड़कों पर लोगों की मदद करते रहे।
Katyayani.Upreti

@timesgroup.com

• लॉकडाउन में घर पर बैठे खाली बच्चे! कई पैरंट्स इससे परेशान है, लेकिन कई लोग अब जरूर कुछ अच्छा महसूस कर रहे होंगे, जिन्होंने दिल्ली सरकार की ऑनलाइन हैपीनेस क्लास जॉइन की है। दिल्ली सरकार ने अपने कैंपेन ‘कोरोना के वक्त पैरंटिंग’ के साथ एक हफ्ते पहले ऑनलाइन फैमिली हैपीनेस क्लास शुरू की है, जो रोजाना सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म पर शाम 4 बजे शुरू होती है। क्लास का मकसद है इस मुश्किल की घड़ी में पूरा परिवार एकसाथ हो, एकजुट हो और खुशहाल हो। इसमें बच्चों के साथ-साथ पूरा परिवार हिस्सा ले रहा है।

पैरंट्स के लिए हैपीनेस ब्लॉग

दो साल पहले सरकारी स्कूलों में शुरू हुई नर्सरी से क्लास 8 तक की हैपीनेस क्लास धीरे-धीरे फैमिली हैपीनेस क्लास बन रही है। ‘हर घर क्लासरूम, हर पैरंट टीचर’ दिल्ली सरकार के इस नारे की गूंज सुनाई दे रही है। शिक्षा निदेशालय यूट्यूब और फेसबुक पर रोज 4 बजे हैपीनेस क्लास चला रहा है। पैरंट्स की मदद के लिए 'हैपीनेस ब्लॉग' happinessdelhi.blogspot.com भी लॉन्च किया गया है।

लॉकडाउन के दौरान बच्चों के साथ कैसे टाइम बिताएं, यह पैरंट्स के लिए चुनौती है। इसके लिए जिन्हें कोई मीडियम नजर नहीं आ रहा था, दिल्ली सरकार ने हैपीनेस क्लास के रूप में वह मीडियम उन्हें दिया है। क्लास उसी तरह हो रही हैं, जैसे स्कूलों में होती हैं। पहले दिन माइंडफुलनेस (ध्यान की एक्टिविटी), अगले दिन स्टोरी, उसके बाद एक्टिविटी और फिर वही क्रम। खुशियों की इस ऑनलाइन पाठशाला को लोग पसंद कर रहे हैं। हैपीनेस ब्लॉग को 15 हजार से ज्यादा लोग देख चुके हैं। फेसबुक में भी रोजाना यही रिस्पॉन्स है तो यूट्यूब में भी 50 हजार से ज्यादा लोग इससे सीख रहे हैं।

डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया का कहना है, यह इस समय की जरूरत है कि हम पूरे परिवार को एक साथ लाएं और एकजुट होकर इस हालात का हिम्मत से मुकाबला करें। ऐसे में अगर पैरंट्स बच्चों से और हैपीनेस क्लास से सीखेंगे तो गुस्सा, टेंशन, स्ट्रेस, बेचैनी सब बाहर निकलेंगे।


फैमिली हैपीनेस क्लास में इन दिनों स्कूली बच्चों के साथ-साथ उनका पूरा परिवार भी हिस्सा ले रहा है।


3 शेल्टर होम में भी चली क्लास• प्रस, ईस्ट दिल्ली: उस्मानपुर स्थित स्कूल में 50 के करीब, घोंडा और खजूरी स्थित स्कूल में 20-20 लोगों को रखा गया है। एसडीएम ने बताया कि लॉकडाउन को चलते हुए पूरा एक महीना बीत चुका है। ऐसे में ये लोग खाली बैठे बोर होने लगे हैं। कुछ लोगों को मानसिक परेशानी भी शुरू हो गई है। इसलिए इन शेल्टर होम में हैपीनेस क्लास शुरू की गई है। योग के अलावा उन्हें रोचक किस्से और कहानियां सुनाई जाती है। वे एनर्जी महसूस कर रहे हैं। यमुना स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स में जो शेल्टर होम बनाया है उसमें अभी 1200 के करीब लोग रहे रहे हैं। इस शेल्टर होम में भी लोगों को खुश रखने के लिए कई तरह के मनोरंजन कार्यक्रम शुरू किए गए हैं।

Have something to say? Post your comment
 
More National News
महाराष्ट् ने मुंबई में एक जून तक सभी उड़ानों पर लगाई गई पाबंदी, अमृतसर हवाई अड्डे से मुंबई जाने वाली पहली उड़ान रद्द महाराष्ट्र में बीते 24 घंटे में कोरोना के 2436 नए केस मिले, 60 ने तोड़ा दम देश में अभी जारी रहेगा लू का दौर, 29 मई के बाद गर्मी से मिलेगी कुछ राहतः मौसम विभाग श्रम कानून कमजोर करने पर इंटरनेशनल लेबर ऑर्गेनाइजेशन ने जताई चिंता, PM को लिखा पत्र मरकज मामले में आरोपी मौलाना साद के बेटे मोहम्मद सईद का पासपोर्ट सीज पीएम मोदी ने दी ईद की बधाई, की सभी देशवासियों के स्वस्थ रहने की कामना मिशन वंदे भारतः ऑस्ट्रेलिया से 230 भारतीयों के साथ स्पेशल फ्लाइट ने कोचीन के लिए भरी उड़ान विदेश से आने वालों के लिए गाइडलाइंस:14 दिन का क्वारैंटाइन जरूरी, 7 दिन का खर्च खुद उठाना होगा; प्रेग्नेंट और 10 साल से कम उम्र के बच्चों के पेरेंट्स को सशर्त छूट कर्नाटकटः बेंगलुरु में तेज हवा के साथ भारी बारिश, कई जगह पेड़ गिरे महाराष्ट्र: 31 मई को हटेगा लॉकडाउन, सीएम उद्धव बोले- जवाब देना आसान नहीं