Monday, March 30, 2020
Follow us on
BREAKING NEWS
बीजेपी का हर कार्यकर्ता पीएम केयर फंड में देगा कम से कम 100 रुपये: जेपी नड्डाबॉलीवुड गायिका कनिका कपूर की आई चौथी रिपोर्ट, चौथी रिपोर्ट भी निकली कोरोना पॉजिटिवहरियाणा से राहत की खबर,गुरुग्राम का एक ओर कोरोना वायरस पीड़ित मरीज स्वस्थ हुआपी.सी. मीणा ने राज्य के सभी जिला सूचना एवं जन सम्पर्क अधिकारियों को निर्देश दिये कि वे भ्रामक खबरों पर अंकुश लगाएं और स्थिति को नियंत्रण में रखें ताकि लोगों में अफवाहें न फैलेराज्य की मण्डियों में आने वाली रबी फसल की पैदावार की खरीद को सुनिश्चित करने के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए गए:डॉ. बनवारी लाल प्रत्येक गांव स्तर पर 14 अप्रैल, 2020 तक एक मॉनिटरिंग कमेटी का गठन करें:दुष्यंत चौटालालॉकडाउन के दौरान अपने-अपने संस्थानों में कार्यरत श्रमिकों को जबरन अवकाश पर न भेजे:दुष्यंत चौटालाकेरोना वारयस : चंडीगढ़ में आज 5 लोगों की रिपोर्ट पॉज़िटिव आने के बाद संख्या 13 हुई
National

भारत जीतेगा कोरोना-युद्ध

March 23, 2020 11:42 AM

डॉ.वेदप्रताप वैदिक

जनता-कर्फ्यू की सफलता अभूतपूर्व और एतिहासिक रही है। पिछले 60-70 साल में मैंने कई भारत बंद देखे हैं और उनमें भाग भी लिया है लेकिन ऐसा भारतबंद पहले कभी नहीं देखा। इस पहल का श्रेय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को तो है ही, इस जनता-कर्फ्यू ने यह भी सिद्ध कर दिया है कि मोदी से बड़ा प्रचारमंत्री पूरी दुनिया में कोई नहीं है। इटली, चीन, स्पेन और अमेरिका में कोरोना से हजारों लोग हताहत हुए लेकिन इन देशों में भी जनता का ऐसा कर्फ्यू कहीं नहीं हुआ। इसका एक कारण यह भी है कि लोगों के दिल में मौत का डर गहरे में बैठ गया है, वैसा शायद कहीं नहीं फैला है। इसके अलावा भारत की केंद्रीय सरकार और राज्य सरकारें भी जबर्दस्त मुस्तैदी दिखा रही हैं। यदि अगले 15 दिन ठीक-ठाक निकल गए तो भारत की यह मुस्तैदी सारी दुनिया के लिए एक मिसाल बन जाएगी। इस जनता-कर्फ्यू ने यह भी सिद्ध कर दिया है कि भारत की जनता काफी जिम्मेदार और समझदार है। भारत के 60-70 प्रतिशत मतदाताओं ने मोदी के विरुद्ध मतदान किया है लेकिन एकाध अधकचरे नेता के अलावा देश के 100 प्रतिशत लोगों ने मोदी के आह्वान का सम्मान किया है। मुझे आश्चर्य है कि अभी तक मोदी ने दक्षेस के पड़ौसी राष्ट्रों के नेताओं के साथ इसी तरह का आह्वान करने की बात क्यों नहीं की और अभी तक देश के वंचित वर्ग के लोगों के लिए सीधी आर्थिक सहायता की घोषणा क्यों नहीं की ? मुझे खुशी है कि हमारे सभी प्रमुख टीवी चैनल कोरोना-युद्ध लड़ने के लिए हमारे परमप्रिय बाबा रामदेवजी को योद्धा बनाए हुए हैं। आसन और प्राणायाम के साथ-साथ वायुशोधक औषधियों से हवन करने की प्रेरणा मोदी और रामदेव जनता को क्यों नहीं दे रहे हैं ? अ-हिंदू लोग चाहें तो हवन में वेद मंत्रपाठ करने की बजाय कुरान की आयतें, बाइबिल के पद, त्रिपिटक के सूत्र, जैन-आगम आदि का पाठ कर सकते हैं। विषाणु-निरोधक आयुर्वेदिक, यूनानी और होम्योपेथिक दवाइयां लेने में भी कोई हानि नहीं है। इस कोरोना-युद्ध में भारत की विजय सुनिश्चित है।

Have something to say? Post your comment
 
More National News
बीजेपी का हर कार्यकर्ता पीएम केयर फंड में देगा कम से कम 100 रुपये: जेपी नड्डा लॉकडाउन का पालन नहीं हुआ तो हम फेल: स्वास्थ्य मंत्रालय पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस से 4 मरीजों की मौत: स्वास्थ्य मंत्रालय पिछले 24 घंटे में कोरोना के 72 नए मरीज: स्वास्थ्य मंत्रालय कोरोना: अब तक 38,442 टेस्ट किए गए, कल 3,501 टेस्ट हुए: ICMR मध्य प्रदेश: इंदौर में कोरोना वायरस से एक और मौत
COVID-19: अब EPF अकाउंट से निकाल सकते हैं इतनी रकम, सरकार ने बदला नियम
कोरोना: भारत में 1,139 लोग संक्रमित, अब तक 30 मरीजों की मौत लॉकडाउन को आगे बढ़ाने की कोई योजना नहीं: कैबिनेट सचिव राजीव गौबा ढाबों, होटलों में 5 लाख ट्रक लावारिस खड़े हैं, ड्राइवर घर चले गए