Saturday, September 26, 2020
Follow us on
National

इंटरनेट से सीखे थे बच्चों को बंधक बनाने के तरीके

February 02, 2020 05:56 AM

COURTESY NBT FEB 2

इंटरनेट से सीखे थे बच्चों को बंधक बनाने के तरीके
• सुभाष ने मोबाइल में डाउनलोड किए थे बम बनाने के विडियो• कॉल डिटेल से मिलेंगी कई अहम जानकारियां : मोहित अग्रवाल, आईजी
आरोपी सुभाष (इनसेट) और घटनास्थल पर मौजूद लोग।
File•प्रमुख संवाददाता, कानपुर

 

फर्रुखाबाद के करथिया गांव के बच्चों को बंधक बनाने के बाद मुठभेड़ में मारे गए सुभाष ने मोबाइल इंटरनेट के जरिए बम बनाने और बंधक बनाने के तरीके सीखे थे। कानपुर (रेंज) के आईजी मोहित अग्रवाल के मुताबिक सुभाष के मोबाइल में ऐसे कई विडियो मिले हैं जिनमें बम बनाने की ट्रेनिंग दी जा रही है। शायद वह लंबे समय से इस कांड की योजना बना रहा था। तलाशी के दौरान मिले सुभाष के स्मार्टफोन को चेक करने पर पता चला कि उसने बच्चों को बंधक बनाने के तरीके भी खोजे थे। करीब एक-डेढ़ महीने पहले जेल से बाहर आया सुभाष बेहद खुराफाती और खूंखार व्यक्ति था। उसके मोबाइल का कॉल रेकॉर्ड और लोकेशन निकलवाई जा रही है, ताकि यह पता चल सके कि वह कहां-कहां गया और उसने किन-किन लोगों से बातचीत हुई। इससे बारूद खरीदने के ठिकानों के बारे में भी जानकारी मिल सकती है।

दंपती की बेटी को लेंगे गोद : सुभाष और रूबी की एक साल की बेटी को देख पुलिस का दिल पसीज गया है। आईजी ने कहा कि विभाग में ही कई नि:संतान लोग हैं, जो बच्ची को गोद ले सकते हैं। उसका पूरा खर्च उठाया जाएगा।

Have something to say? Post your comment