Tuesday, September 29, 2020
Follow us on
National

ऑनलाइन फूड ऑर्डर पर ज्यादा पैसे चुका रहे कंज्यूमर

January 27, 2020 06:30 AM

COURTESY NBT JAN 27

अदिति श्रीवास्तव & अलनूर पीरमुहम्मद ]

ऑनलाइन फूड ऑर्डर करने वाले कंज्यूमर्स को अब ज्यादा पैसे चुकाने पड़ रहे हैं। इस मार्केट पर कंट्रोल रखने वाली फूड डिलीवरी ऐप्स जोमैटो और स्विगी ने पिछले छह महीनों में डिलीवरी फीस बढ़ा दी है। उन्होंने डायनेमिक डिस्काउंटिंग भी शुरू की है। इसके अलावा उन्होंने ऑर्डर कैंसल करने से जुड़े नियम सख्त कर दिए हैं और अपने लॉयल्टी प्रोग्राम्स के दाम बढ़ा दिए हैं।

एनालिस्ट्स और इन प्लेटफॉर्म्स पर लिस्टेड रेस्टोरेंट्स ने ईटी को बताया ओवरऑल डिस्काउंट घटने के साथ इन कदमों के कारण ऑर्डर्स की संख्या में कमी आई है। इस सेक्टर पर नजर रखने वाले एक विश्लेषक ने कहा, ‘जोमैटो के मामले में अक्टूबर से हर महीने ऑर्डर वॉल्यूम में 5-6 प्रतिशत कमी आने का अनुमान है। स्विगी के मामले में दिसंबर में इतनी ही कमी का अनुमान है। ऐसा इन प्लेटफॉर्मों की सख्त की गई नीतियों के कारण हुआ है।’

उन्होंने कहा, ‘उबर ईट्स डील के बाद इस मार्केट का समीकरण कितना बदलेगा, यह अगले महीने तक साफ हो जाएगा।’ पिछले हफ्ते जोमैटो ने भारत में उबर का फूड एग्रीगेटर बिजनेस उबर ईट्स को 35 करोड़ डॉलर में खरीद लिया था। यह ऑल-स्टॉक डील थी। इसमें उबर को जोमैटो में करीब 10 प्रतिशत हिस्सा मिला। जोमैटो ने ‘ऑन टाइम ऑर फ्री डिलीवरी’ शुरू किया है। इसका अर्थ यह है कि अगर कोई कस्टमर चुनिंदा रेस्टोरेंट्स को 10 रुपये अतिरिक्त चुकाए तो तय समय में डिलीवरी नहीं होने पर फ्री ऑर्डर दिया जाएगा।

उसने अपनी गोल्ड मेंबरशिप के लिए दाम भी बढ़ाया है और चेकआउट्स पर क्रॉस-सेलिंग शुरू की है ताकि साइड ऑफरिंग्स के जरिए ऐवरेज ऑर्डर वैल्यू बढ़ाई जाए। स्विगी ने भी कुछ शहरों में डिलीवरी चार्ज बढ़ाए हैं, कैंसलेशन रूल सख्त किए हैं और अपने लॉयल्टी प्रोग्राम सुपर के दाम बढ़ा दिए हैं। अर्न्स्ट एंड यंग के पार्टनर अंकुर पाहवा ने कहा, ‘अब फिर बिजनेस को प्रॉफिटेबल बनाने पर जोर बढ़ा है। मार्केट लीडर्स को काफी इनवेस्टमेंट भी मिल रहा है।’ जोमैटो ने कंज्यूमर्स के लिए दूरी, ऑर्डर वैल्यू और रेस्टोरेंट के आधार पर स्टैगर्ड डिलीवरी चार्ज की शुरुआत की है। कंज्यूमर्स बेंगलुरु में कम वैल्यू के ऑर्डर्स के लिए बेस चार्ज 16 रुपये से लेकर 45 रुपये से ज्यादा तक चुका रहे हैं। इससे पहले कंपनी एक सीमा से ज्यादा के ऑर्डर्स की डिलीवरी फ्री किया करती थी। जोमैटो के प्रवक्ता ने कहा, ‘फूड डिलीवरी के लिए फीस इस सेक्टर की ग्रोथ के अनुसार लगाई गई है।’

 
Have something to say? Post your comment
More National News
12 राज्यों की 57 सीटों पर उपचुनाव का ऐलान, बंगाल-केरल की 7 सीटों पर नहीं होगा मतदान MSP पर गुमराह किया जा रहा है, MSP तो रहेगी ही, कहीं भी उत्पाद बेचने की आजादी भी होगी- PM मोदी काश! मन की बात में आर्थिकी की कहानी को प्रमुखता दी जाती Maha bars, restaurants likely to reopen from Oct first wee राहुल बोले- कृषि कानून किसानों के लिए मौत की सजा, भारत में लोकतंत्र मर चुका है डूगंरपुर हिंसा: 80 घंटे बाद खुला उदयपुर-अहमदाबाद नेशनल हाईवे, जगह-जगह पुलिस तैनात कर्नाटक: कृषि बिलों के खिलाफ किसानों का प्रदर्शन जारी, आज बुलाया गया बंद कृषि बिल के खिलाफ SC में कांग्रेस सांसद टीएन प्रतापन ने दाखिल की याचिका प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज डेनमार्क के प्रधानमंत्री से करेंगे बातचीत PM नरेंद्र मोदी ने शहीद भगत सिंह को किया नमन