Tuesday, February 25, 2020
Follow us on
Haryana

सत्यदेव नारायण आर्य ने ली परेड की सलामी और दिया प्रदेशवासियों को संदेश

January 26, 2020 03:47 PM
अम्बाला शहर स्थित पुलिस लाईन परिसर में 71वां गणतंत्र दिवस समारोह भव्य और शानदार तरीके से मनाया गया। हरियाणा के राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य ने ध्वजारोहण किया, परेड की सलामी ली और प्रदेशवासियों के नाम अपना शुभ संदेश दिया। संदेश में राज्यपाल ने कहा कि चुनौतियों का सामना करते हुए राष्टï्र के नवनिर्माण में हमें एकजुट होकर काम करने की जरूरत है, तभी हम 21वीं सदी में फिर से भारत को विश्व गुरू का दर्जा दिलाने में सफल होंगे। भारत ने बदलते परिवेश में हर क्षेत्र में बेहतरीन उपलब्धियां हासिल करते हुए दुनिया के मानचित्र पर अपनी प्रेरक और अनुकरणीय पहचान बनाई है। इस पहचान को आगे बढ़ाना हम सबकी सांझी जिम्मेदारी है। 
अपने सम्बोधन में राज्यपाल ने कहा कि मुझे गौरव का अनुभव हो रहा है कि मैने आज अम्बाला की पावन भूमि पर तिरंगा फहराया है। यहां 8 मई 1857 को स्वतंत्रता आंदोलन की पहली चिंगारी फूटी थी। देश पर मर मिटने वाले शहीदों के खून से पवित्र हुई इस भूमि को मैं शत्-शत् नमन करता हूं। यहां से उठी चिंगारी से हम 1947 में ब्रिटिश शासन को भी उखाडने में सफल रहे। उन्होंने कहा कि हमारे स्वतंत्रता सेनानियों ने जिस स्वतंत्र और शक्तिशाली व महान भारत के सपने संजोये थे, आजादी के बाद उनको पूरा करना हम सबका कर्तव्य बन गया है। उस समय व्यवस्था के अनुकूल शासन प्रणाली स्थापित करना बहुत बड़ी चुनौती थी। बाबा साहेब डा0 भीम राव अम्बेडकर ने इस चुनौती को स्वीकार किया और भारत के संविधान की रचना की। उनको प्रारूप समिति का अध्यक्ष बनाया गया। बाबा साहेब ने दो वर्ष ग्यारह महीने 28 दिन कड़ी मेहनत करके संविधान की रचना की। हमारा संविधान विश्व का सबसे बड़ा संविधान है।
अपने संदेश में उन्होंने कहा कि वर्ष 2020 को हरियाणा सरकार सुशासन संकल्प वर्ष के रूप में मना रही है। प्रदेश की जनता ने कड़ी मेहनत और सच्ची लग्न से हरियाणा को कईं क्षेत्रों में अग्रणी बना दिया है। सरकार ने प्रशासनिक व्यवस्था को नई तकनीकी से जोड?र हरियाणा के नवनिर्माण में बेहतरीन प्रयास शुरू कर दिये हैं। प्रदेश में पारदर्शी प्रशासन देने की व्यवस्था को प्राथमिकता के आधार पर कार्य रूप में परिणत किया जा रहा है। बदलते परिवेश में प्रदेश में सुदृढ़ कानून व्यवस्था के चलते हरियाणा निरंतर प्रगति कर रहा है। स्कूल, कालेज जाने वाली छात्राओं व अन्य महिलाओं की सुरक्षा के लिये दुर्गा शक्ति रैपिड एक्शन फोर्स का गठन किया गया है। इसके अलावा प्रदेश में 32 महिला थाने में स्थापित किये गये हैं। पुलिस विभाग द्वारा सिटीजन पोर्टल तैयार किया गया है। इस पोर्टल पर 33 प्रकार की सुविधाएं दी जा रही हैं। कोई भी व्यक्ति इस पर शिकायत दर्ज करवा सकता है।
अपनी अभिव्यक्ति में राज्यपाल ने कहा कि किसानो की आय बढ़ाने के उद्देश्य से 81 लाख से अधिक सॉयल हैल्थ कार्ड जारी किये जा चुके हैं। किसानो की समस्याओं को दूर करने के लिये हरियाणा कल्या प्राधिकरण का गठन किया जा चुका है। इतना ही नही फसलों के खराब होने पर दिये जाने वाले मुआवजे की राशि को बढ़ाकर 12 हजार रुपये प्रति एकड़ तक कर दिया गया है। सिंचाई की जरूरतों को पूरा करने के लिये अंतिम छोर तक पानी पंहुचाया गया है। सूक्ष्म सिंचाई योजना बनाने वाला हरियाणा देश का पहला राज्य बन गया है। उन्होंने यह भी कहा कि पंचायती राज प्रणाली को सशक्त और पारदर्शी बनाने के उद्देश्य से साक्षर पंचायतों का गठन किया गया है। ऐसा करने वाला हरियाणा देश का पहला राज्य है। वर्तमान सरकार के कार्यकाल में शहरों का भी कायाकल्प हुआ है। पूरे राज्य में 686 से अधिक अनाधिकृत कालोनियों को नियमित किया गया है। सरकार ने व्यवस्था को तकनीकी से जोड?र प्रदेश के नवनिर्माण के प्रयास किये हैं। नई तकनीकी का यह उपयोग व्यवस्था के लिये परिवर्तनकारी सिद्घ हो रहा है। तकनीकी व्यवस्था से पारदर्शिता और ईमानदारी के साथ पंक्ति में खड़े अंतिम व्यक्ति को योजनाओं का लाभ पंहुचाया जा रहा है। 
उन्होंने अपने संदेश में यह भी कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 2022 के जिस नये भारत की परिकल्पना की है,हरियाणा  सरकार उसे साकार करने की दिशा में आगे बढ़ रही है। प्रदेश में ऑनलाईन सेवाएं शुरू करने से भ्रष्टïाचार पर चोट हुई है। डिजिटल इंडिया विजन को आगे बढ़ाते हुए 38 विभागों की 527 योजनाएं ऑनलाईन की गई हैं। निजी क्षेत्र में रोजगार की विशाल संभावनाओं के दृष्टिïगत रोजगार विभाग हरियाणा द्वारा अब तक करीब 500 रोजगार मेलों का आयोजन किया गया है, जिनके माध्यम से 33716 इच्छुक युवक-युवतियों को निजी क्षेत्र में समायोजित करवाया गया है। हरियाणा ने अपनी स्टार्टअप नीति लागू की है। ईज ऑफ डुईंग बिजनेस में हरियाणा देश में तीसरे स्थान पर और उत्तर भारत में प्रथम स्थान पर आ गया है। प्रधानमंत्री के मेक इन  इंडिया विजन को साकार करने में प्रदेश ने नई उद्यम प्रोत्साहन नीति लागू की है। सरकार ने जनहित को मद्देनजर रखते हुए सामाजिक पैंशन और वृद्घावस्था सम्मान भत्ता योजना के लाभापात्रों की मासिक पैंशन व भत्ता 1 जनवरी 2020 से 2250 रुपये करने का निर्णय लिया है, जिसके दृष्टिïगत लगभग 28 लाख लाभार्थी लाभान्वित होंगे। 
अपने संदेश में उन्होंने यह भी कहा कि स्वच्छ भारत मिशन में भी अहम भूमिका निभाते हुए हरियाणा राज्य खुले में शौचमुक्त हो गया है। ग्रामीण स्वच्छता सर्वेक्षण में हरियाणा पहले स्थान पर है। प्रदेश कैरोसिन मुक्त भी हो गया है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के 2022 तक के हर परिवार को अपना घर मुहैया करवाने के सपने के अनुरूप गरीबों के लिये फ्लैटस और मकान बनाने का कार्य प्रगति पर है। सामाजिक व्यवस्था बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान में भी हरियाणा में उल्लेखनीय प्रगति की है। प्रदेश में लिंगानुपात का आकंड़ा 920 को  पार कर चुका है। प्रधानमंत्री जन-धन योजना, सुरक्षा बीमा योजना, जीवन ज्योति योजना, अटल पेंशन योजना, डाक्टर श्याम प्रसाद मुखर्जी दुर्घटना सहायता योजना, स्टैंडअप इंडिया योजना, प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना इत्यादि योजनाएं तेजी से लागू कर दी गई हैं। सरकार 2022 तक किसानो की आय दोगुना करने के लिये प्रतिबद्घ है। दूग्ध उत्पादन में भी नये रिकॉर्ड स्थापित किये हैं। बदलते परिवेश में ऑटोमोबाईल, आईटी और अन्य उद्योगों का हरियाणा प्रदेश बड़ा केन्द्र बन गया है। आधुनिक शिक्षा के विश्व स्तरीय संस्थान खुल चुके हैं। राज्य में 43 विश्वविद्यालय हैं, जिनमें 21 सरकारी और 22 गैर सरकारी विश्वविद्यालय शामिल हैं। इनमें विश्वकर्मा कौशल विकास विश्वविद्यालय भी शामिल है। राज्य के खिलाडि?ों ने विभिन्न अंतर्राष्टï्रीय खेल प्रतियोगिताओं में दी जा रही सुविधाओं के दृष्टिïगत देश का मान बढ़ाया है।
राज्यपाल ने अपने सम्बोधन में आगे कहा कि हरियाणा ने सांस्कृति मूल्यों को संजोय रखने का बड़ा काम किया है। भारतीय संस्कृति का मूल केन्द्र हरियाणा  प्रदेश है। यहीं कुरुक्षेत्र में भगवान कृष्ण ने अर्जुन को गीता का पावन संदेश दिया था। गीता का ज्ञान विश्व भर में प्रचारित और प्रसारित करने के लिये अंतर्राष्टï्रीय गीता महोत्सव का आयोजन किया जाता है। राज्य में गौ संरक्षण के लिये भी कड़े कानून लागू किये गये हैं। सरस्वती नदी के तटों पर जहां कभी वेदों की रचना हुई थी, उन सारगर्भित संदेशों को फिर से भूमि पर लाने के प्रयास जारी हैं। 
इस मौके पर मुख्य सचिव हरियाणा केशनी आनंद अरोड़ा, विधायक अम्बाला शहर असीम गोयल, डीजीपी हरियाणा मनोज यादव, वरिष्ठ आईएएस जी. अनुपमा, अम्बाला मंडल आयुक्त दिप्ती उमाशंकर, उपायुक्त अशोक कुमार शर्मा, नगर निगम कमीशनर डा0 पार्थ गुप्ता, सीएम फलाईंग आई.जी. राजेन्द्र सिंह, आई.जी. अम्बाला आलोक राय, पुलिस अधीक्षक अभिषेक जोरवाल, आईपीएस पंकज नैन, अतिरिक्त उपायुक्त जगदीप ढांडा, भाजपा जिला प्रधान जगमोहन लाल कुमार, घेल निदेशक एवं भाजपा नेत्री बंतो कटारिया, एसडीएम गौरी मिड्डा, सीजेएम दानिश गुप्ता, डीआईपीआरओ धर्मवीर सिंह, जिला शिक्षा अधिकारी उमा शर्मा, सिविल सर्जन डा0 पूनम जैन, रितेश गोयल, नम्रता गौड, रवि भाठला, गिरीश नागपाल, डा0 प्रेम सहित प्रशासनिक अधिकारी व गणमान्य लोग मौजूद रहे।
बॉक्स
गणतंत्र दिवस के अवसर पर राज्य स्तरीय समारोह में राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य, मुख्य सचिव हरियाणा केशनी आनंद अरोड़ा, विधायक असीम गोयल व उपायुक्त अशोक कुमार शर्मा ने स्वतंत्रता सैनानियों व उनके परिजनों, युद्ध वीरांगनाओं और शहीदों के परिजनों व हिन्दी आंदोलन के सत्याग्रहियों को सम्मानित किया।
जिन स्वतंत्रता सैनानियों व उनके परिजनों और युद्घ वीरांगनाओं को राज्य स्तरीय समारोह में सम्मानित किया गया, उनमें अम्बाला शहर की श्रीमती वीना, बलदेव नगर की श्रीमती पुष्पावती, काजीवाड़ा अम्बाला शहर की श्रीमती जगदीश कौर, हरिमंदिर अम्बाला शहर के रामजीत सिंह, दानीपुर अम्बाला शहर से श्रीमती विद्या देवी, कलाल माजरी अम्बाला शहर से श्रीमती कुलवंत कौर, बादशाही बाग अम्बाला शहर से बिन्द्रा वालिया, गांव मटेडी सेखों से श्री सलिन्द्र सिंह, विराट नगर माडल टाउन से सविन्द्र सिंह, रेलवे रोड अम्बाला शहर की श्रीमती दयावंती, पटेल रोड अम्बाला शहर से त्रिलोचन सिंह, माडल टाउन अम्बाला शहर के राजीव मोहन राय व संजीव मोहन राय, मोहल्ला सोगिंया की श्रीमती कलाश कुमारी, माडल टाउन अम्बाला शहर की निर्मला देवी व सुशीला देवी, बादशाही बाग राजबीर सिंह, आशा सिंह गार्डन अम्बाला शहर से संजीव कुमार छिब्बड, घेल रोड अम्बाला शहर कृष्णावंती तथा गांव खुर्चनपुर से फूलवती, जैन कालेज अम्बाला शहर  से श्रीमती कमलेश, रेलवे रोड अम्बाला शहर से बंत कौर, रणजीत नगर अम्बाला शहर से हरबंस लाल शामिल हैं। इसी प्रकार राज्य स्तरीय समारोह में जिन युद्ध वीरांगनाओं व शहीदों के परिजनों को सम्मानित किया जायेगा उनमें बलदेवनगर अम्बाला शहर की श्रीमती रामलीला रानी, बलदेवनगर की कमलेश कुमारी, जोधपुर गांव की जोगिन्द्र कौर, नन्यौला गांव की गुरनाम कौर, रोजगार्डन बरनाला की कुलदीप कौर, आईटीआई अम्बाला शहर की कंचन दुआ, सैनिक विहार जंडली की जसबीर कौर, सैक्टर 7 अम्बाला शहर की संतोष आहुजा, तेपला से श्रीमती हरप्रीत कौर, गांव गरनाला से जसप्रीत कौर शामिल हैं। इसके अलावा सम्मानित किए गए हिन्दी आंदोलन के सत्याग्रहियों में वेद प्रकाश वेदालंकार, शांति स्वरूप शर्मा के साथ-साथ आपातकाल के पीडि़त भी शामिल हैं।
बॉक्स
राज्यपाल ने इस मौके पर विभिन्न क्षेत्रों में सराहनीय कार्य करने वाले अधिकारियों, कर्मचारियों, स्कूली बच्चों, खेल प्रतियोगिगताओं, शैक्षणिक गतिविधियों व सामाजिक व धार्मिक संस्थाओं के प्रतिनिधियों को भी सम्मानित किया। जिनमें मास्टर रूद्र प्रताप सिंह, निरीक्षक सुरेन्द्र, प्रभारी यातायात अम्बाला, ई.एस.आई. करनैल सिंह, ई.एच.सी. अनिल कुमार, ई.ए.आई सुल्तान सिंह, ई.एच.सी. विपिन कुमार, ई.एच.सी. जगतार सिंह, ई.एच.सी. धर्मवीर सिंह, कुमारी मनप्रीत कौर, कल्पना, कुमारी कोमल, कुमारी रेखा, कुमारी मुस्कान, कुमारी कीर्ति, कुमारी दिव्यांशी, विकास सिंगला, रितेश गोयल, नरेश अग्रवाल, कमलप्रीत सभ्रवाल, सुमन भटनागर, डा0 पुनीत बी0 सिंह, सन्दीप सचदेवा आदि शामिल हैं।
बॉक्स
राज्य स्तरीय समारोह में हरियाणा पुलिस अकादमी मधुबन महिला की टुकड़ी ने प्रथम, एनसीसी लडके की टुकड़ी ने दूसरा व जिला पुलिस की टुकड़ी ने तीसरा स्थान प्राप्त किया। विभिन्न विभागों की उपलब्धियों पर आधारित 11 झांकिया निकाली गई। जिसमें जिला आयुष विभाग की झांकी ने पहला, कृषि विभाग की झांकी ने दूसरा व महिला एवं बाल विकास की झांकी ने तीसरा स्थान प्राप्त किया। इन्हें भी राज्यपाल द्वारा सम्मानित किया गया। 
बॉक्स
राज्यपाल ने इस राज्य स्तरीय समरोह में स्कूली छात्राओं द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रमों व पुलिस विभाग द्वारा मास पीटी सहित अन्य सभी कार्यक्रमों की भूरि-भूरि प्रशंसा की और सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति के साथ-साथ स्कूली छात्राओं द्वारा अन्य कार्यक्रमों के लिए उन्हें प्रोत्साहित करते हुए 10 लाख रूपये देने की घोषणा की वहीं सभी शिक्षण संस्थानों व स्कूलों में सोमवार को छुट्टी की घोषणा की। इस मौके पर डीजीपी मनोज यादव ने भी पुलिस टुकडियों द्वारा दी गई प्रस्तुतियों के लिए उनकी सराहना करते हुए उन्हें भी यूनिट में आमद दर्ज कराने उपरांत तीन दिन का अवकाश देने की घोषणा की। 
बॉक्स
राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य ने सबसे पहले पुलिस लाईन परिसर में स्थित शहीद स्मारक पर पुष्पचक्र अर्पित करके शहीदों को श्रद्घांजलि दी। इस मौके पर भी प्रदेश के आला अधिकारी और जिला प्रशासन के अधिकारी उपस्थित थे। जिला प्रशासन की ओर से राज्यपाल को उपायुक्त द्वारा अध्यात्मवाद की प्रतिमूति श्रीगणेश की मूर्ति और ध्वजारोहण का चित्र भेंट किया गया। इस अवसर पर राज्यपाल ने अमन और शांति के प्रतीक गुब्बारों को हवा में छोड?र आपसी सौहार्द और ऊंचाईयों को छूने का संदेश भी दिया।
Have something to say? Post your comment
 
More Haryana News
HARYANA-डीसी के पास डीएम की पावर पर संशय, 53 साल से नोटिफिकेशन नहींप्रदेश में 3 साल से न्याय प्रशासन व मुख्य सचिव के कार्यालयों में घूम रही फाइल हरियाणा के ट्रम्प गांव में घर-घर बन गए सुलभ शौचालय, अब लोगों का कहना - अगर ट्रम्प गांव में आ जाएं तो शायद इनमें पानी भी आ जाए HC: No general quota job for reserved category candidate availing age benefit Murthal eateries sans approval: CPCB 4 CMs, Key Ministers at Trump Banquet हरियाणा विधानसभा के बजट सत्र में राज्यपाल के अभिभाषण पर चर्चा हुई जेजेपी की युवा फौज होगी और विशाल, डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने दिए मूलमंत्र GURGAON-मार्केट से मास्क गायब, 5 रुपये की चीज 20 में भी नहीं मिल रही GURGAON-बीजेपी सांसद की कंपनी सहित 5 बिल्डरों पर FIR• GURGAON-Potholed roads keep the city on its toes