Tuesday, February 25, 2020
Follow us on
Haryana

हर तरह के ऑनलाइन फ्रॉड का केंद्र मेवात: ओएलएक्स जैसी साइट्स पर फौजी बन बिक्री के लिए दिखाते हैं वाहन, बुलाकर अरावली पर लूट लेते हैं

January 22, 2020 06:41 AM

DAINIK BHASKAR COURTESY JAN 22

हर तरह के ऑनलाइन फ्रॉड का केंद्र मेवात: ओएलएक्स जैसी साइट्स पर फौजी बन बिक्री के लिए दिखाते हैं वाहन, बुलाकर अरावली पर लूट लेते हैं
भास्कर न्यूज | पानीपत
दिन पर दिन ऑनलाइन फ्रॉड की घटनाएं बढ़ रही हैं। हर राेज अलग-अलग तरीके से लोग ठगे जा रहे हैं। इस अपराध की जड़ तलाशते हुए हम पहुंचे गुड़गांव के साइबर थाने। यहां सालभर में दर्ज 8700 मामलों ने चौंका दिया। पता चला कि इन दिनों ठगों ने ओएलएक्स जैसी साइट्स को जरिया बना रखा है। 60 % केस की जांच हरियाणा व राजस्थान के मेवात में घूम रही थी तो हमने भी उसी ओर रुख किया। यहां फिशिंग आम है। एक मछली पालन और दूसरी ऑनलाइन धोखाधड़ी (phishing)। ठगों के गांव तो पहचान में आ गए, पर इन तक पहुंचना मुश्किल था। पुलिस भी बिना फूलप्रूफ प्लान इन पर हाथ नहीं डालती। ये पुलिसवालों पर हमला कर देते हैं। कई बार हमें भी लौटना पड़ा। एक माह में आठ प्रयास के बाद हम इस तरह की गैंग तक पहंुच पाए। तीन दिन उनके साथ रहकर जाना कि कैसे आपके हर ट्रांजेक्शन पर उनकी नजर है। कैसे ये आपके दिमाग से खेलते हैं और आजकल कैसे फौजी बनकर आपको लूट रहे हैं। आइए जानते हैं उन इलाकों और इस मायाजाल के बारे में...
यह फोटो तब की है जब हमने (ठग गिरोह के साथ रिपोर्टर) गैंग में शामिल हो खेल को समझा। कैसे वो ठगी करते हैं। खेत में बैठे ये सभी युवा फोन और लैपटॉप से यही काम कर रहे हैं।

रिपोर्टर: ओएलएक्स पर कांड कैसे करो सो?
मास्टरमाइंड: जनाब..ओएलएक्स ही थोड़े है! ऐसी जितनी साइटें हैं सब पर गाड़ी का फोटो डालें हैं। रेट मार्केट से कम रखें, जो फोन आवें हैं उनमें से हम देखे हैं किसका शिकार करें। देखे हैं के आदमी बोले कैसे है। कुछ से खाते में पैसे डलवा लेवे हैं और बाकि को पास की लोकेशन पर बुलावे हैं। वहीं से हमारा बंदा उसे लेके आवे है। आगे दो-तीन आदमी और साथ हो चले हैं। अरावली जैसी सुनसान जगह ले जाकर कट्‌टा दिखाया, दो-चार जड़े नहीं के एटीएम ही थमा देवे है। सारे पैसे निकाल ले हैं। पीटते हैं और अर्धनग्न करके फोटो खींच लेवें और भगा देते हैं। इतने पैसे देवे हैं के लौट सके। तू रुक जरा तुझसे भी जल्द करवाते हैं कांड।
रिपोर्टर: यो फोटो किसकी गाड़ी की डालो हो?
मास्टरमाइंड: शहर की सारी गाडी अपनी हैं। किसी की भी मिल जावे उसका फोटो लिया, नंबर प्लेट या तो दिखावें नहीं या बदल देवें हैं। पता भी नहीं चले के उसकी गाड़ी का फोटो कब लिया। जिस फोन से बात करें हैं वो और सिम दोनों ही फर्जी होवें हैं। यहां तो सब कुछ फर्जी मिल जावे है। आदमी भी क्राइम के लिए किराए पर मिल जाए हैं,जैसे तू मिल गया।
रिपोर्टर: भाई फौजी के फोटो का प्रयोग क्यों करें हैं।
मास्टरमाइंड: फौजी को ठगना और उसके नाम पर ठगना दोनों ही आसान होवे है। आम आदमी के झांसे में लोग इतने जल्दी नहीं आवें। फोटो फेसबुक से उठा लेवें और अपने पास आर्मी - पुलिस वालों के नकली कागज तैयार होवें हैं। तू भी सीख जावेगा।
रिपोर्टर: अपना एरिया बदनाम है फिर भी लोग कैसे जाल में फंस जावें हैं?
मास्टरमाइंड: यही तो खेल होवे। जो लोकेशन देवें वो सोहना, पलवल, फरीदाबाद, गुड़गांव की होवे है। किसी को शक ना होवे है। -विस्तार दूसरे हरियाणा पेज पर
हरियाणा में इंटरनेट पर धोखाधड़ी तेजी से बढ़ रही है। अकेले साइबर सिटी गुड़गांव में ही एक साल में करीब 8700 मामले दर्ज किए गए हैं। पहली बार भास्कर आपको बता रहा है कि ठगों की राजधानी कहां है और ये कैसे काम करते हैं। जहां पुलिस भी बिना तैयारी नहीं जाती, वहां 3 दिन रुककर हमने की इन्वेस्टिगेशन...
ठगों के गढ़ से भास्कर
स्टिंग
धाेखे की खेती
यहां इसलिए बैठे ताकि सर्विलांस में खुले मैदान की लोकेशन आए, रोज यहीं दबा जाते हैं फोन
ठगी के तरीके जो दो दर्जन से अधिक मामलों के मास्टरमाइंड ने बताए
दर्जनों में से छांटते हैं शिकार, कुछ लोग पैसे खाते में डालते हैं, बहुतों को बुलाकर लूटते हैं
मेवात के कुछ गांवों में ठगी बड़ा उद्योग बन चुकी है। पुलिस रिकॉर्ड भी इसकी पुष्टि करता है। पर वहां शराफत से जीवन बिता रहे आम नागरिक भी रहते हैं। मेवात के अन्य इलाकों के ज्यादातर लोगों का भी इससे लेना-देना नहीं है।
30 दिन में 8 प्रयासों के बाद गिरोह तक पहुंचे, खेतों में देखे फ्रॉड के नए-नए तरीके
असली फौजी की नकली आईडी
खौफ ऐसा कि कश्मीर जैसे बख्तरबंद वाहन में नूंह पुलिस
शीशे के चारों तरफ जाली से बंद यह पीसीआर है नूंह के बिछोर थाने की। क्योंकि गांवों में जाने पर लोग पुलिस पर कश्मीर की तरह पथराव करते हैं।
अपील से समझिए किस पैमाने पर हो रही है ठगी
नूंह पुलिस ने लोगों को लूट से बचाने के लिए बोर्ड लगाया तो ग्रामीणों ने इसे अपमान बताकर गिरा दिया। अब यह बोर्ड थाने में दीवार के पास रख दिया है। यह ठगों की धमक बताने के लिए काफी है।
वक्त के साथ बदल देते हैं तरीके
शुरुआत: जामताड़ा की तरह फर्जी ओटीपी से
फिलहाल: ओएलएक्स पर फौजी बन कर
ऐसा भी.. रुकी इंश्योरेंस पॉलिसी के नाम पर
बैंकों के रुके हुए लोन के नाम पर
जस्ट डायल से नंबर लेकर
हैक कर खातों से एक साथ रकम निकाल कर
आधार लिंक व पेटीएम केवाईसी के नाम पर
मैसेज नहीं आ रहे तो खाता हैक.. पढ़ें दूसरे हरियाणा पेज पर
देशभर को ठग रहे
पंजाब
दिल्ली
हरियाणा
यूपी
राजस्थान
एमपी
कर्नाटक
तमिलनाडु
केरल
नूंह, हथीन और राजस्थान के सीमाई क्षेत्र के थानों में दर्ज 206 शिकायतों में हरियाणा से 45, राजस्थान से 32, बेंगलुरु से 12, तमिलनाडु से 14, केरल से 8, पश्चिम बंगाल से 11, एमपी से 7, यूपी से 15, पंजाब से 18, दिल्ली से 6, झारखंड से 15 और बिहार से 23 पीड़ित हंै। शिकायतें बेहद कम दर्ज होती हैं, वारदात कई गुना ज्यादा होती हैं।
मेवात में यह क्षेत्र अपराध का...
नूंह के पुन्हाना के 10 गांव इसका केंद्र हैं जिनमें इंदाना, नई, बिछोर, तिरवाडा और बासेडा प्रमुख हैं। हथीन के नूंह से सटे हुए 4 गांव, इसी से सटे राजस्थान के भरतपुर के जुरहरा थाने के गांव, राजस्थान के अलवर का मेवात क्षेत्र शामिल है। पहले यहां सोने की फर्जी ईंट के नाम पर ठगी होती थी। समय बदला और लोग ऐसा फ्रॉड करने लगे।
िबहार
प. बंगाल
झारखंड

Have something to say? Post your comment
 
More Haryana News
HARYANA-डीसी के पास डीएम की पावर पर संशय, 53 साल से नोटिफिकेशन नहींप्रदेश में 3 साल से न्याय प्रशासन व मुख्य सचिव के कार्यालयों में घूम रही फाइल हरियाणा के ट्रम्प गांव में घर-घर बन गए सुलभ शौचालय, अब लोगों का कहना - अगर ट्रम्प गांव में आ जाएं तो शायद इनमें पानी भी आ जाए HC: No general quota job for reserved category candidate availing age benefit Murthal eateries sans approval: CPCB 4 CMs, Key Ministers at Trump Banquet हरियाणा विधानसभा के बजट सत्र में राज्यपाल के अभिभाषण पर चर्चा हुई जेजेपी की युवा फौज होगी और विशाल, डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने दिए मूलमंत्र GURGAON-मार्केट से मास्क गायब, 5 रुपये की चीज 20 में भी नहीं मिल रही GURGAON-बीजेपी सांसद की कंपनी सहित 5 बिल्डरों पर FIR• GURGAON-Potholed roads keep the city on its toes