Tuesday, July 14, 2020
Follow us on
BREAKING NEWS
सचिन पायलट और कुछ मंत्री दिग्भ्रमित हो गए हैं- रणदीप सुरजेवालासचिन पायलट राजस्थान मंत्रिमंडल से बर्खास्त, प्रदेश अध्यक्ष के पद से भी हटाए गएराजस्थान: सचिन पायलट प्रदेश अध्यक्ष के पद से हटाए गए, गोविंद सिंह डोटासरा नए प्रदेश अध्यक्षपीकेआर जैन पब्लिक स्कूल की बारहवीं कक्षा के उत्तम परिणाम के उपलक्ष में विद्यालय द्वारा बधाई समारोह का आयोजन पटना: बिहार बीजेपी के 75 नेता-कार्यकर्ता कोरोना पॉजिटिवयूपी: बाराबंकी में एक ही परिवार के 4 लोगों की संदिग्ध हालत में मौतजयपुर: विधायक दल की बैठक से गायब सभी विधायकों को कांग्रेस ने जारी किया नोटिसCBSE Class 10th: 10वीं के रिजल्ट की डेट घोष‍ित, जानिए कब होगा ऐलान
Niyalya se

निर्भया केस: कोर्ट ने जारी किया नया डेथ वारंट, अब 1 फरवरी को होगी फांसी

January 17, 2020 04:55 PM

निर्भया गैंगरेप केस के चारों दोषियों का नया डेथ वारंट कोर्ट ने जारी कर दिया है. चारों दोषियों को अब 1 फरवरी सुबह 6 बजे फांसी पर लटकाया जाएगा. इससे पहले मामले में दोषी मुकेश की दया याचिका को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने खारिज कर दिया. बता दें कि पटियाला हाउस कोर्ट ने चारों दोषियों को 22 जनवरी सुबह 7 बजे फांसी पर लटकाने की तारीख तय की थी. लेकिन इसके बाद दोषी मुकेश सिंह कोर्ट पहुंच गया था.

वहीं, इस मामले में नया डेथ वारंट जारी होने के बाद निर्भया की मां आशा देवी ने कहा कि जब तक दोषियों को फांसी पर नहीं लटका दिया जाता है, तब तक मेरी बेटी को न्याय नहीं मिलेगा. मुझको पिछले सात साल से तारीख पर तारीख दी जा रही है. उन्होंने कहा कि हमारा सिस्टम ऐसा है कि जहां दोषी की सुनी जाती है. हर जगह निर्भया के गुनहगारों का ही मानवाधिकार देखा जा रहा है. हमारा मानवाधिकार कोई नहीं देख रहा है.

शुक्रवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने निर्भया कांड के दोषी मुकेश की दया याचिका खारिज कर दी थी. गुरुवार रात गृह मंत्रालय ने राष्ट्रपति कोविंद के पास दया याचिका की फाइल भेजी थी और उसे खारिज करने की सिफारिश की थी. अदालत निर्भया के चारों दोषियों को फांसी की सजा पहले ही सुना चुका है.

आपको बता दें कि 16 दिसंबर 2012 को हुए निर्भया कांड ने पूरे देश को हिलाकर रख दिया था. 23 वर्षीय निर्भया के साथ चलती बस में गैंगरेप किया गया था और उसकी बुरी तरफ पिटाई की थी. बाद में अस्पताल में निर्भया की मौत हो गई थी. इसके बाद दिल्ली पुलिस ने मामले में 6 लोगों को गिरफ्तार किया था, जिनमें से एक नाबालिग था. नाबालिग को किशोर अदालत के समक्ष प्रस्तुत किया गया, जबकि राम सिंह ने तिहाड़ जेल मेंफांसी लगाकर खुदकुशी कर ली थी. इसके अलावा बाकी 4 दोषियों को फांसी की सजा सुनाई गई है.

 

Have something to say? Post your comment
More Niyalya se News