Tuesday, February 25, 2020
Follow us on
BREAKING NEWS
दिल्ली हिंसा में अबतक 5 की मौत, मौजपुर और ब्रह्मपुरी में फिर से पत्थरबाजी शुरूदिल्लीः राष्ट्रपति ट्रंप आज हैदराबाद हाउस में PM मोदी से वार्ता करेंगेदिल्लीः राष्ट्रपति ट्रंप आज राजघाट पर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को श्रद्धा सुमन अर्पित करेंगेदिल्लीः जाफराबाद और मौजपुर-बाबरपुर समेत 5 मेट्रो स्टेशन बंद किए गएआज की बोर्ड परीक्षा के लिए नॉर्थ ईस्ट दिल्ली में कोई केंद्र नहीं: CBSEदिल्ली में हिंसाः पुलिस का फ्लैगमार्च, नॉर्थ ईस्ट दिल्ली में धारा 144 लागूदिल्लीः अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप शाम को 5 बजे करेंगे प्रेस कॉन्फ्रेंसदिल्ली में हिंसाः CM अरविंद केजरीवाल ने विधायकों, अफसरों की आपात बैठक बुलाई
Niyalya se

पंचकूला हिंसा मामले में पुलिस कोर्ट में नहीं दे पाई सबूत, 10 आरोपी बरी

January 17, 2020 05:51 AM


COURTESY DAINIK BHASKAR JAN 17

फरीदाबाद से मंगाई फायर ब्रिगेड की गाड़ी अाग लगाने के बाद पुलिस ने पकड़े थे आरोपी

25 अगस्त 2017 को पंचकूला स्थित स्पेशल सीबीआई कोर्ट से जब डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को साध्वी यौन शोषण मामले में दोषी करार दिया था, तो उस दौरान पंचकूला में हिंसा फैल गई थी।
मीडिया, फायर ब्रिगेड सहित अन्य की गाड़ियों को आग लगा दी गई थी। इस दौरान फायर ब्रिगेड की जो गाड़ी मीडिया की गाड़ियों में लगी आग को बुझाने की कोशिश कर रही थी, उसे ही आग के हवाले कर दिया था। जिसके बाद पुलिस ने फायर ब्रिगेड कर्मी सुरेंद्र की शिकायत पर मामला दर्ज कर 10 आरोपियों को पकड़ा था। जिसके चलते अब इसी केस में पंचकूला कोर्ट ने अपना फैसला सुनाते हुए 10 आरोपियों को बरी कर दिया है। असल में पंचकूला पुलिस ने इस केस में जिन आरोपियों को पकड़ा था, पुलिस उनके खिलाफ कोर्ट में पक्के सबूत पेश नहीं कर पाई है। जिसके कारण कोर्ट ने सबूतों के अभाव में आरोपियों को बरी किया है।
ये है पूरा मामला : असल में 25 अगस्त को यहां हैफेड चौंक के पास फरीदाबाद से आई फायर ब्रिगेड की गाड़ी को आग लगा दी गई थी। ये फायर टेंडर, उस दौरान मीडिया की गाडियों में लगी आग को बुझा रही थी। इस गाड़ी में मौजूद ड्राइवर सुरेंद्र कुमार को पीटा गया था और सामान सहित इस गाड़ी को भी आग के हवाले कर दिया गया था। इस दौरान गाड़ी में 5 जोडे़ ममबूट, 5 हेलमेट, कंबल समेत अन्य सामान भी जल गया था।
साध्वी यौन शोषण मामले में डेरा प्रमुख राम रहीम को दोषी करार देने पर फैलाई थी हिंसा
25 अगस्त 2017 को पुलिस ने इनको किया था गिरफ्तार
पटियाला के रहने वाले दलबीर सिंह, अमृत पाल, गुरिंदर सिंह, भगवंत सिंह, देवी दयाल, नजीर सिंह, संगरूर के रहने वाले जगजीत सिंह, जगतार सिंह, गंगा नगर के रहने वाले कसतूरी लाल, रोहतक के रहने वाले मधुर हंस पर आईपीसी की धारा 148,149,188,435,307 के मामला दर्ज किया गया था। पुलिस ने धारा 307 की धारा को केस रजिस्टर्ड करने के बाद दर्ज किया था। पंचकूला की कोर्ट ने वीरवार को इन आरोपियों को बरी किया है।

Have something to say? Post your comment
 
More Niyalya se News
Legal notice to excise dept for terminating bottling licence कश्मीर मुक्ति-मुस्लिम मुक्ति के नारे लगाने वाली लड़की 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजी गई नागपुर की एक कोर्ट से देवेंद्र फडणवीस को 15000 रुपये के निजी मुचलके पर जमानत उपहार अग्निकांड: सुप्रीम कोर्ट ने पीड़ितों की ओर से दाखिल क्यूरेटिव पिटीशन को खारिज किया अलॉटी का रिफंड नहीं दिए जाने पर कोर्ट ने कहा- जब तक रुपए नहीं देते तब तक जेल में रखोकोर्ट ने मामले की अगली सुनवाई 25 मार्च तय की दिल्ली: साकेत कोर्ट ने JNU छात्र शरजील इमाम को 3 मार्च तक न्यायिक हिरासत में भेजा जजाें की नियुक्ति की सिफारिशाें पर सरकार 127 ताे काॅलेजियम 119 दिन में लेती है फैसलाकेंद्र सरकार ने सुप्रीम काेर्ट काे दी जानकारी निर्भया केस में पटियाला कोर्ट ने 3 मार्च सुबह 6 बजे के लिए नया डेथ वारंट किया जारी Govt staffers to get benefit of tenure in aided schools HC Says It Will Be Included In ACP And Pension Calculation Peaceful CAA opposers not ‘traitors, anti-nationals’: HC