Thursday, April 02, 2020
Follow us on
BREAKING NEWS
चंड़ीगढ़: ट्राईसिटी में कोरोना पॉजिटिव की संख्या पहुंची 30, दस महीने की बच्ची भी हुई कोरोना से संक्रमितराज्य सरकार ने 15 अप्रैल, 2020 से सरसों की और 20 अप्रैल, 2020 से गेहूं की खरीद शुरू करने का फैसला किया19वीं सदी के गृहस्थ-योगी योगेश्वर श्री रामलाल महाप्रभु जीगृह मंत्रालय ने 960 विदेशियों को किया ब्लैक लिस्ट और रद्द किया उनका वीजाकोरोना:चंड़ीगढ़ स्वास्थ्य विभाग ने बुलेटिन जारी कियाऑटो, ई-रिक्शा, आरटीवी, टैक्सी चलाने वालों के अकाउंट में दिल्ली सरकार देगी 5000 रुपए: सीएम केजरीवालहरियाणा कोरोना रिलीफ़ फ़ंड में सरकारी कर्मचारियों द्वारा योगदान देने की समयावधि 4 अप्रैल, 2020 तक बढ़ा दी राज्यमंत्री अनूप धानक ने क्षेत्र को सैनिटाइज करने के लिए 11 ट्रैक्टरों को किया रवाना
Haryana

सारे मुसलमान भी हिंदू ही हैं

December 27, 2019 03:30 PM

डॉ. वेदप्रताप वैदिक

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक श्री मोहन भागवत ने आज वही बात खुले-आम कह दी है, जो मैं बरसों से कहता रहा हूं। यह वह बात है, जिस पर मैं गहन चर्चा विगत संघ-प्रमुख गुरु गोलवलकर, देवरसजी, रज्जू भय्या और सुदर्शनजी से भी करता रहा हूं। मोहनजी ने कहा है कि जिसका भी जन्म भारत में हुआ है, वह हिंदू है। चाहे वह किसी भी उपासना पद्धति को मानता या न मानता हो याने वह मुसलमान, ईसाई, पारसी, यहूदी, बौद्ध, जैन, आर्यसमाजी, नास्तिक, कम्युनिस्ट आदि कुछ भी हो सकता है। वह व्यक्ति यदि भारत को अपनी मातृभूमि मानता है तो वह भारतमाता का पुत्र है। वह हिंदू है। दूसरे शब्दों में भागवत ने हिंदू होने की सावरकर की दूसरी शर्त को उड़ा दिया है। सावरकर उसी को हिंदू मानते थे, जो व्यक्ति भारत को अपनी पितृभूमि और पुण्यभूमि, दोनों मानता हो। सावरकर की पुण्यभूमि वाली शर्त का महत्व उस समय बहुत ज्यादा हो गया था, जब मुस्लिम लीग का असर जोरों पर था और खिलाफत का आंदोलन चल पड़ा था। भारत के मुस्लिम लीगी नेताओं की अंतिम इच्छा होती थी कि उनके मरने पर उन्हें मक्का-मदीना में दफन किया जाए। अब तो कोई पाकिस्तानी नेता भी यह दावा नहीं करता। भारत-विभाजन के बाद दोनों देशों के मुसलमान लोगों में काफी अंतर्दष्टि पैदा हो गई है। देश-काल बदल गया है। इस दृष्टि से मोहन भागवत का यह दृष्टिकोण आधुनिक है और तर्क संगत है। संघ के प्रमुख ‘हिंदू’ शब्द को सारे 130 करोड़ भारतीयों के लिए स्वीकार कर रहे हैं, यह उनकी बड़ी उदारता है, क्योंकि यह शब्द भारत के आर्य-शास्त्रों में तो मैंने कहीं पढ़ा नहीं। ‘हिंदू’ शब्द हमें विदेशी मुसलमानों ने ही दिया है। सिंधु नदी के इस पार रहनेवाला हर इसांन हिंदू कहलाया। इस दृष्टि से पाकिस्तान और बांग्लादेश के भी सभी नगारिक हिंदू ही है। मेरे कुछ साथी पठान प्रोफेसरों ने 50 साल पहले काबुल में मुझे बताया था कि अफगान लोग भी हिंदू ही हैं, क्योंकि वे ‘हिंदूकुश’ पर्वत से फैले हैं। फारसी में कुश का अर्थ मरना या मारना ही नहीं है। इसका अर्थ फूटना भी है। आर्य लोग अफगानिस्तान (आर्याना) से फूटकर ही सारी दुनिया में फैले हैं। मोहनजी के इस बयान से उन मुसलमानों को थोड़ी सतही राहत मिलेगी, जो नए नागरिकता कानून से घायल महसूस कर रहे हैं।

Have something to say? Post your comment
 
More Haryana News
राज्य सरकार ने 15 अप्रैल, 2020 से सरसों की और 20 अप्रैल, 2020 से गेहूं की खरीद शुरू करने का फैसला किया हरियाणा कोरोना रिलीफ़ फ़ंड में सरकारी कर्मचारियों द्वारा योगदान देने की समयावधि 4 अप्रैल, 2020 तक बढ़ा दी
राज्यमंत्री अनूप धानक ने क्षेत्र को सैनिटाइज करने के लिए 11 ट्रैक्टरों को किया रवाना
गरीबों को एक हजार प्रतिमाह दिया जाएगा:मनोहर लाल, हरियाणा के मुख्यमंत्री
दिग्विजय चौटाला के नेतृत्व में जेजेपी ने बनाई टीम, सभी जिलों में हेल्पलाइन नम्बर जारी किये कोरोना:हरियाणा में 1224 पहुँची तबलीगियों की संख्या राज्य सरकार आज से प्रदेश में टेली-मेडिसिन सेवा शुरू करने जा रही है:मनोहर लाल, हरियाणा के सीएम हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने आज 5 बजे प्रदेश की जनता को करेगें संबोधित हरियाणा पुलिस के 63 सब-इंस्पेक्टरों को मिली तरक्की कोरोना:हरियाणा में तब्लीग़ियों की संख्या बढ़ कर 927 हुई जिनमें 107 विदेशी है:विज