Friday, September 25, 2020
Follow us on
Delhi

जामिया के छात्रों को मिला JNU का साथ, दिल्ली पुलिस मुख्यालय के बाहर नारेबाजी

December 15, 2019 11:12 PM

जामिया इलाके में रविवार को हिंसक प्रदर्शन हुआ. जिसके बाद पुलिस ने मौके पर पहुंचकर प्रदर्शनकारियों को खदेड़ा. बाद में पुलिसकर्मियों ने अराजक तत्वों के जामिया मिलिया विश्वविद्यालय में घुसे होने के संदेह पर कैंपस से सभी छात्रों को बाहर निकाल दिया. हालांकि विश्वविद्यालय प्रशासन और छात्रों का आरोप है कि पुलिस ने उनके साथ बर्बरता की. जामिया प्रशासन का आरोप है कि पुलिस, कैंपस के अंदर घुस गई और छात्रों व वहां काम करने वाले स्टाफ को पीटा.

रविवार रात नौ बजे के करीब सभी छात्र और विश्वविद्यालय प्रशासन के लोग दिल्ली के आईटीओ स्थित पुलिस मुख्यालय पहुंच गए और पुलिस के कथित क्रूर एक्शन के खिलाफ प्रदर्शन करने लगे. 

इससे पहले जामिया मिलिया इस्लामिया (JMI) के छात्रों ने सभी दिल्लीवासियों और अन्य छात्रों से दिल्ली पुलिस मुख्यालय के बाहर रात 9 बजे जमा होने की अपील की थी. वहीं जेएनयू के छात्रों से रात 8.30 बजे साबरमती ढाबा के पास इकट्ठा होने को कहा था.

जामिया इलाके के होली फैमिली अस्पताल में 11 घायल छात्रों को इलाज के लिए लाया गया है. वहीं 24 छात्रों को हल्की चोटें आई हैं. जबकि हिंसक प्रदर्शन को रोकने के दौरान 6 पुलिसकर्मी भी घायल हुए हैं. 

अन्य राज्यों में भी प्रदर्शन जारी

नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ दिल्ली के अलावा पश्चिम बंगाल, पटना, बैंगलोर, गुवाहटी, उत्तराखंड और अलीगढ़ में भी पूरे दिन प्रदर्शन जारी रहा.

पश्चिम बंगाल के विभिन्न हिस्सों में रविवार को लगातार तीसरे दिन विरोध प्रदर्शन को देखते हुए राज्य सरकार ने प्रदेश के छह जिलों में इंटरनेट सेवा पर रोक लगा दी है.

वहीं यूपी के अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में भी रविवार शाम छात्रों ने जबरदस्त हंगामा किया. पुलिस ने उन्हें रोकने के लिए लाठीचार्ज किया. साथ ही आंसू गैस का भी इस्तेमाल किया. हालात के मद्देनजर विश्वविद्यालय, 5 जनवरी तक के लिए बंद कर दिया गया है.वहीं इंटरनेट सेवा 16 दिसंबर की रात 10 बजे तक के लिए बंद कर दी गई है.

रविवार शाम जामिया इलाके में हिंसक हो गया CAA का विरोध प्रदर्शन

नागरिकता संशोधन कानून पर देश की राजधानी दिल्ली के जामिया इलाके में एक बार फिर से हिंसा हुई. रविवार शाम जामिया में प्रदर्शन काफी उग्र हो गया. पुलिस के मुताबिक प्रदर्शनकारियों ने कई बसों में आग लगा दी. आग बुझाने के लिए दमकल की 4 गाड़ियां मौके पर पहुंची थीं. बसों में लगी आग बुझाने के दौरान ही प्रदर्शनकारियों ने गाड़ियों पर हमला कर दिया, जिसमें एक फायरमैन को काफी चोटें आई हैं. जामिया की लाइब्रेरी में भी तोड़-फोड़ की गई है. कुछ देर अराजकता की स्थिति रहने के बाद पुलिस ने अब इलाके में फ्लैग मार्च किया है. अब हालात नियंत्रण में है. इलाके में भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है. डीसीपी चिन्मय बिस्वाल ने कहा है कि स्थिति अब नियंत्रण में है.

प्रदर्शनकारियों ने बसों में लगाई आग

इससे पहले तोड़ फोड़, नोएडा से न्यूफ्रेंड्स कॉलोनी की तरफ आ रही बसों में की गई. कुछ सरकारी बसों में यात्री बैठे हुए थे, तभी अचानक भीड़ ने लाठी-डंडों और पत्थरों से बस पर हमला कर दिया. कई बसों और बाइकों में आग लगा दी. जिसके बाद बाहर खड़े राहगीर भी मौके से भागते नजर आए. प्रदर्शन दिल्ली के ओखला, जामिया और कालिंदी कुंज वाले इलाके में हुआ. हिंसक झड़प में 6 पुलिसकर्मी घायल हुए हैं.

Have something to say? Post your comment
More Delhi News
Key gap in antigen testing protocol prompts rethink Key gap in antigen testing protocol prompts rethink दिल्ली: उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया को कोरोना के बाद हुआ डेंगू, मैक्स अस्पताल किया शिफ्ट राज्यसभा अनिश्चितकाल के लिए स्थगित, सत्र में पास हुए 25 बिल दिल्लीः द्वारका में गैस स्टेशन पर गैस भरने के दौरान सिलेंडर में धमाका, 2 घायल दिल्लीः प्राइवेट अस्पतालों में 80% बेड कोरोना मरीजों के लिए रिजर्व करने के फैसले पर रोक राज्यसभा के उपसभापति का ऐलान- सांसदों के बर्ताव के खिलाफ एक दिन का करेंगे उपवास राज्यसभा में कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद बोले- सस्पेंड सांसदों को किया जाए बहाल Tracking China’s footprint in Delhi’s markets कृषि विधेयक पर राज्यसभा में हंगामा, उपसभापति से बिल छीनने की कोशिश, सांसदों ने माइक तोड़े