Friday, January 17, 2020
Follow us on
BREAKING NEWS
गुजरात: सूरत में एक हीरा फैक्ट्री से करीब 2 करोड़ रुपए के हीरों की चोरीराजकोट वन-डे: भारत ने 36 रन से जीता मैच, 304 पर सिमट गई पूरी ऑस्ट्रेलियाई टीमहरियाणा पुलिस विभाग में हुए नियुक्ति एवं तबादलेचोरों के गिरोह का भंडाफोड़, चोरी किए गए 50 लाख कीमत के जूतों के 564 कार्टन बरामदहरियाणा सरकार ने एक एचसीएस अधिकारी का किया तबादलाहरियाणा के रोजगार विभाग द्वारा 19 जनवरी को हिसार के प्रांगण में एक रोजगार मेले का आयोजन किया जाएगाहरियाणा प्रवेश के लिए आगामी 29 से 31 जनवरी तक विभिन्न खेलों की ट्रॉयल होगीनिल विज ने कहा राज्य के सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों तथा जिला अस्पतालों में तैनात चिकित्सकों तथा अन्य सुरक्षा प्रबन्धों के लिए आउटसोर्सिंग आधार पर कुल 1652 होमगार्ड जवानों की भर्ती की जाएगी
Niyalya se

इंसाफ अगर बदले में तब्दील हुआ तो अपना चरित्र खाे देगा: चीफ जस्टिस हैदराबाद एनकाउंटर के अगले दिन चीफ जस्टिस की टिप्पणी...

December 08, 2019 05:34 AM

COURTESY DAINIK BHASKAR DEC 8


इंसाफ अगर बदले में तब्दील हुआ तो अपना चरित्र खाे देगा: चीफ जस्टिस
हैदराबाद एनकाउंटर के अगले दिन चीफ जस्टिस की टिप्पणी...
सीजेआई बोले- फैसलाें में लगने वाले समय पर पुनर्विचार की जरूरत
भास्कर न्यूज | जाेधपुर/नई दिल्ली
हैदराबाद एनकाउंटर की घटना के अगले ही दिन सुप्रीम काेर्ट के चीफ जस्टिस एसए बाेबडे ने कहा है कि न्याय कभी भी त्वरित नहीं हो सकता। न्याय अगर बदले में तब्दील होता है ताे वह अपना चरित्र खो देगा। चीफ जस्टिस की यह टिप्पणी ऐसे वक्त आई है जब एक दिन पहले हैदराबाद में वेटरनरी डाॅक्टर के साथ दुष्कर्म के बाद उसे जलाने के चाराें अाराेपी पुलिस एनकाउंटर में मारे गए।
चीफ जस्टिस ने कहा कि देश में इन दिनों कुछ घटनाएं हुई हैं, जिन पर बहस चल रही है। इसमें काेई संदेह नहीं कि अापराधिक न्याय प्रणाली में फैसले में लगने वाले समय को लेकर पुनर्विचार की जरूरत है। इसे समयबद्ध सीमा में निपटाने पर सोचना पड़ेगा। लेकिन ऐसा नहीं हो सकता कि न्याय तुरंत हाे जाए। हमें प्री लिटिगेशन व मध्यस्थता के कानूून भी उपलब्ध कराने पड़ेंगे। चीफ जस्टिस ने राजस्थान हाईकाेर्ट की नई इमारत के उद्घाटन के दाैरान यह टिप्पणी की। वहीं, कानून मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने कहा कि वह सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों व हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस को पत्र लिखकर अपील करेंगे कि नाबालिगों से दुष्कर्म के मामलों में सुनवाई 2 महीने में पूरी होनी चाहिए।
उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता के पिता की मांग- दोषियों को फांसी दो या गोली मार दो

उत्तरप्रदेश के उन्नाव में जिंदा जलाई गई दुष्कर्म पीड़िता के पिता ने शनिवार काे कहा, 'मुझे पैसा या काेई अाैर मदद नहीं चाहिए। मैं सिर्फ देखना चाहता हूं कि पुलिस हैदराबाद के एनकाउंटर की तरह अाराेपियाें काे गाेली मार दे या फंदे पर लटका दे।' पीड़िता की माैत के विराेध में देशभर में अाक्राेश दिखा। पीड़िता के घर पहुंचे याेगी सरकार के दाे मंत्रियाें कमल रानी वरुण, स्वामी प्रसाद माैर्य अाैर सांसद साक्षी महाराज काे लाेगाें के गुस्से का सामना करना पड़ा। ग्रामीण चिल्ला-चिल्लाकर पूछ रहे थे कि अब क्याें अाए हाे? कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी भी पीड़िता के परिवार से मिलने पहुंची। बसपा प्रमुख मायावती भी इस मुद्दे पर राज्यपाल आनंदीबेन पटेल से मिलने गईं। रात साढ़े नौ बजे पीड़िता का शव दिल्ली के सफदरगंज अस्पताल से उसके गांव पहुंचा।
पांचों अाराेपी 14 दिन के लिए जेल : उन्नाव की दुष्कर्म पीड़िता काे जिंदा जलाने के पांचाें अाराेपियाें काे गुरुवार देर रात अदालत में पेशी के बाद 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया।
मानवाधिकार अायाेग की टीम हैदराबाद पहुंची, एनकाउंटर वाली जगह का मुआयना किया
मानवाधिकार अायाेग की 7 सदस्यीय टीम शनिवार को हैदराबाद पहुंची। टीम ने महबूबनगर अस्पताल में चाराें अाराेपियाें के शव देखे। टीम में फाॅरेंसिक विशेषज्ञ भी है। टीम उस जगह भी गई, जहां चाराें अाराेपी मारे गए थे। तेलंगाना हाई काेर्ट ने शुक्रवार रात अादेश दिया था कि यह शव साेमवार रात 8 बजे तक सुरक्षित रखे जाएं।
तस्वीर लखनऊ की है। यहां दुष्कर्म की घटनाओं के विरोध में दो बहनें पोस्टर लेकर निकलीं।
सुप्रीम काेर्ट में भी दाे याचिकाएं, जया बच्चन अाैर मालीवाल पर कार्रवाई की मांग
सुप्रीम कोर्ट में हैदराबाद एनकाउंटर की स्वतंत्र जांच की मांग काे लेकर दो याचिकाएं लगी हैं। पहली याचिका में मांग की गई है कि एनकाउंटर में शामिल सभी पुलिसकर्मियों पर केस दर्ज हो। वहीं, दूसरी याचिका में एसअाईटी जांच के अलावा अारोपियों के खिलाफ टिप्पणी के लिए जया बच्चन और स्वाति मालीवाल पर कार्रवाई की भी मांग की गई है।
निर्भया के दोषी का नया पैंतरा
विनय ने राष्ट्रपति से दया याचिका वापस मांगी
निर्भया कांड के दोषी विनय शर्मा ने शनिवार काे एक नया पैंतरा चला। उसने राष्ट्रपति के पास दायर दया याचिका वापस मांगी है। साथ ही दावा किया कि जेल-प्रशासन ने दिल्ली सरकार के साथ मिलकर साजिश के तहत यह दया याचिका लगाई थी। इसमें उसकी राय तक नहीं ली गई। तिहाड़ की 4 नंबर जेल में बंद विनय ने अपने वकील एपी सिंह के जरिए राष्ट्रपति के पास अर्जी भेजी है। इसमें कहा है कि अभी उसे सुप्रीम कोर्ट में क्यूरेटिव पिटीशन लगानी है। उसके नाबालिग हाेने का मामला भी हाईकोर्ट में लंबित है। एक अन्य अाराेपी राम सिंह द्वारा तिहाड़ जेल में आत्महत्या करने की भी उसने जांच की मांग उठाई है। वहीं, संविधान विशेषज्ञ पीडीटी आचार्य कहते हैं कि राष्ट्रपति ने दया याचिका पर अभी कोई निर्णय नहीं लिया है तो अर्जी वापस ली जा सकती है।

 
Have something to say? Post your comment
 
 
More Niyalya se News
निर्भया केस: कोर्ट ने जारी किया नया डेथ वारंट, अब 1 फरवरी को होगी फांसी कलबुर्गी हत्याकांड में SC ने SIT जांच की याचिका की खारिज पंचकूला हिंसा मामले में पुलिस कोर्ट में नहीं दे पाई सबूत, 10 आरोपी बरी दिल्ली: गुड़िया गैंगरेप केस में फैसला टला, कड़कड़डूमा कोर्ट अब 18 जनवरी को सुनाएगी फैसला निर्भया के दोषियों की दया याचिका खारिज करने के बाद एलजी के पास भेजी गई: मनीष सिसोदिया संसद में जो बातें कही जानी चाहिए थीं, वे नहीं कही गईं, इसलिए लाेग सड़काें पर हैं सीएए के प्रदर्शनों पर बोलीं जज HC notice to Cong MLA on rival’s election petition Kerala becomes first state to challenge CAA in apex court मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस: साकेत कोर्ट में फैसला टला, अब 20 जनवरी को आएगा फैसला Delay in HC judge appointments: SC rejects govt stand