Thursday, September 24, 2020
Follow us on
Haryana

मंत्री ने पूछा - किसानों काे 10 घंटे बिजली मिल रही है या नहीं

December 06, 2019 06:54 AM

COURTESY DAINIK BHASKAR DEC 6

मंत्री ने पूछा - किसानों काे 10 घंटे बिजली मिल रही है या नहीं
बिजली और जेल मंत्री बनने के बाद पहली बार हिसार पहुंचे चौधरी रणजीत सिंह ने पीडब्लूडी रेस्ट हाउस में किया संबोधित, कई तेवर देखने को मिले

चाै. देवीलाल का बेटा हूं, जाे कहता हूं, वह करता हूं। दाे माह में दिखा दूंगा कि मेरे मकहमाें में कितना काम हुअा हैं अाैर कितना सुधार हुअा है। यह बात प्रदेश के बिजली, साैर ऊर्जा अाैर जेल मंत्री रणजीत सिंह चाैटाला ने कही। उन्हाेंने अधिकारियाें काे कड़े शब्दाें में कहा कि जनता की समस्याअाें का समाधान करना हमारी जिम्मेदारी है। अगर रात में लाइट खराब हाे जाए अाैर कर्मचारी ठीक न करे ताे मुझे बता देना तुरंत सस्पेंड हाेगा। जनता दरबार में ही उन्हाेंने मंच से अावाज देकर पूछा कि किसानाें काे 10 घंटे लाइट मिलने लगी या नहीं। नीचे बैठे लाेगाें की अावाज अाई नहीं। उन्होंंने एसई अाॅपरेशन काे मंच पर बुलाया अाैर पूछा। एसई ने कहा कि हमारे पास एेसी काेई डायरेक्शन नहीं अाई।
मंच से ही उन्हाेंने सीएमडी शत्रुजीत कपूर के पास काॅल की। उन्हाेंने पूछा कि कपूर साहब पूरे प्रदेश में 10 घंटे लाइट दी जानी थी मगर हिसार के किसानाें काे क्याें नहीं दी जा रही। उन्हाेंने फाेन पर कुछ टेक्निकल इश्यू बताए अाैर कहा कि सीएम साहब से अनुमति लेनी हाेगी। बिजली मंत्री ने कहा कि ये काम हाे जाएगा मैं बात कर लूंगा इसके बाद अाप एक दाे दिन के अंदर लेटर जारी कर दाे। केबिनेट मंत्री ने पीडब्ल्यूडी रेस्ट हाउस में ही अधिकारियाें की बैठक ली। चाैटाला ने जहां बिजली में सुधार के संकेत दिए, वहीं जेलाें में फैली अव्यवस्थाएं खत्म करने पर भी बल दिया। उनके साथ बरवाला के जेजेपी विधायक जाेगीराम सिहाग भी साथ रहे। रेस्ट हाउस में उपायुक्त अशाेक मीणा ने बिजली मंत्री का स्वागत किया।
जवाब मिला- नहीं, एसई से पूछा तो बोले, एेसी डायरेक्शन नहीं अाई
मंत्री ने मंच पर अफसरों से मांगा जवाब
बिजली निगम के एसई राजेंद्र सभ्रवाल काे बुलाकर बिजली अापूर्ति सुनिश्चित हाेने के बारे में पूछते बिजली मंत्री रणजीत सिंह चाैटाला।
सीएमडी कपूर को फोन कॉल कर कहा- सीएम से करनी पड़ेगी बात
नसीहत : बिल भरने की अादत डाल लाे, बिजली की कोई कमी नहीं रहेगी
रणजीत चाैटाला ने कहा कि बिजली की कोई कमी नहीं है, लेकिन बिजली के बिल भरने की अादत डाल लाे। गांवाें में खेती बाड़ी के लिए राेज 10 से 12 घंटे बिजली देने की दिशा में काम शुरू हाे गया है।
सख्ती : शिकायत सुनने वाले कर्मचारी ने फाेन नहीं उठाया तो हाेगा सस्पेंड
मंत्री ने कहा- बिजली संबंधी शिकायतें सुनने वाले अधिकारी अाैर कर्मचारी अगर फाेन नहीं उठाएंगे या स्विच अाॅफ रखेंगे ताे उन्हें शिकायत मिलते ही तुरंत सस्पेंड कर दिया जाएगा। शिकायत के एक घंटे के भीतर यदि बिजली ठीक नहीं की तो संबंधित के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
प्लान : बिजली के रेट रिवाइज होंगे, लोगों काे मिलेगी राहत
बिजली मंत्री ने कहा कि बिजली व्यवस्था में सुधार के लिए नई योजना बनाई जाएगी। बिजली के दामों को रिवाइज किया जाएगा। बिजली विभाग में नया सेल बनाया जाएगा, इसके माध्यम से खराब मीटर का तुरंत पता चल सकेगा।

Have something to say? Post your comment