Wednesday, December 11, 2019
Follow us on
BREAKING NEWS
गृह राज्य मंत्री जी. किशन रेड्डी ने राज्यसभा में पेश किया शस्त्र (संशोधन) विधेयक 2019दिल्ली: उन्नाव रेप केस में तीस हजारी कोर्ट ने फैसला सुराक्षित रखापश्चिम बंगाल: परगाछी में एक नकली शराब फैक्ट्री पर छापा, 810 लीटर शराब जब्त, 2 व्यक्ति गिरफ्तारजयपुर: इलेक्टोरल बॉन्ड पर बैन की मांग को लेकर राजस्थान हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायरनागरिकता संशोधन बिल कल राज्यसभा में पेश किया जाएगा, दोपहर 2 बजे होगी चर्चा 'पानीपत' विवाद पर बोले हुड्डा- महाराजा सूरजमल को लालची आदमी दिखाने वाला सीन हटना चाहिएधुंध व कोहरे में वाहन चलाते समय बरते सावधानी: हरियाणा पुलिसकमेडियन कपिल शर्मा और गिन्नी चतरथ को पहली विवाह वर्षगांठ पर मिला बेटी के जन्म का तोहफ़ा
Haryana

सीएम ने जिसे 'नशे के कारोबारी बता पार्टी से दरकिनार किया था उसी देसूजोधा ने रणजीत के साथ मंच साझा कर किया संबोधित

November 18, 2019 05:41 AM

COURTESY DAINIK BHASKAR NOV 18
अभिनंदन समारोह : कैबिनेट मंत्री की शपथ के बाद पहली बार कार्यकर्ताओं से रूबरू हुए रानियां के विधायक

भाजपा सरकार में 32 साल बाद कैबिनेट मंत्री बनकर पहली बार सिरसा पहुंचे रणजीत सिंह ने जहां एक ओर जिले को नशा मुक्त करने का दंभ भरा वहीं दूसरी ओर मंच पर वह नेता भी नजर आया जिसे विधानसभा चुनाव से पहले सीएम ने नशे का कारोबारी बताकर उसकी टिकट काटी थी और पार्टी से निकाल दिया था। इस नेता की मौजूदगी के कारण यह अभिनंदन समारोह चर्चा का विषय बना रहा। जी हां हम बात कर रहे हैं कालांवाली में भाजपा से निष्कासित और वर्तमान में शिअद नेता राजेंद्र देसू जोधा की। रणजीत सिंह के अभिनंदन समारोह में राजेंद्र देसू जोधा उन 60 वीआईपी में शामिल थे। जिनको मंच पर बैठाने के लिए वीआईपी पास जारी किए गए थे।
अकाली नेता को रणजीत के साथ देखकर वहां पहुंचे भाजपाई तो आश्चर्य चकित थे ही वहीं रणजीत सिंह के कार्यकर्ता भी बोल रहे थे कि ये तो वहीं नेता है जिसे सीएम ने नशा बेचने वाला बताकर पार्टी से निकाला था। यह यहां पर कैसे आया हुआ है। किसी ने कहा रणजीत सिंह के साथ निजी संबंध है तो किसी ने कहा कि ये अकाली नेता है और अकालियों का समर्थन इस बार रणजीत सिंह को था। इसी लिहाज से यह यहां आया हुआ है। राजेंद्र देसू जोधा ने भी मंच से संबोधित करते हुए बिजली मंत्री के समर्थन में उनके कसीदे पढ़े। वहीं उन्हें मंत्री बनाने पर सीएम का भी आभार जताया। यहां बता दें कि रणजीत सिंह ने रानियां हलके से आजाद उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ा था। इस दौरान शिरोमणि अकाली दल ने उन्हें समर्थन किया था। इधर राजेंद्र देसू जोधा भाजपा से टिकट कटने के बाद शिअद में शामिल हो गए थे और उन्हें शिअद ने कालांवाली से टिकट दी थी।
सिरसा। सिरसा में अायाेजित कैबिनेट मंत्री रणजीत सिंह के सम्मान समाराेह के दाैरान मंच पर खड़े अकाली नेता राजेंद्र देसूजाेधा, जिसे सीएम ने बताया था नशे का काराेबारी।
अपने बच्चों की कसम खाकर देसूजोधा ने कहा था कि सीएम के आराेप बेबुनियाद
कालांवाली से वर्ष 2014 में भाजपा की टिकट पर चुनाव लड़ चुके राजेंद्र देसू जोधा वर्ष 2019 के विधानसभा चुनाव में भी टिकट के अहम दावेदार माने जा रहे थे। इसी दौरान भाजपा ने उनकी टिकट काटकर अकाली दल से आए बलकौर सिंह को दे दी। टिकट काटने का कारण बताते हुए सीएम मनोहर लाल ने सिरसा में आयोजित रैली में कहा था कि राजेंद्र देसू जोधा हमारा नेता था, मगर बाद में हमें पता लगा कि वह नशे के कारोबार में शामिल है। इसलिए उसकी टिकट हमने काट दी। सीएम के आरोपों का जवाब देते हुए राजेंद्र ने कहा कि आरोप बेबुनियाद है। वे अपने दोनों बच्चों की कसम खाते हैं कि वे नशे के किसी कारोबार में शामिल नहीं रहे है। वहीं राजेंद्र देसूजाेधा ने रणजीत सिंह के अभिनंदन समारोह में शामिल होने बारे में कहा कि रणजीत सिंह की तरफ से उनको निमंत्रण मिला था। चुनाव में रणजीत ने मुझे वोट डलवाए और मैंने उनको। इसलिए कार्यक्रम में गया था।
मंच पर भाजपाई दिखे साथ, रणजीत बोले कांग्रेस ने नहीं, भाजपा ने दिया सम्मान
अभिनंदन समारोह में भाजपा के प्रमुख नेता भी शामिल रहे। जिनमें सांसद सुनीता दुग्गल भी साथ थी। सभी नेताओं ने मिलजुलकर जिला के विकास की बात कही। सांसद सुनीता दुग्गल ने कहा कि प्रदेश सरकार ने आपके बीच में एक ईमानदार व्यक्ति को भेजा है। पिछले एक दशक से सिरसा के रुके हुए विकास के कार्य अब पूर्ण होंगे। वहीं बिजली मंत्री रणजीत सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने जो भरोसा उन पर जताया है वे उस पर खरा उतरेंगे और जो जिम्मेवारी मुझे सौंपी गई है उसे वे पूरी ईमानदारी से निभाएंगे। कांग्रेस ने जो 32 साल में सम्मान नहीं दिया वह आज भाजपा ने दिया है। ।इस अवसर पर फतेहाबाद के विधायक दूड़ाराम, रतिया के विधायक लक्ष्मण नापा, हरियाणा पर्यटन निगम के चेयरमैन जगदीश चोपड़ा, पूर्व चेयरमैन रेणू शर्मा, आदित्य देवीलाल, , मुनीष सिंगला, मक्खन लाल सिंगला, भूपेश मेहता, प्रदीप रातुसरिया व रणजीत सिंह के पुत्र गगनदीप, पौत्र सूर्य प्रकाश व गायत्री देवी उपस्थित थी।
10 अक्टूबर को रैली में मंच से सीएम ने किया था कटाक्ष
11 अक्टूबर को प्रकाशित खबर
देसूजोधा गांव में नशे के मामले में पंजाब पुलिस की पिटाई के बाद चुनावी रैली के दौरान सीएम ने कहा था कि राजेंद्र नशे के कारोबार में संलिप्त है, इसलिए हमने उसकी टिकट काटी है। हम नशे को जड़ से मिटाना चाहते हैं।
लापरवाह अधिकारी अपनी कार्यशैली बदलें: सिंह
भास्कर न्यूज | सिरसा
हरियाणा के बिजली, जेल एवं अक्षय ऊर्जा मंत्री रणजीत सिंह ने कहा कि प्रदेश के लोगों को बिजली संबंधित कोई भी परेशानी न हो, यह उनकी प्राथमिकता रहेगी। बिजली की तारों को लेकर किसी तरह का कोई हादसा न हो इसके लिए एक सप्ताह के भीतर बिजली के लटके तारे और घरों के ऊपर से गुजरने वाली लाइनें बदली जाएगी।
भ्रष्ट और लापरवाह अधिकारी या तो अपनी कार्यशैली बदल ले अन्यथा उन्हें बदल दिया जाएगा। यह बात उन्होंने रविवार को स्थानीय लोक निर्माण विभाग के विश्राम गृह में जिले के सभी विभागों के विशेष तौर पर बिजली विभाग के अधिकारियों की बैठक लेते हुए कही। इससे पूर्व पुलिस जवानों ने उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर दिया व डीसी अशोक कुमार गर्ग ने बुके भेंट कर स्वागत किया। रणजीत सिंह ने बैठक में निर्देश दिए कि जिले में जितने भी बिजली की ढीली तारें हैं उसे एक सप्ताह के अंदर-अंदर ठीक करवाएं अन्यथा बदलवा दें। उन्होंने कहा कि घरों की छतों से जाने वाली बिजली की तारों का भी बदलवाएं। बिजली से संबंधित खंबों पर लगे बिजली मीटर व अन्य बिजली से संबंधित लगे बॉक्स के ढक्कनों को भी बंद करवाएं। एसई बिजली निगम से कहा कि फसल बुआई के समय गांवों व ढाणियां में बिजली की व्यवस्था को दुरुस्त रखें ताकि किसानों को किसी भी तरह की परेशानी न हो। उन्होंने बिजली निगम के अधिकारियों से कहा कि बिजली से संबंधित कोई भी शिकायत आती है तो उसे प्राथमिकता के आधार पर सुलझाएं, 24 घंटे हेल्पलाइन नंबर चालू रखें। इस अवसर पर सांसद सुनीता दुग्गल ने सभी अधिकारियों से कहा कि एक टीम वर्क के रूप में कार्य कर सिरसा में आमजन की समस्याओं को प्राथमिकता से सुलझाएं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व मुख्यमंत्री मनोहर लाल का उद्देश्य एक पारदर्शी प्रशासन लागू करना है, उसमें अपनी आहुति दें।
पुलिस प्रशासन को नशा खत्म करने का आदेश, जेल में कैदियों की सुविधाओं का रखा जाए ध्यान
कैबिनेट मंत्री रणजीत सिंह ने पुलिस विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि नशा तस्करी पर लगाम लगाएं, कोई भी पुलिस अधिकारी या कर्मचारी नशा से संबंधित कार्यों में संलिप्त पाया गया या ढील करता पाया गया तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि नशा जिले की युवा पीढी को खत्म कर रहा है। इसलिए हमें नशे के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई करनी चाहिए। उन्होंने सभी अधिकारियों से कहा कि आपस में तालमेल बना कर एक टीम के रूप में कार्य करें, भ्रष्टाचार को भूल जाएं और एक जिम्मेवार नागरिक की भूमिका अदा करें। उन्होंने जेल अधिकारी से कहा कि जेल में बंदियों के लिए भी सभी व्यवस्थाओं को दुरूस्थ रखें। कोई भी जेल कर्मचारी बंदियों को नशा या अन्य वस्तु जिससे जेल के नियमों की उल्लंघना करता पाया गया तो उसके खिलाफ भी तुरंत कार्रवाई होगी। उन्होंने सभी अधिकारियों से कहा कि सिरसा जिले को विकास की ओर ले जाने के लिए सरकार का सहयोग करें।
इधर... देसूजोधा ने कहा कि रणजीत ने निमंत्रण दिया, इसलिए आया हूं। चुनाव में रणजीत ने मेरे पक्ष में और मैंने उसके पक्ष में डलवाए थे वोट

 
Have something to say? Post your comment
 
 
More Haryana News
'पानीपत' विवाद पर बोले हुड्डा- महाराजा सूरजमल को लालची आदमी दिखाने वाला सीन हटना चाहिए धुंध व कोहरे में वाहन चलाते समय बरते सावधानी: हरियाणा पुलिस पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा मंगलवार को पंचकूला स्थित हरियाणा की विशेष ईडी कोर्ट में पेश हुुुुए, अब 21 को फिर से पेशी महाराजा सूरजमल का फिल्म पानीपत में गलत चित्रण- कैप्टन अभिमन्यू Hry lokayukta: Set up SIT on town planning dept decisions of 27yrs Encroachment mess: Lokayukta presses for action against 5 officials E-delivery of services: Gurugram ranked 21st among 22 districts HARYANA- 15 आइएएस जांच के घेरे में, बिल्डरों को पहुंचाया फायदा, एसआइटी बनाने के आदेश पुलिस विभाग से संतुष्ट नहीं ग्रुप डी के नए कर्मचारी इंटरनेशनल एंटी करप्शन-डे : HARYANA CM मनोहर ने माना- तहसीलों में सबसे ज्यादा भ्रष्टाचार