Saturday, July 11, 2020
Follow us on
BREAKING NEWS
सोशल मीडिया के पत्रकारों को मान्यता व विज्ञापन देने के पक्ष में बनाई मीडिया पॉलिसी को लेकर डिजीटल न्यूज एसोसिएशन ने गृह मंत्री अनिल विज को सम्मानित किया हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने करनाल में "हर सर हेलमेट" अभियान का शुभारम्भ कियाहरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड की दसवीं कक्षा की परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले सभी छात्रों को हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने हार्दिक शुभकामनाएं दीविकास दुबे की पत्नी ऋचा के भाई राजू खुल्लर को भी रिहा करेगी STFकोरोना के उपचार के लिए Itolizumab का हो सकेगा इस्तेमाल, DCI ने दी मंजूरीकानपुरः गैंगस्टर विकास दुबे के गांव में तैनात की गई RAFदिल्ली के राज्य विश्वविद्यालयों की परीक्षा रद्द, पास किए जाएंगे सभी छात्रः मनीष सिसोदियाजम्मू कश्मीरः कुपवाड़ा के नौशेरा सेक्टर में LOC पर घुसपैठ की कोशिश नाकाम, दो आतंकी ढेर
Haryana

HARYANA-दिसंबर 2020 के बाद दसवीं पास नहीं बेच सकेंगे बीज, खाद व दवाई

November 17, 2019 06:26 AM

 

COURTESY DAINIK JAGARNA NOV 17जागरण संवाददाता, जींद : किसानों को खाद, बीज व दवा बेचने का लाइसेंस लेने के लिए केंद्र सरकार ने नई गाइडलाइन जारी कर दी हैं। अब लाइसेंस लेने के लिए डिप्लोमा इन एग्रीकल्चर एक्सटेंशन सर्विसेज फॉर इनपुट डीलर का कोर्स करना होगा। इसके अलावा बीएससी एग्रीकल्चर, केमिस्ट्री, जूलोजी तक पढ़ाई करने वालों को लाइसेंस मिल सकेगा।
प्रदेशभर में अभी तक दसवीं करने वालों को ही खाद, बीज व दवा बेचने का लाइसेंस मिल जाता था। लेकिन केंद्र सरकार के नए निर्देशों के तहत प्रदेशभर में 31 दिसंबर 2020 के बाद दसवीं पास दुकानदार खाद, बीज व दवा नहीं बेच सकेंगे। इसके बाद नए लाइसेंस उन्हीं को दिए जाएंगे, जिन्होंने डिप्लोमा इन एग्रीकल्चर एक्सटेंशन सर्विसिज फॉर इनपुट डीलर (डेसी) का कोर्स किया हुआ होगा। हरियाणा में यह कोर्स सिर्फ जींद स्थित हरियाणा एग्रीकल्चर मैनेजमेंट एक्सटेंशन ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट (हमेटी) में होगा। एक साल के इस कोर्स के लिए 48 कक्षाएं अटेंड करनी होंगी। यह कक्षाएं सिर्फ रविवार के दिन ही लगेंगी। इस डिप्लोमा की फीस 20 हजार रुपये है। इस कोर्स के लिए आगामी 31 दिसंबर तक आवेदन किए जा सकेंगे।

Have something to say? Post your comment