Monday, December 16, 2019
Follow us on
BREAKING NEWS
Haryana

गीता महोत्सव से 12 दिन पहले सद्भावना कमेटी की बैठक, विधायक सुधा रहे दूर, बोले-चंडीगढ़ में मीटिंग थी

November 12, 2019 05:28 AM

COURTESY DAINIK  BHASKAR NOV 12


पिछले साल गीता महोत्सव को भव्य बनाने के मकसद से बनी थी प्रदेशस्तरीय कमेटी

इंटरनेशनल गीता महोत्सव को भव्य बनाने के लिए पिछले साल गीता जयंती उत्सव के दौरान प्रदेश स्तरीय सद्भावना कमेटी सरकार ने बनाई थी। मकसद आयोजन को भव्य बनाने व गीता को घर-घर पहुंचाना था। अब गीता जयंती महोत्सव शुरू होने में महज 12 दिन शेष हैं, लेकिन उक्त कमेटी की मीटिंग एक साल बाद सोमवार को हुई। मीटिंग में पिहोवा विधायक संदीप सिंह, पूर्व राज्यमंत्री कृष्ण बेदी तो पहुंचे, लेकिन स्थानीय विधायक सुभाष सुधा दूर रहे। इसे लेकर चर्चाएं भी गर्म रही।
माना यही जा रहा है कि किसी नाराजगी की वजह से ही विधायक इस मीटिंग में नहीं आए। जबकि वे केडीबी के भी सदस्य हैं। पिछले उत्सव में भी विधायक ने आयोजन कमेटियों से दूरी बनाई हुई थी। जबकि 2017 में हुए पहले इंटरनेशनल गीता महोत्सव में एक तरह से विधायक ही तैयारियों की अगुवाई कर रहे थे। सोमवार को कमेटी के अध्यक्ष एवं गीता मनीषी स्वामी ज्ञानानंद की अध्यक्षता में मीटिंग हुई। राज्यपाल व केडीबी के सदस्य सचिव विजय दहिया और प्रशासनिक अधिकारीभी शामिल हुए। केडीबी मीडिया सेंटर में हुई इस मीटिंग में शहर की कई धार्मिक व सामाजिक संस्थाओं के प्रतिनिधियों ने भी शिरकत की।
कमेटी के सदस्यों ने सामाजिक और धार्मिक संस्थाओं के प्रतिनिधियों से मांगे सुझाव
मीटिंग की समय से सूचना नहीं दी गई : सुधा
मीटिंग में कई सामाजिक व धार्मिक संस्थाओं के पदाधिकारियों के अलावा भाजपा के कई नेता मौजूद रहे, लेकिन केडीबी के सदस्य व स्थानीय विधायक सुभाष सुधा नहीं आए। जिसे लेकर चर्चाएं रही कि सुधा नाराजगी की वजह से नहीं आए। वहीं लाडवा से कांग्रेस विधायक मेवा सिंह और शाहाबाद से जजपा विधायक रामकरण काला, थानेसर से पूर्व मंत्री अशोक अरोड़ा भी मीटिंग में नहीं पहुंचे। बताया जाता है कि इन्हें मीटिंग का न्योता ही नहीं था। वहीं विधायक सुधा का कहना है कि इस मीटिंग की समय से सूचना नहीं मिल सकी। चंडीगढ़ में उनकी कुछ अधिकारियों से मीटिंग थी। लिहाजा वे चंडीगढ़ चले गए। इसके चलते यहां नहीं आ सके।
गंभीरता से लिए जाएंगे सभी सुझाव : दहिया
विजय दहिया ने महोत्सव के कार्यक्रमों और तैयारियों की विस्तृत रूपरेखा प्रस्तुत की। उन्होंने कहा कि महोत्सव को भव्य बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी जाएगी। संस्थाओं के प्रतिनिधियों के सुझावों को गंभीरता से लिया जाएगा। गीता मनीषी ज्ञानानंद महाराज ने कहा कि गीता महोत्सव से सदभावना बढ़े और संस्कृति का व्यापक प्रसार हो तथा जन-जन तक पवित्र ग्रंथ गीता के संदेश पहुंचे। इसी उद्देश्य को लेकर महोत्सव का स्वरूप बड़ा किया जा रहा है। ग्रामीण क्षेत्र को साथ लाने के मकसद से 48 कोस के सरपंचों को बुलाया जाएगा। समाजसेवी, धार्मिक और शैक्षणिक संस्थाओं के प्रतिनिधियों को लेकर एक स्वैच्छिक संगठन भी बनाया जाएगा जो सभी को साथ लेकर कार्य करेगा।
सदभावना कमेटी की बैठक में मौजूद सदस्य व स्वामी ज्ञानानंद व विधायक संदीप सिंह
सभी सदस्यों को भेजा न्योता : केडीबी मानद सचिव
वहीं केडीबी मानद सचिव मदन मोहन छाबड़ा का कहना है कि मीटिंग के लिए सभी सदस्यों को सूचना समय रहते भेजी गई थी। कुछ सदस्य व्यक्तिगत कारणों नहीं पहुंच सकें। उन्होंने कहा कि 23 नवंबर से 10 दिसंबर तक शिल्प और सरस मेला, 3 से 8 दिसम्बर तक मुख्य कार्यक्रम होंगे। एनजेडसीसी की तरफ से 28 प्रदेशों व 9 केन्द्र शासित राज्यों से शिल्पकारों और लोक कलाकारों को बुलाया है। 48 कोस के सभी तीर्थों पर कार्यक्रम होंगे। एडीसी पार्थ गुप्ता, भाजपा के जिलाध्यक्ष धर्मवीर मिर्जापुर, जिला परिषद के चेयरमैन गुरदयाल सुनहेड़ी, स्वामी हरिओम परिवाजक, केडीबी सदस्य सौरभ चौधरी, रविन्द्र सांगवान, विजय नरूला, उपेंद्र सिंघल मौजूद रहे।
सदस्यों ने रखे अपने सुझाव : पूर्व मंत्री कृष्ण बेदी ने सुझाव दिया कि सरपंचों, ब्लॉक समिति व जिला परिषद के सदस्यों को साथ जोड़ा जाए। आरएसएस के विभाग सह-कार्यवाह डॉ. प्रीतम सिंह ने कहा कि इस आयोजन को और बढ़ा स्वरूप दिया जाए। कथा वाचक राजेन्द्र परासर ने कहा कि महोत्सव के साथ सभी धर्मों को जोड़ा जाए। गुर्जर सभा के प्रधान रामरतन गुर्जर ने सुझाव दिए कि 48 कोस के तीर्थों पर भी कार्यक्रम भव्य होंने चाहिएं। विजय सभ्रवाल सहित अन्य सामाजिक और धार्मिक संस्थाओं के प्रतिनिधियों ने गीता महोत्सव को और भव्य स्वरूप देने, नशा मुक्ति पर कार्यक्रम, हरियाणवी व पंजाबी भाषा पर वर्कशाप आदि के सुझाव दिए।

 
Have something to say? Post your comment
 
 
More Haryana News
प्रदेश में अवैध खनन किसी भी कीमत पर नहीं होने दिया जाएगा:मूलचंद शर्मा केशनी आनन्द अरोड़ा ने सभी जिला उपायुक्तों को वर्ष 2020 के जनवरी माह के तीसरे सप्ताह में आधार बनवाने और आधार के अपडेशन के लिए 10 दिवसीय कैम्प आयोजित करने के निर्देश दिए
हरियाणा पुलिस का शराब तस्करों के खिलाफ सख्त अभियान
हरियाणा रोडवेज: ड्राइवर्स और कंडक्टर्स इधर से उधर हरियाणा सरकार ने कई तहसीलदारों का किया तबादला
हरियाणा प्रदेश में रईस मिल 20 दिसम्बर को अहम बैठक होगी:पी के दास
खट्टर सरकार ने 132 हरियाणा रोडवेज विभाग का किया तबादला अगर खेमका प्रधानमंत्री मोदी से मिलने का समय माँगते है तो प्रधानमंत्री को जरूर मिलना चाहिए:अनिल विज जो लोग दंगे कर रहे है उनके खिलाफ उचित कार्यवाही होनी चाहिए:अनिल विज कांग्रेस ने देश को धोखा दिया,कांग्रेस को जनता कभी माफ नहीं करेगी:अनिल विज