Thursday, July 16, 2020
Follow us on
Haryana

गांवों में शराब की बिक्री को प्रतिबंधित करने की दिशा में कार्य शुरू: मनोहर लाल

November 12, 2019 05:10 AM

COURTESY DAINIK BHASKAR NOV 12

कहा- शराब के ठेकों से परहेज करने वाली पंचायतों को फरवरी तक देना होगा प्रस्ताव

भास्कर न्यूज | राजधानी हरियाणा
राज्य सरकार ने गांवों में शराब की बिक्री को प्रतिबंधित करने की दिशा में कार्य शुरू कर दिया है। सीएम मनोहर लाल ने विधानसभा के प्रथम सत्र के दौरान सदन में यह घोषणा की थी। घोषणा को अमलीजामा पहनाते के उद्देश्य से हरियाणा पंचायती राज अधिनियम, 1994 की धारा 31 की उपधारा 1 व 2 में संशोधन का प्रस्ताव सरकार के विचाराधीन है। उपधारा 1 के तहत पारित प्रस्ताव के आबकारी एवं कराधान आयुक्त के कार्यालय में प्राप्त होने की समय-अवधि को 31 अक्टूबर से बढ़ाकर 15 जनवरी करने के लिए धारा 31 की उपधारा 2 में भी संशोधन प्रस्तावित है। विकास एवं पंचायत विभाग द्वारा ये प्रस्तावित संशोधन किए जाएंगे। इस अधिनियम की धारा 31 के प्रावधानों के अनुसार उस ग्राम पंचायत के स्थानीय क्षेत्र में शराब की बिक्री पर प्रतिबंध लगाया जा सकता है, जहां किसी भी वर्ष की पहली अप्रैल से शुरू होने तथा 30 सितंबर को समाप्त होने वाली अवधि के दौरान किसी भी समय पदासीन पंचों द्वारा बहुमत से प्रस्ताव पारित कर दिया जाता है। गौरतलब है कि सीएम ने गत दिनों सदन में ग्राम पंचायत के क्षेत्र में शराब की बिक्री को प्रतिबंधित करने के लिए प्रस्ताव पारित करने की समयावधि 30 सितंबर से बढ़ाकर 31 दिसंबर करने की घोषणा की थी। यह भी घोषणा की गई थी कि गांव में प्रतिबंध का प्रस्ताव पंचों के बहुमत की बजाय ग्राम सभा द्वारा पारित किया जाएगा ताकि निर्णय लेने की प्रकिया में और अधिक भागीदारी बढ़ाई जा सके।
गांवाें को शराब के ठेकों से मुक्त करवाने के लिए चलाएंगे विशेष मुहिम: दुष्यंत चौटाला
हिसार | प्रदेश के गांवों को शराब के ठेकों से मुक्त करने के लिए एक विशेष मुहिम चलाने का फैसला प्रदेश सरकार ने लिया है। रेस्ट हाउस में प्रदेश के डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने कहा कि इसके लिए पंचायतों को फरवरी तक प्रस्ताव पास करके देना होगा। उन्होंने कहा कि यदि इस वर्ष हम प्रदेश के 3 हजार गांवों को भी शराब के ठेकों से मुक्त करवा सकें तो यह एक बड़ी उपलब्धि होगी। उन्होंने कहा कि जो पंचायतें अपने गांव में शराब की बिक्री से परेशान हैं। वे फरवरी से पहले पंच-सरपंचों के हस्ताक्षर व मोहर सहित इस बारे में प्रस्ताव पारित करें। ऐसे सभी गांवों में अगले वर्ष से शराब ठेकों के लिए लाइसेंस नहीं दिए जाएंगे। उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने यह बात साेमवार काे पीडब्ल्यूडी बीएंडआर के रेस्ट हाउस पत्रकारों के समक्ष कही। उन्होंने धान की खरीद, मंत्रिमंडल गठन सहित अनेक विषयों पर पत्रकारों से बातचीत की। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा किसानों के धान का एक-एक दाना खरीदा जाएगा। यदि किसानों को कहीं अपनी फसल बेचने में दिक्कत आ रही है तो वे इसे सरकार के संज्ञान में लाएं। इस बारे सरकार द्वारा जरूरी कार्रवाई की जाएगी।
पीडब्लूडी रेस्ट हाउस में डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला पहली बार लोगों की समस्याएं सुनने के लिए पहुंचे। कमरे में जगह कम होने से बाहर आकर लोगों की बात सुनने लगे। लोगों ने कुर्सी पर बैठने के लिए कहा तो डिप्टी सीएम ने इनकार कर दिया।

Have something to say? Post your comment