Friday, November 22, 2019
Follow us on
 
Haryana

भाजपा के अनिल विज हैट्रिक लगा कर अम्बाला छावनी से जीत हासिल करके एक नया रिकॉर्ड कायम करने की फिराक में

October 20, 2019 11:28 AM

रमेश शर्मा

अम्बाला:अम्बाला छावनी में प्रचार के अंतिम दिन भाजपा उम्मीदवार अनिल विज के विशाल प्रदर्शन को देख कर लगता है कि इस विधानसभा क्षेत्र में मुकाबला एकतरफा साबित हो सकता है। राजनीतिक गलियारों में चर्चा है कि विज इस बार हैट्रिक लगा कर अपना ही पिछला रिकार्ड तोड़ कर प्रदेश में एक नया मील पत्थर कायम कर सकते हैं। गौरतलब है कि 2014 के विधानसभा चुनावों में भाजपा प्रत्याशी अनिल विज ने 66605 वोट प्राप्त करके अपने निकट प्रतिद्वंद्वी कांग्रेस के निर्मल सिंह को 15462 से हरा कर जबरदस्त जीत हासिल की थी। तत्काल न्यूज के इस क्षेत्र के सर्वे से लगता है कि विज द्वारा अब तक करवाये गए अनगिनत विकास कार्यों के मद्देनजर स्थानीय वोटर उन्हें रिकार्ड वोटों से जितवाना चाहते है। हमेशा मीडिया की सुर्खियों में रहने वाले हरियाणा के स्वास्थ्य एंव खेल मंत्री अनिल विज ने अम्बाला छावनी विधानसभा क्षेत्र मेें बिना किसी भेदभाव के विकास कार्यों की झड़ी लगा कर अपने कट्टर विरोधियों को भी तारीफ करने पर मजबूर कर दिया। विज ने अपने मन्त्रिकाल में वर्षों से चली आ रही छावनी क्षेत्र में पीने के पानी तथा ड्रेनेज की समस्या को हल करवाने के साथ-साथ सुभाष पार्क का नवनिर्माण और सड़कों का कायाकल्प करवा करके स्थानीय निवासियों के दिल में एक विशेष स्थान बनाया। विज ने स्वास्थ्य मंत्री होने के नाते अम्बाला छावनी के जर्जर पड़े सिविल अस्पताल की जगह नई बहुमंजिला इमारत का निर्माण तथा आधुनिक मशीनों से मरीजों की गम्भीर बीमारियों के इलाज के लिए एक ही छत के नीचे सभी सुविधाओं को उपलब्ध करवाकर मिलेनियम सिटी गुरुग्राम के स्तर के अस्पतालों के बराबर की सुविधा प्रदान करवाई। विज ने जीटी रोड पर नई अनाज मंडी का निर्माण करवाकर व्यापारी वर्ग और किसानों को हो रही परेशानी से छुटकारा दिलाया। अम्बाला से साहा, मुलाना,यमुनानगर, उत्तराखंड व उत्तरप्रदेश जाने वाले वाहनों की परेशानी से मुक्त करने के लिए विज ने केंद्र सरकार से अम्बाला कैंट - साहा हाइवे की फोरलेनिंग की मंजूरी करवाने के बाद इस पर कार्य शुरू करवा करके ही दम लिया। 1857 के शहीदों की याद में राष्ट्रीय स्तर पर लगभग 165 करोड़ की लागत से बनने वाले वार मेमोरियल के तैयार होने के बाद अंबाला छावनी को ऐतिहासिक शहर का दर्जा दिलाने का श्रेय भी अनिल विज को ही जायेगा। कैंट विधानसभा के गांवों के निवासियों को रोज़मर्रा की जरूरी सुविधाओं को मुहैया करवाने के लिये अनथक प्रयास किए। हिमाचल प्रदेश से वाया पंचकूला और नारायणगढ़ (एनएच-73) से दिल्ली आने जाने वाले वाहनों को बिना कैंट में प्रवेश किए जीटी रोड से टांगरी नदी के बांध पर रिंग रोड बनने के बाद अम्बाला छावनी के निवासियों को ट्रैफिक की समस्या से निजात दिलवाने का कार्य भी विज ने ही किया। विज ने कहा कि कांग्रेस राज में अम्बाला छावनी की पूरी उपेक्षा की जाती रही है। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने पिछले पांच साल में जो कैंट में विकास कार्य करवाए है उसकी हर वर्ग ने सराहना की है । विज ने कहा हमारी सरकार के दोबारा बनने के बाद कि आम जनता के साथ-साथ व्यापारियों के हितों के लिए कई नई योजनाओं की शुरुआत की जाएगी ताकि यहां की साइंस इंडस्ट्री अपने ही बूते पर राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर फिर से ख्याति प्राप्त कर सकें।

 
Have something to say? Post your comment