Friday, November 15, 2019
Follow us on
BREAKING NEWS
हरियाणा के कैबिनेट मंत्रियों को मिले उनके सरकारी निवास स्थानपर्यावरण सकंट से निपटने के लिए पहल करें सीयूएच – डिप्टी सीएमडिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने वैज्ञानिकों को पर्यावरणीय चुनौतियों का समाधान खोजने के लिए किया प्रेरितलोकसभा के अध्यक्ष ओम बिड़ला कल विपक्षी दलों के नेताओं के साथ करेंगे बैठकIND vs BAN: भारत का 5वां विकेट गिरा, मयंक अग्रवाल 243 रन बनाकर आउटफेयरवेल कार्यक्रम में पहुंचे चीफ जस्टिस रंजन गोगोई, मीडिया से नहीं की बातइंदौर टेस्ट में मयंक अग्रवाल ने जड़ा दोहरा शतकराजस्थान के हेल्थ एंड फॅमिली वेलफेयर मंत्री ने "बाल दिवस" पर आयोजित "सुपर 30" की विशेष स्क्रीनिंग के दौरान बच्चों को किया संबोधित
 
Haryana

HARYANA-क्लर्क एग्जाम में पूछा- पश्चिमी यमुना कहां से निकलती है; सही जवाब है हथनीकुंड, जो विकल्प में दिया ही नहीं

September 23, 2019 06:11 AM


COURTSY DAINIK BHASKAR SEPT 23
ऑप्शन थे- करनाल, साल्हाबास, ताजेवाला, भाखड़ा-नांगल
जाम ने ली शहर की परीक्षा

अम्बाला | क्लर्क परीक्षा खत्म हाेते ही अावेदक जैसे ही परीक्षा केंद्राें से बस स्टैंड अाैर रेलवे स्टेशन की तरफ जाने लगे तो कैंट के स्टाफ राेड पर लंबा जाम लग गया। वहीं जगाधरी राेड पर महेश नगर से कैंट बस स्टैंड तक अाने वाली साइड में वाहनों की कतारें लग गईं। इसका असर रात 9 बजे तक शहर ने झेला। फोटो : राजेश कश्यप
क्लर्क एग्जाम में पूछा- पश्चिमी यमुना कहां से निकलती है; सही जवाब है हथनीकुंड, जो विकल्प में दिया ही नहीं
गलत ऑप्शन से कंफ्यूज हुए अावेदक, कैंट के सुभाष पार्क अाैर नगरपालिका-निगम के बारे में भी पूछा प्रश्न
भास्कर न्यूज | अम्बाला सिटी
हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग की क्लर्क भर्ती परीक्षा में पूछे गए दाे प्रश्नाें के गलत अाॅप्शन से अावेदक कंफ्यूज रहे। प्रश्न पूछा गया कि पश्चिम यमुना नहर किस स्थान से निकाली गई है। इसमें ऑप्शन करनाल, साल्हाबास, ताजेवाला, भाखड़ा-नांगल दिए गए थे, जबकि काेई भी ऑप्शन सही नहीं है। सही जवाब हथनीकुंड है।
वहीं एक प्रश्न ने भी अावेदकाें काे कंफ्यूज किया। अंग्रेजी में सवाल था हरियाणा में म्यूनिसपल कॉरपोरेशन है। इसके जवाब में अम्बाला, पानीपत, सिरसा और भिवानी विकल्प दिए गए हैं। अब यह कन्फयूज करने वाला है कि क्योंकि पानीपत में तो नगर निगम है ही अम्बाला में भी सिटी में नगर निगम बहाल करने की नोटिफिकेशन काफी पहले हो चुकी है। इसी प्रश्न के हिंदी वर्जन तो और भी अर्थ का अनर्थ करने वाला है। उसमें नगर निगम की बजाय नगरपालिका निगम लिखा गया।
वहीं, परीक्षा में अम्बाला से जुड़ा प्रश्न पूछा गया कि सुभाष चंद्र बाेस पार्क कहां स्थित है, इसके ऑप्शन पटवारी, अम्बाला, पानीपत अाैर हिसार दिए गए थे। यह पार्क अम्बाला कैंट में स्थित है। एक सवाल था योग सम्राट बाबा रामदेव का जन्म किस जिले में हुआ, यह सवाल प्रदेश की कई प्रतियोगी परीक्षाओं में आ चुका है।
क्वेश्चन पेपर में पूछा गया पश्चिम यमुना नहर का सवाल।
प्रश्न पत्र में ये भी त्रुटियां
हरियाणा पुलिस का मुख्यालय पूछने वाले सवाल में पुलिस की जगह पोलिस लिखा है।
भिंडवास वन्य जीव अभ्यारण पूछने के विकल्पों में गुड़गांव लिखा है, जबकि सरकार गुरुग्राम नाम कर चुकी है।
राष्ट्रीय राजधानी से रेवाड़ी की दूरी के सवाल में 20, 40, 60 व 80 किलोमीटर के विकल्प दिए हैं। जबकि गूगल मैप के मुताबिक दिल्ली से रेवाड़ी की एरियल दूरी 76 किलोमीटर, रोड से 88 किलोमीटर और ट्रेन से 68 किलोमीटर है।
फेल्गु टैंक, पर्यटन स्थल कहां पर स्थित है। यह सवाल पूछा गया है। वास्तव में यह पर्यटन स्थल नहीं बल्कि कैथल का फल्गु तीर्थ है।
17,105 रहे अनुपस्थित
रविवार काे सुबह अाैर शाम काे दाे शिफ्टाें में हुई परीक्षा में 50,160 में से 33,055 अावेदक ही पहुंचे, जबकि 17,105 अनुपस्थित रहे। सुबह अम्बाला में 70 परीक्षा केंद्राें पर 19,992 में से 13380 अावेदक परीक्षा देने पहुंचे, जबकि बराड़ा के 19 केंद्राें पर 5088 में से 3229 अावेदक पहुंचे। शाम के चरण में अम्बाला के 70 केंद्राें पर 19992 में से 13171 अाैर बराड़ा के 19 केंद्राें पर 5088 में से 3275 अावेदक परीक्षा देने के लिए पहुंचे।
हकीकत : पहले ताजेवाला से निकलती थी, 1999 में ताजेवाला बैराज को रिटायर कर हथनीकुंड से पश्चिमी यमुना में पानी की सप्लाई शुरू की गई
अाज भी दाे शिफ्टाें में परीक्षा
साेमवार सुबह 10:30 से 12 बजे और शाम 3 से 4:30 बजे तक दो शिफ्टाें में परीक्षा होगी। सुबह की शिफ्ट के लिए 8:30 से 10 बजे तक ही एंट्री होगी। शाम काे होने वाली परीक्षा के लिए 1 से 2:30 बजे तक एंट्री करनी होगी।
विवाहिता को मंगलसूत्र और कोका निकालने को कहा तो न निकालने पर अड़ी, पति ने आकर समझाया- कोई वहम न करो, तब निकाला
भास्कर न्यूज | बराड़ा
एचसीएसएस बोर्ड की परीक्षा देने आए परीक्षार्थियों को केंद्र में जाने के लिए कड़ी जांच के बाद अंदर जाने दिया। बोर्ड ने पहले ही परीक्षा के दौरान मंगलसूत्र और आभूषण न पहनने की हिदायत जारी की हुई थी। इसके बावजूद महिलाएं इन्हें पहनकर सेंटर पहुंची तो पुलिस कर्मियों ने उन्हें उतरवा दिया। हालांकि मंगलसूत्र और नाक का कोका उतारने को लेकर कुछ महिला परीक्षार्थियों एतराज भी किया, लेकिन उन्हें उतारने के बाद अंदर जाने दिया गया।
महिला पुलिस कर्मियों ने महेंद्रगढ़ से परीक्षा देने पहुंची सविता को चेकिंग के दौरान कान से कोका निकालने को कहा तो उसने मना कर दिया। पुलिस ने महिला को समझाया, लेकिन वह अपनी बात पर अड़ी रही। इसी बीच पति ने उसे समझाया कि वह अंध विश्वास को नहीं मानता, क्योंकि वह उसके सामने सही सलामत खड़ा है। वह किसी प्रकार का वहम न करे। तब जाकर महिला नाक से कोका निकालने पर राजी हुई। इसके बाद पति पत्नी सुनार की दुकान पर गए तो वह बंद थी। जब वह एक मेडिकल स्टोर संचालक के पास गए और नाक का कोका निकलवाया। इसके बाद ही परीक्षा भवन में जाने दिया। परीक्षा में जाते वक्त करीब 25 लड़कियों ने नाक से सोने का कोका व नथनी कटवानी पड़ी।
बराड़ा में परीक्षार्थी के नाक से काेका निकालती महिला।

Have something to say? Post your comment
More Haryana News