Friday, May 29, 2020
Follow us on
BREAKING NEWS
आर्थिक पैकेज से वित्त वर्ष 2020-21 की दूसरी तिमाही के बाद देश के सकल घरेलू उत्पाद को पुन: पटरी पर लाया जा सकेगा:दुष्यंत चौटाला आज हरियाणा के किसान की जीत हुई:सुरजेवालाचंडीगढ़:अनिल विज ने कोरोना मामले हरियाणा में बढ़ने पर दिल्ली बार्डर सील रखने की बात कहीचौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय में भाषा कौशल पर तीन सप्ताह का ऑनलाइन रिफ्रेशर कोर्स आयोजितहरियाणा संस्कृत अकादमी ने प्रदेश मुख्यालय में ‘संस्कृत,-संस्कृति एवं स्वास्थ्य संरक्षण’ विषय पर एक दिवसीय अन्तर्राष्ट्रीय संस्कृत वेबिनार (ऑनलाइन संगोष्ठी) का आयोजन कियाकिसानों के लिए बनाई हैं कई योजनाएं: मनोहर लाल,हरियाणा के मुख्यमंत्रीकृषि मंत्री जेपी दलाल का बयान,अपनी मर्जी से किसान कर सकेंगे धान की खेती चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय में भाषा कौशल पर तीन सप्ताह का ऑनलाइन रिफ्रेशर कोर्स आयोजित
Uttar Pradesh

अब नसबंदी फेल होने पर दोगुना मुआवजा देगी योगी सरकार

September 18, 2019 06:23 AM

COURTESY NBT SEPT 18

अब नसबंदी फेल होने पर दोगुना मुआवजा देगी योगी सरकार


नसबंदी ऑपरेशन में मौत होने पर 4 लाख मुआवजा
नए निर्देशों के मुताबिक, नसबंदी के दौरान या फिर डिस्चार्ज होने के एक हफ्ते के भीतर मौत होने पर दो के बजाए अब चार लाख रुपये का मुआवजा परिवार को मिलेगा। नसबंदी के बाद आठ से तीस दिन के भीतर अगर मौत होती है तो 50 हजार के बजाए 1 लाख रुपये का मुआवजा मिलेगा। इसी तरह नसबंदी के बाद व 60 दिनों के भीतर अगर महिला को किसी प्रकार की दिक्कत होती है तो उसके इलाज के लिए 25 हजार के बजाए अब 50 हजार रुपये दिए जाएंगे।
स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग ने जारी किए निर्देश, 30 हजार के बजाए मिलेंगे 60 हजार
आंकड़ों के मुताबिक 2018-19 में 88 नसबंदी फेल हुई हैं। इनमें सबसे ज्यादा 15 केस शाहजहांपुर में हुए। दूसरे नंबर पर पीलीभीत है, जहां 9 केस फेल हुए और तीसरे पर बाराबंकी है, जहां 7 ऐसे मामले हुए। इसके साथ ही एक महिला की मौत भी नसबंदी के दौरान हुई है। अधिकारियों के मुताबिक 2017-18 में 183 केस फेल हुए। साथ ही एक महिला की मौत और एक की तबीयत बिगड़ी थी।
नसबंदी के बाद इंफेक्शन या बुखार होने पर मिलेंगे 50 हजार रुपये
निदेशक परिवार कल्याण के मुताबिक पहले नसबंदी के बाद अगर महिला की तबीयत बिगड़ती या फिर इंफेक्शन, बुखार आने की दिक्कत होती थी तो उस स्थिति में महिला के इलाज के लिए 25 हजार मुआवजे का प्रावधान था, लेकिन सरकार ने इस राशि को भी दोगुना कर दिया है।• अभिषेक गौतम, लखनऊ

 

परिवार नियोजन के तहत नसबंदी फेल होने पर महिलाओं को अब 30 हजार रुपये के बजाए अब 60 हजार रुपये का हर्जाना मिलेगा। यह निर्देश पिछले महीने स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग की ओर से जारी किया गया है। अधिकारियों के मुताबिक इसका लाभ 31 मार्च 2019 के बाद के जितने भी केस फेल हुए हैं, उन सभी मामलों में महिलाओं को दिया जाएगा।

बता दें कि जहां एक तरफ भारत सरकार परिवार नियोजन को बढ़वा दे रही है, वहीं उत्तर प्रदेश में डॉक्टरों की लापरवाही जनसंख्या नियंत्रण की कवायद पर भारी पड़ रही है। इसके चलते प्रदेश में 2018-19 में 88 नसबंदी ऑपरेशन फेल हुए। साथ ही नसबंदी के दौरान एक महिला की मौत भी हो चुकी है। इसको देखते हुए प्रदेश सरकार ने लाभार्थियों का मुआवजा दोगुना कर दिया है। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण निदेशक बद्री विशाल के मुताबिक अगर अब नसबंदी फेल हो जाए तो लाभार्थी महिला को 30 हजार रुपये के बजाए 60 हजार रुपये मुआवजा मिलेगा। इसका भुगतान नैशनल हेल्थ मिशन के जरिए किया जाएगा।

Have something to say? Post your comment
 
More Uttar Pradesh News
मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का एक साल पूरा होने पर यूपी में होंगी 6 वर्चुअल रैलियां नोएडा में कोरोना वायरस के कुल 366 मामले, 5 लोगों की मौत प्रियंका गांधी ने प्रवासी श्रमिकों में संक्रमण के आंकड़े पर CM योगी को घेरा, उठाए सवाल गाजियाबाद और दिल्ली सीमा सील, DM का आदेश- पास धारकों को ही होगी आने-जाने की इजाजत श्रमिकों को रोजगार देने के इच्छुक अन्य राज्यों को यूपी सरकार से लेनी होगी मंजूरीः CM योगी कोरोना आइसोलेशन वार्ड में मोबाइल के इस्तेमाल पर रोक नहीं, योगी सरकार ने वापस लिया आदेश यूपी: सीएम योगी की अधिकारियों के साथ बैठक, कोरोना की स्थिति पर लेंगे जायजा पुरातत्वविद केके मोहम्मद का दावा- राम जन्मभूमि परिसर के समतलीकरण में मिलीं प्रतिमाएं 8वीं शताब्दी की; यहां रामदरबार के अवशेष भी मिले Cong withdraws buses, hits out at UP govt for ‘drama’ नोएडा में कोरोना के 4 नए मामलों की पुष्टि, मरीजों की संख्या हुई 293