Tuesday, October 22, 2019
Follow us on
BREAKING NEWS
हरियाणा प्रदेश में 5 जगह कल होगा रिपोलिंग विधानसभा चुनाव:अनुराग अग्रवालहरियाणा में ईवीएम, वीवीपैट की सुरक्षा के लिए त्रिस्तरीय घेरा हर तरफ कैमरे और केंद्रीय बलों के जवान तैनातएजेएल मामला:पूर्व सीएम हुड्डा व चेयरमैन वोरा नहीं हुए सीबीआई कोर्ट में पेश, अगली सुनवाई 29 कोयूपीः कमलेश तिवारी हत्याकांड मामले में बरेली से एक शख्स को ATS ने हिरासत में लिया कमलेश तिवारी हत्याकांडः पकड़े गए मौलाना से मिलने आए थे हत्यारोपीक्रिटिक्स चॉइस अवार्ड्स' में इस बार वेब सीरीज़ को भी किया जाएगा शामिलप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 9 नवंबर को करेंगे करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन SC ने सोशल मीडिया के दुरुपयोग को रोकने के लिए हाइकोर्ट में दाखिल याचिकाएं ट्रांसफर कीं
 
Uttar Pradesh

अब नसबंदी फेल होने पर दोगुना मुआवजा देगी योगी सरकार

September 18, 2019 06:23 AM

COURTESY NBT SEPT 18

अब नसबंदी फेल होने पर दोगुना मुआवजा देगी योगी सरकार


नसबंदी ऑपरेशन में मौत होने पर 4 लाख मुआवजा
नए निर्देशों के मुताबिक, नसबंदी के दौरान या फिर डिस्चार्ज होने के एक हफ्ते के भीतर मौत होने पर दो के बजाए अब चार लाख रुपये का मुआवजा परिवार को मिलेगा। नसबंदी के बाद आठ से तीस दिन के भीतर अगर मौत होती है तो 50 हजार के बजाए 1 लाख रुपये का मुआवजा मिलेगा। इसी तरह नसबंदी के बाद व 60 दिनों के भीतर अगर महिला को किसी प्रकार की दिक्कत होती है तो उसके इलाज के लिए 25 हजार के बजाए अब 50 हजार रुपये दिए जाएंगे।
स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग ने जारी किए निर्देश, 30 हजार के बजाए मिलेंगे 60 हजार
आंकड़ों के मुताबिक 2018-19 में 88 नसबंदी फेल हुई हैं। इनमें सबसे ज्यादा 15 केस शाहजहांपुर में हुए। दूसरे नंबर पर पीलीभीत है, जहां 9 केस फेल हुए और तीसरे पर बाराबंकी है, जहां 7 ऐसे मामले हुए। इसके साथ ही एक महिला की मौत भी नसबंदी के दौरान हुई है। अधिकारियों के मुताबिक 2017-18 में 183 केस फेल हुए। साथ ही एक महिला की मौत और एक की तबीयत बिगड़ी थी।
नसबंदी के बाद इंफेक्शन या बुखार होने पर मिलेंगे 50 हजार रुपये
निदेशक परिवार कल्याण के मुताबिक पहले नसबंदी के बाद अगर महिला की तबीयत बिगड़ती या फिर इंफेक्शन, बुखार आने की दिक्कत होती थी तो उस स्थिति में महिला के इलाज के लिए 25 हजार मुआवजे का प्रावधान था, लेकिन सरकार ने इस राशि को भी दोगुना कर दिया है।• अभिषेक गौतम, लखनऊ

 

परिवार नियोजन के तहत नसबंदी फेल होने पर महिलाओं को अब 30 हजार रुपये के बजाए अब 60 हजार रुपये का हर्जाना मिलेगा। यह निर्देश पिछले महीने स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग की ओर से जारी किया गया है। अधिकारियों के मुताबिक इसका लाभ 31 मार्च 2019 के बाद के जितने भी केस फेल हुए हैं, उन सभी मामलों में महिलाओं को दिया जाएगा।

बता दें कि जहां एक तरफ भारत सरकार परिवार नियोजन को बढ़वा दे रही है, वहीं उत्तर प्रदेश में डॉक्टरों की लापरवाही जनसंख्या नियंत्रण की कवायद पर भारी पड़ रही है। इसके चलते प्रदेश में 2018-19 में 88 नसबंदी ऑपरेशन फेल हुए। साथ ही नसबंदी के दौरान एक महिला की मौत भी हो चुकी है। इसको देखते हुए प्रदेश सरकार ने लाभार्थियों का मुआवजा दोगुना कर दिया है। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण निदेशक बद्री विशाल के मुताबिक अगर अब नसबंदी फेल हो जाए तो लाभार्थी महिला को 30 हजार रुपये के बजाए 60 हजार रुपये मुआवजा मिलेगा। इसका भुगतान नैशनल हेल्थ मिशन के जरिए किया जाएगा।

Have something to say? Post your comment
More Uttar Pradesh News
यूपीः कमलेश तिवारी हत्याकांड मामले में बरेली से एक शख्स को ATS ने हिरासत में लिया कमलेश तिवारी हत्याकांडः पकड़े गए मौलाना से मिलने आए थे हत्यारोपी रॉबर्ट वाड्रा बैक पेन की शिकायत के बाद नोएडा के मेट्रो हॉस्पिटल में हुए भर्ती Police seize bloodstained clothes of Kamlesh killers कमलेश तिवारी की पत्नी बोली- सीएम योगी ने न्याय दिलाने का आश्वासन दिया कमलेश तिवारी हत्याकांड: होटल खालसा इन से भगवा कपड़े और बैग बरामद कमलेश तिवारी का परिवार सीएम योगी से मिलने लखनऊ पहुंचा लखनऊ: कल सुबह 11 बजे कमलेश तिवारी के परिजनों से मुलाकात करेंगे सीएम योगी कमलेश तिवारी के हत्या के आरोपियों को छोड़ेंगे नहीं- CM योगी अंतिम संस्कार के लिए तैयार हुआ कमलेश तिवारी का परिवार, कल सीएम से होगी मुलाकात