Sunday, October 20, 2019
Follow us on
 
Delhi

DUSU चुनाव: ABVP की बड़ी जीत, अध्यक्ष-उपाध्यक्ष समेत 3 पदों पर परचम

September 13, 2019 03:18 PM

दिल्ली विश्वविद्यालय छात्र संघ (DUSU) चुनाव के नतीजों के लिए आज मतगणना हुई. इसमें तीन पदों के नतीजे घोषित हो गए हैं. एबीवीपी ने प्रेसिडेंट, वाइस प्रेसिडेंट और जॉइंट सेक्रेटरी पद पर जीत दर्ज कर ली है. एबीवीपी की तरफ से अध्यक्ष पद पर अक्षित दहिया जीते हैं.

अपडेट्स

- डूसू चुनाव में एबीवीपी ने तीन पदों पर जीत दर्ज कर ली है. एबीवीपी ने प्रेसिडेंट, वाइस प्रेसिडेंट और जॉइंट सेक्रेटरी पद पर जीत दर्ज की है.

16वें राउंड की गिनती खत्म हो चुकी है. अभी तक प्रेसिडेंट, वाइस प्रेसिडेंट और जॉइंट सेक्रेटरी पद पर ABVP आगे चल रही है. वहीं सेक्रेटरी पद पर एनएसयूआई आगे है.

- चौथे राउंड की गिनती खत्म होने पर अध्यक्ष, उपाध्यक्ष और सचिव पद पर एबीवीपी आगे है. संयुक्त सचिव पद पर एनएसयूआई और एबीवीपी के बीच कांटे की टक्कर है.

 

-शुरुआती रुझानों में चारों सीटों पर एबीवीपी आगे है.

-डिस्प्ले में खराबी के चलते कुछ देर के लिए मतगणना रोक दी गई थी. हालांकि कुछ ही देर के बाद वोटों की गुनती दोबारा शुरू हो गई है.

-देर से शुरू हुई वोटों की गिनती, कड़ी सुरक्षा के बीच मतगणना जारी

बता दें कि कड़ी सुरक्षा के बीच गुरुवार को मतदान हुआ था. डीयू के मॉर्निंग कॉलेजों में सुबह 8:30 से दोपहर 1 बजे तक, जबकि इवनिंग कॉलेजों में 3 बजे दोपहर से शाम को 7:30 बजे तक वोट डाले गए. वोटिंग के दौरान एक्का-दुक्का घटनाओं को छोड़कर हंगामे की कोशिश की खबर नहीं मिली. मतदान के लिए 52 केंद्र बनाए गए थे.

 इन चुनावों में विवाद भी हुआ. नेशनल स्टूडेंट्स यूनियन ऑफ इंडिया (एनएसयूआई) ने दावा किया कि संयुक्त सचिव पद के उसके उम्मीदवार अभिषेक चपराना को दक्षिण दिल्ली के दयाल सिंह कॉलेज में मतदान केंद्रों पर नहीं जाने दिया. संगठन ने दावा किया कि चापर्णा को गैरकानूनी ढंग से हिरासत में लिया गया है. हालांकि पुलिस ने कहा कि वह उम्मीदवार कॉलेज के बाहर प्रचार कर रहा था जिसकी इजाजत नहीं है. पुलिस ने कहा कि जब उसे प्रचार करने से रोका गया तो उसने पुलिसकर्मियों के साथ खराब बर्ताव किया इसलिए उसे हिरासत में लेना पड़ा.

मतदान के लिए छात्रों के पास कॉलेज आईडी कार्ड या फिर एडमिशन की स्लिप होना जरूरी था. इसके अलावा ड्राइविंग लाइसेंस, आधार कार्ड, पैन कार्ड और वोटर आईडी कार्ड भी जरूरी थे. मुख्य मुकाबला भारतीय जनता पार्टी समर्थित अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) और कांग्रेस के छात्र संगठन भारतीय राष्ट्रीय छात्र संघ (एनएसयूआई) के बीच है.

एनएसयूआई से अध्यक्ष पद के लिए अंकित भारती, सचिव पद पर आशीष लांबा और संयुक्त सचिव पद के लिए अभिषेक चपराना उम्मीदवार हैं. पिछले चुनाव में एबीवीपी ने अध्यक्ष समेत तीन पदों पर जीत हासिल की थी जबकि एनएसयूआई को सचिव पद पर जीत मिली थी. एबीवीपी से अध्यक्ष पद के लिए अंक्षित दहिया मैदान में हैं. उन्हें एनएसयूआई की चेतना त्यागी टक्कर दे रही हैं. वामपंथी समर्थित AISA से दामिनी कैन और एसआईडीएसओ से रोशनी किस्मत आजमा रहीं हैं.

Have something to say? Post your comment
More Delhi News
दिल्ली में लगातार बढ़ रहे प्रदूषण के लिए केजरीवाल सरकार जिम्मेदार: मुख्तार अब्बास नकवी दिल्लीः कपिल सिब्बल आज कांग्रेस मुख्यालय में करेंगे प्रेस कॉन्फ्रेंस दिल्लीः 2022 में इंटरपोल की 91वीं आमसभा की मेजबानी करेगा भारत CPCB की टास्क फोर्स ने शुक्रवार को मीटिंग कर दिए सुझाव प्रदूषण बढ़ने पर कंपनियों को सलाह, घर से कराएं काम दिल्लीः आनंद विहार इलाके में दिवाली मेले में झूला गिरने से 10-12 लोग घायल दिल्ली: बीएसईएस कर्मचारी को अज्ञात हमलावरों ने घोंपा चाकू, हालत गंभीर Delhi tops among UTs in Niti Aayog’s innovation index दिल्लीः चिड़ियाघर में शेर के बाड़े में कूदा शख्स, सुरक्षाकर्मियों ने बचाई जान दिल्लीः बसपा नेता और पूर्व विधायक सुरेंद्र आम आदमी पार्टी में शामिल दिल्ली-NCR की हवा और खराब, एयर क्वालिटी इंडेक्स पहुंचा 300 पार