Monday, September 16, 2019
Follow us on
 
Haryana

यूपी में बच्चा चोरी की घटनाओं से हरियाणा में अफवाहों का दौर, पीटे जा रहे बेगुनाह, जरिया बने सोशल मीडिया पर पुलिस का कंट्रोल नहीं-Reports Dainik Bhaskar

September 10, 2019 05:55 AM

courtesy  DAINIK BHASKAR SEPT 10

यूपी में बच्चा चोरी की घटनाओं से हरियाणा में अफवाहों का दौर, पीटे जा रहे बेगुनाह, जरिया बने सोशल मीडिया पर पुलिस का कंट्रोल नहीं
भास्कर बिग रिपोर्ट क्योंकि आफत में जान है
डेढ़ माह में बच्चा चोरी की अफवाह की 50 से अधिक घटनाओं पर एक नजर
पुलिस का दावा- प्रदेश में छह माह से कोई गिरोह सक्रिय नहीं, सब अफवाह

भास्कर न्यूज |राजधानी हरियाणा / प्रदेश के विभिन्न जिलों से
उत्तर प्रदेश से शुरू हुई बच्चा चोरी की घटनाओं से अफवाह पहले अम्बाला पहुंची फिर पूरे हरियाणा में फैल गई। इससे जहां गांव से शहर तक दशहत का माहौल है। वहीं, संदेह के चलते डेढ़ माह में 20 से अधिक लोगों की भीड़ पिटाई कर चुकी है। आलम यह है कि भीड़ का शिकार पुलिस के साथ ही मां-बाप और परिजन भी हो रहे हैं। इस बर्बरता के पीछे वॉट्सएप पर वायरल अफवाहों को पुलिस जिम्मेदार मान रही है, पर अब तक राज्य में किसी भी व्यक्ति पर अफवाह फैलाने के आरोप में कार्रवाई नहीं की गई है। जबकि दिल्ली और यूपी में अफवाह फैलाने वालों को जेल भेजा जा रहा है। राज्य के एडीजीपी लॉ एंड आर्डर नवदीप सिंह विर्क ने दावा किया है कि छह माह से हरियाणा में कोई बच्चा चोरी गिरोह सक्रिय नहीं है। सभी जिलों के एसपी को आदेश दिया गया है कि अफवाह की सूचना पर प्रेस कॉन्फ्रेंस कर लोगों को जागरूक करें।
दहशत की 2 तस्वीरें: 1. अपना बच्चा साबित करना पड़ा, 2. संदेह में पीटा
हरिद्वार से लौट रहे परिवार को लोगों ने चोर समझ रोका

कुरुक्षेत्र, 14 अगस्त | हरिद्वार से अस्थि विसर्जित कर लौट रहे परिवार को लाड़वा में लोगों ने बच्चा चोर गिरोह समझ पकड़ लिया। सिरसावासी उक्त परिवार ने कार की डिग्गी में चार बच्चों को बिठाया हुआ था।
असर: रोहतक की पंचायत का फैसला, बगैर आईकार्ड प्रवेश नहीं
राेहतक| बाहरी शख्स को गांव में बगैर आईडी प्रूफ के नहीं घुसने दिया जाएगा। ये फैसला है रोहतक के गांव किलोई दोपाना, चुलियाना दूहन और मायना की पंचायत ने लिया है। फेरी लगाने वालों पर ये आदेश लागू हैं। गांव में आने वाले हर शख्स का रिकाॅर्ड मेंटेन किया जाएगा। दरअसल कुछ दिन पहले गांव सुनारिया में 5 बच्चों के अपहरण का प्रयास हुआ था।
कहीं भांजी को टहलाने ले गए मामा तो कहीं पुलिस वाले ही हो गए भीड़ का शिकार : पढ़िए पेज 2 पर
भीड़ ने जबरन गुनाह कबूल कराया, तब छोड़ा
करनाल, 8 सितंबर | राम नगर में रविवार की दोहपर शक में दो बाबाओं को भीड़ ने जमकर पीट दिया। उस वक्त डर के मारे में दोनों ने गुनाह कबूल कर लिया था, पर पुलिस से बताया कि बच्चा चोर नहीं हैं।
सतर्क रहें पर कानून हाथ में न लें...
ये अफवाहें आपके बच्चों की जिंदगी से जुड़ी हैं, इसलिए आप सतर्क रहें। पर कानून को हाथ में न लें। भीड़ का हिस्सा न बनें। साथ ही बिना किसी प्रमाण के किसी की भी सूचना को सोशल मीडिया के जरिए आगे न बढ़ाएं।
भास्कर इन्वेस्टिगेशन में 4 तथ्य आए सामने
1. यूपी से अम्बाला पहंुचा अफवाहों का दौर
: उत्तर प्रदेश के संभल, हापुड़, मेरठ, बुलंदशहर व मुजफ्फरनगर जैसे 10 से अधिक शहरों में शक में उन्मादी भीड़ हमले कर रही थी।
: राज्य में पहली बार 2 अगस्त को अम्बाला में बच्चा चोरी की अफवाह सामने आई।
3. पुलिस ने शुरुआत में नहीं दिखाई गंभीरता
: पड़ोसी राज्य यूपी में अफवाह के चलते हो रहीं बर्बर घटनाओं से हमारी पुलिस ने सबक नहीं लिया।
: किसी समूह या व्यक्ति पर ठोस कार्रवाई नहीं की। जबकि राई में 1 सितंबर को भीड़ ने 12 महिलाओं को शक में बंधक बना लिया था।
क्या कहता है कानून: अफवाह फैलाने पर तीन साल तक की सजा, जुर्माना या दोनों का नियम
सीनियर एडवाेकेट परीक्षित अहलावत ने बताया कि काेई जानबूझकर एेसी अफवाहाें काे अागे बढ़ाता है या फैलता है, जिससे सार्वजनिक शांतिभंग हाेती हाे, ताे उस व्यक्ति के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 505 के तहत पुलिस केस दर्ज कर सकती है। इसमें तीन साल तक की सजा व जुर्माना या दाेनों का प्रावधान है। पुलिस काे बिना वारंट गिरफ्तारी का अधिकार भी है। अाैर यह गैरजमानती है।
दिल्ली-उत्तर प्रदेश में अफवाह फैलाने वाले भेजे जा रहे जेल, यहां अब भी कड़ी कार्रवाई का इंतजार
2. सोशल मीडिया से भड़की भीड़
: साेशल मीडिया से अफवाहों का दौर तेज हुआ। बिना जांच किए या बिना सोचे समझे ही लोग संदेश सोशल मीडिया पर चलाते रहे।
: मैसेज में बड़ी तादाद में बच्चा चोर गिरोह के सक्रिय होने की कहानियां गढ़ी जाती रहीं।
4. शहर से लेकर गांव तक लोगों मंे डर पैदा हुअा
: बच्चा चोरी की अफवाहों के चलते लोग अपने ही बच्चों को लेकर निकलने से बच रहे हैं।
: पार्क में भी बच्चे खेलने कम निकल रहे हैं, क्योंकि माता-पिता पर भी अफवाहों का असर है। इससे बचपन घरों में कैद होकर रह गया

Have something to say? Post your comment
More Haryana News
हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग द्वारा क्लर्क के पदों के लिए 21को सायं,22 और 23 सितंबर को सुबह और शाम परीक्षा ली जाएगी
हरियाणा सरकार ने एक आईपीएस और चार एचपीएस का किया तबादला
हरियाणा पुलिस ने एक माह में 26 आपराधिक गिरोहों का किया पर्दाफाश
करनाल की जनता विधायक बदले: कुमारी सैलजा एचएसएससी / क्लर्क भर्ती परीक्षा तय समय पर ही होगी , स्थगित होने का झूठा लेटर हुआ वायरल-भारतभूषण भारती, चेयरमैन
सूचना एवं जनसंपर्क विभाग में चार एआईपीआरओ किया तबादला
हरियाणा : सूचना एवं जनसंपर्क विभाग में आठ एपीआरओ का हुआ तबादला यमुनानगर- फैक्ट्री में 400 किलो का गैस सिलेंडर फटा, कई लोग झुलसे
साढोरा हलके के गांव छोली साढोरा के सरपंच दलीप सिंह ने बीजेपी छोड़ी
जननायक जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व सासंद छछरौली पहुंचे, सैकड़ो समर्थकों ने किया स्वागत