Sunday, September 15, 2019
Follow us on
BREAKING NEWS
मुख्यमंत्री प्रदेश के युवाओं का हक मारकर हरियाणा को गुजरात-2 बना रहे: दिग्विजय चौटालाआंध्र में नाव पलटने के बाद इलाके में सभी नाव सेवाएं तत्काल बंद करने के आदेशअनुच्छेद 370 पर गुलाम नबी आजाद समेत अन्य याचिकाओं पर कल सुप्रीम कोर्ट में सुनवाईआंध्र प्रदेश में डूबी 60 सैलानियों से भरी नाव, 7 लोगों की मौतअसम की तरह हरियाणा में भी राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी) लागू किया जायेगा': मनोहरलालराजस्थान: डैम का पानी छोड़े जाने से रोड ब्लॉक, कल से स्कूल में फंसे 350 बच्चे और 50 शिक्षकतमिलनाडु: बैनर गिरने से लड़की की मौत के मामले में AIADMK नेता के खिलाफ FIR 16 सितंबर को दो दिवसीय हरियाणा दौरे पर जाएंगे बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा
 
Haryana

घग्गर नदी में पानी के तेज बहाव से हर्बल पार्क से लेकर खाली एरिया की जमीन नदी में बही पंचकूला एक्सटेंशन सेक्टरों के लोगों ने पिछले साल सेफ्टी वॉल टूटने की दी थी कंप्लेंट, नहीं हुई कार्रवाई

August 24, 2019 05:54 AM

COURTESY DAINIK BHASKAR AUG 24घग्गर नदी में पानी के तेज बहाव से हर्बल पार्क से लेकर खाली एरिया की जमीन नदी में बही
पंचकूला एक्सटेंशन सेक्टरों के लोगों ने पिछले साल सेफ्टी वॉल टूटने की दी थी कंप्लेंट, नहीं हुई कार्रवाई

पंचकूला एक्सटेंशन सेक्टरों में इन दिनों घग्गर नदी में आने वाले पानी के तेज बहाव के कारण मिट्टी भी नदी में खिसकने लगी है। एचएसवीपी की अोर से बनाए सालों पुराने पिकनिक हट की सेफ्टी वॉल तो पिछले साल ही टूटनी शुरू हो गई थी, इस साल सेक्टर 26 के हर्बल पार्क से लेकर नदी के साथ खाली पड़े एरिया की भी मिट्टी नदी में कटनी शुरू हो गई। वहीं, एचएसवीपी के अधिकारियों की ओर से जब इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं होती दिखी तो घग्गर पार सेक्टर के लोगों ने डीसी पंचकूला को कंप्लेंट कर इस मामले में कार्रवाई करवाने के लिए डिमांड की है। सेक्टर 26 आरडब्ल्यूए की ओर से डीसी को कंप्लेंट की गई है कि घग्गर पार एरिया में काफी हिस्सा नदी के साथ लगता है और ऐसे में नदी के साथ लगने वाले रेजीडेंशियल एरिया की सेफ्टी भी प्रशासनिक अधिकारियों की जिम्मेवारी है। एसोसिएशन की ओर से डिमांड की गई है कि रीवर बैड एरिया में अब पत्थरों के सेफ्टी पैड बनाए जाएं, ताकि नदी में कटने वाली जमीन को रोका जा सके।
: एचएसवीपी ने नहीं लिया एक्शन, अब डीसी को लोगों ने की कंप्लेंट...
पंचकूला एक्सटेंशन सेक्टरों के साथ घग्गर नदी के साथ जितने भी पिकनिक स्पॉट बने है,उनकी हालत पिछले साल से ही खराब है। कुछ महीने पहले एचएसवीपी की ओर से एक या दो स्पॉट की मैंटेनेंस जरूर करवाई गई थी, लेकिन वो भी फ्रंट साइड से करवाई गई। पिछले साल नदी के साथ लगी सेफ्टी वॉल भी डैमेज होकर नदी में गिर गई थी, इसे ठीक करवाने के लिए हमने पिछले साल उसी वक्त एचएसवीपी को कंप्लेंट की थी, लेकिन उस पर कोई कार्रवाई भी नहीं हुई। इस मामले में अब हमने डीसी पंचकूला को भी मेल कर कंप्लेंट दी है और अब तो हर्बल पार्क के साथ लगने वाला नदी की हिस्सा भी टूटना शुरू हो गया है। -धर्म सिंह हीरा, अारडब्ल्यूए सेक्टर 26 प्रधान
पंचकूला में सबसे बडा पार्क सेक्टर 26 में है और इस हर्बल पार्क का भी बरसात के कारण नदी में आने वाले तेज बहाव के कारण नुकसान होने लगा है। कुछ दिन पहले ही यहां पर नदी में तेज पानी का बहाव आया था, जिससे पार्क की बाउंड्री वॉल का हिस्सा भी टूट गया। इसके साथ यहां पर सेफ्टी वॉल भी बनाई गई थी, जो भी अब मैंटेनेंस वर्क नहीं होने से खराब होती जा रही है। एचएसवीपी के अधिकारियों का यहां पर जरा सा भी ध्यान नहीं है और अब पार्क के साथ वाले खाली एरिया में भी जमीन का हिस्सा नदी में बह गया। एचएसवीपी की ओर से यहां पर जितना भी एरिया नदी के साथ लगता है उस रेजीडेंशियल एरिया को सेफ करने के लिए नए सिरे से सिक्योरिटी प्रबंध करने चाहिए। -संजीव गोयल, अारडब्ल्यूए सेक्टर 25 प्रधान
अभी घग्गर नदी के साथ लगते कई ऐसे सेक्टर है जिनके साथ सेफ्टी वॉल ही नहीं बनाई हुई। बरसात के दिनों में जब भी नदी में पानी का बहाव तेज आता है तो कभी जमीन का हिस्सा उसमें बह जाता है और कभी एचएसवीपी ने कई साल पहले बनाए पिकनिक स्पॉट की सेफ्टी वॉल टूट जाती है। हैरानी की बात तो ये है कि जब डिपार्टमेंट के अधिकारियों को इस बारे में कंप्लेंट दी जाती है तो उस पर कोई एक्शन तक नहीं होता। घग्गर पार सेक्टरों के लिए घग्गर नदी में आने वाले तेज पानी की समस्या काफी गंभीर है और लोग इस समस्या से परेशान है, जबकि अधिकारी इस बारे में कोई कार्रवाई भी नहीं करते। -जसबीर सिंह, सेक्टर 28, पूर्व प्रधान हाउसिंग बोर्ड
पंचकूला एक्सटेंशन सेक्टरों को डेवलप करने के लिए एचएसवीपी से लेकर सरकार भी दावे कर रही है। अब अगर यहां की डेवलपमेंट पर बात करें तो वो पब्लिक के सामने ही है कि जिन पार्कों को लोगों की सुविधाओं के लिए बनाया गया है वो कितने फायदेमंद है या नहीं। इनकी ऐसी हालत है कि लोग ना तो सैर कर सकते और ना ही बच्चे इनमें खेल सकते। सेक्टर 226 का हर्बल पार्क ही देख लो, यहां पर जितना भी नदी के साथ लगता हिस्सा है उसमें जालियां टूट गई है। उसके साथ मिट्टी तक नदी में खिसक रही है। यहां पर नदी के साथ पत्थरों के पैड बनाए जाने चाहिए, जिससे बरसात के दिनों में मिट्टी नदी में ना जा सके। -सुरेश कुमार, सेक्टर 27 रेजीडेंट

Have something to say? Post your comment
More Haryana News
मुख्यमंत्री प्रदेश के युवाओं का हक मारकर हरियाणा को गुजरात-2 बना रहे: दिग्विजय चौटाला असम की तरह हरियाणा में भी राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी) लागू किया जायेगा': मनोहरलाल 16 सितंबर को दो दिवसीय हरियाणा दौरे पर जाएंगे बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा हरियाणा: विधानसभा चुनाव के मद्देनजर कांग्रेस ने किया स्क्रीनिंग कमिटी का ऐलान
हरियाणा विधानसभा चुनाव: मधुसूदन मिस्त्री होंगे कांग्रेस स्क्रीनिंग कमेटी के अध्यक्ष
बड़े भाई कहें तो पीछे हट जाऊंगा: अभय चौटाला HARYANA-करोड़ों के टेंडर खुलने के इंतजार में देर रात तक नपा में बैठे रहे ठेकेदार नही पंहुचे अधिकारी, आंचार सहित में मामला लटकाने का प्रयास FARIDABAD लोगों ने खुद खोल दिया फ्लाइओवर टेस्टिंग के दौरान दौड़ती रही गाड़ियां ROHTAK-पानी पर हंगामा : गांधी कैंप में कांग्रेसी अाैर भाजपाई हुए आमने-सामने, सुनारिया में मंत्री ने जनसभा के दौरान लगाई अधिकारी की क्लास HARYANA- 3 हलकों में 14 दिन में 400 उद् घाटन-शिलान्यास नारायणगढ़ में विधायक पद खाली, वहां एक भी नहीं थोक में उद् घाटन :