Tuesday, September 17, 2019
Follow us on
 
Haryana

PANCHKULA- शहर में अाज से पांच रुपए में अाधा घंटे चला सकेंगे किराये पर लेकर साइकिल

August 21, 2019 05:42 AM

COURTESY DAINIK BHASKAR AUG 21


शहर में अाज से पांच रुपए में अाधा घंटे चला सकेंगे किराये पर लेकर साइकिल
सीएम करेंगे पब्लिक बाइसाइकिल शेयरिंग प्रोजेक्ट का उद्घाटन, पंचकूला बना हरियाणा का पहला शहर जिसमें साइकिल ऑन रेंट स्कीम शुरू

शहर में लोगों को एक सेक्टर से दूसरे सेक्टर में साइकिल से आने-जाने की सुविधा के लिए 2.09 करोड़ रुपए खर्च कर प्रोजेक्ट तैयार किया गया है। इसमें शहरनिवासी बुधवार से पब्लिक बाइसाइकिल शेयरिंग प्रोजेक्ट का लाभ उठा सकेंगे। उन्हें आधा घंटे बाइसाइकिल चलाने के लिए केवल पांच रुपए किराया चुकाना होगा। पहले आधे घंटे के बाद पांच रुपए के हिसाब से हर आधे घंटे के लिए किराया तय किया गया है।
हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्‌टर 21 अगस्त को पीडब्ल्यूडी रेस्ट हाउस, सेक्टर-1 में इस प्रोजेक्ट का उद्घाटन करेंगे। पंचकूला हरियाणा का पहला ऐसा शहर होगा, जिसमें साइकिल किराये पर देने की स्कीम शुरू की जा रही है। एमएलए ज्ञानचंद गुप्ता ने मंगलवार को हुडा फिल्ड हॉस्टल में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि इसके लिए शहर के सेक्टरों में 20 स्टेशंस बन चुके हैं। आज यहां किराये पर देने के लिए साइकिल खड़े कर दिए जाएंगे। इसके बाद शहर के लोग इस सर्विस का लाभ उठा सकेंगे। इन स्टेशंस पर 200 साइकिलों से प्रोजेक्ट की शुरूआत की जाएगी, जिसे बाद में डिमांड को देखते हुए बढ़ाने पर विचार होगा। रेजिडेंट्स और बाहर से किसी काम से या घूमने के लिए आए लोग इन स्टेशंस से साइकिल किराये पर ले सकेंगे। यह सर्विस पापुलर कराने के लिए एमसी जल्द ही शहर में साइक्लोथॉन और साइकिल रैली का भी आयोजन करेगा।
पब्लिक बाइसाइकिल शेयरिंग प्रोजेक्ट के लिए एमसी ने मेसर्स धरनी एंटरप्राइजेस को कॉन्ट्रेक्ट दिया है। एजेंसी पहले मध्य प्रदेश के भोपाल और इंदौर में प्रोजेक्ट चला रही है। हालांकि बाइसाइकिल शेयरिंग प्रोजेक्ट स्मार्ट सिटीज कॉन्सेप्ट है। साउथ एशिया और यूरोपियन देशों में ऐसे प्रोजक्ट पहले से चल रहे हैं। देश में स्मार्ट सिटीज के चयन के बाद यह शुरू किया है। स्मार्ट सिटी लिस्ट में शामिल चंडीगढ़ भी यह प्रोजेक्ट शुरू करने जा रहा है। पंचकूला अभी स्मार्ट सिटी की लिस्ट में शामिल नहीं है, लेकिन पंचकूला एमसी अपने बलबूते पर शहर में स्मार्ट सिटीज में मिलने वाली सुविधाएं यहां के रेजिडेंट्स को देने का प्रयास कर रहा है। चंडीगढ़, पिंजौर, जीरकपुर साइड से आने वाले लोगों को शहर की एंट्रेंस पर ही साइकिल किराये पर देने की व्यवस्था होगी। ये लोग शहर में अपने काम करने के बाद वापसी पर अपने साइकिल लौटा सकेंगे।
पर्यावरण के लिए जरूरी है साइकिल का इस्तेमाल: दुनियाभर में पर्यावरण को लेकर जागरूकता की बात हो रही है। इन दिनों मानसून सीजन में पौधरोपण पर जोर दिया जा रहा है। देश-विदेश में पब्लिक ट्रांसपोर्ट या कार शेयरिंग को बढ़ावा दिया जा रहा है। इसके चलते साइकिल बेस्ट ऑप्शन है। इससे प्रदूषण नहीं होता और साइक्लिंग से हेल्थ भी ठीक रहती है।
मोबाइल एप के जरिए मिलेगी साइकिल: शहर में घूमने के लिए मोबाइल फोन पर एेप स्टोर या एंड्रायड फोन यूजर को याना-वाईएएएनए मोबाइल एप अपने मोबाइल फोन पर डाउनलोड करना होगा। इसमें शहर के साइकिल स्टेशंस की जानकारी दी गई है। लोग 100 रुपए देकर मंथली बुकिंग भी करा सकते हैं। उन्हें 30 दिनों के लिए रोजाना 30 मिनट साइकिल चलाने की सुविधा मिलेगी। 50 रुपए देकर 15 दिन तक 30 मिनट की 15 राइड, 250 रुपए देकर 90 दिनों में 30 मिनट की 180 राइड, 500 रुपए देकर 180 दिनों के लिए 30 मिनट की 500 राइड, एक हजार रुपए देकर 360 दिनों के लिए 30 मिनट की 2,000 राइड का लाभ उठा सकते हैं। बाइक शेयरिंग की सुविधा किसी दोस्त, रिश्तेदार या किसी अन्य परिचित को रैफर करने पर 30 मिनट की फ्री राइड मिलेगी। मोबाइल एप डाउनलोड करने पर रेफरल कोड भी मिल रहा है।
पेमेंट कर फोन से स्कैन करते ही खुलेगा स्मार्ट लॉक: मोबाइल एप से आॅनलाइन पेमेंट पर क्यूआर कोड मिलेगा। फोन में यह कोड भरकर मोबाइल से साइकिल के अगले हिस्से को स्कैन करना होगा। इससे साइकिल का स्मार्ट लॉक ओपन हो जाएगा। इसी तरह स्टैंड पर साइकिल खड़ा करके स्कैनिंग करते हुए लॉक ऑटोमैटिक बंद हो जाएगा।
चोरी रोकने को यह किया जाएगा : एमसी अफसरों के मुताबिक किराये पर दिए जाने वाली साइकिलों की चोरी रोकने को इसकी कलर कोडिंग और डिजाइन कोडिंग करवाई है। बाहर जाते ही पहचान हो जाएगी। एजेंसी ने इन पर जीपीएस लगवाया है।
स्टूडेंट्स को होगा ज्यादा फायदा... पंचकूला नगर निगम का ध्यान पहले उन साइकिल स्टेशंस पर ज्यादा है, जहां साइकिल लेने वालों की संख्या ज्यादा होगी। गवर्नमेंट कॉलेज, सेक्टर-1 और गवर्नमेंट कॉलेज फॉर वुमन, सेक्टर-14 के बाहर भी साइकिल स्टेशन बनाए गए हैं। ऐसे में बस स्टाॅप से इन कॉलेजों में पैदल आने-जाने वाले स्टूडेंट्स के लिए साइकिल की सुविधा बेहतर साबित होगी। ये भी हो सकता है कि स्टूडेंट्स के लिए पंचकूला एमसी कोई डिस्काउंट पास बनाए, जिससे कि युवाओं में यातायात के वाहनों के इस्तेमाल करने के बजाय साइकिल का इस्तेमाल ज्यादा बढ़े। यहां बता दें कि सेक्टर-19 से शहर के अंदर के सेक्टरों के स्कूलों में जाने वाले स्टूडेंट्स के लिए भी एक स्टेशन बनना चाहिए था, जिससे सेक्टर-19 और अभयपुर से सरकारी स्कूलों में जाने वाली लड़कियों और लड़कों के लिए इसका अिधक इस्तेमाल होता

Have something to say? Post your comment