Monday, November 18, 2019
Follow us on
 
Haryana

विश्वविद्यालय में आंतरिक मूल्यांकन में नियमों से परे जाकर बढ़ाए अंक लापरवाही : छोटूराम विश्वविद्यालय की परीक्षा शाखा का एक अाैर कारनामा

August 15, 2019 08:49 AM

COURTESY DAINIK BHASKAR AUG 15

विश्वविद्यालय में आंतरिक मूल्यांकन में नियमों से परे जाकर बढ़ाए अंक
लापरवाही : छोटूराम विश्वविद्यालय की परीक्षा शाखा का एक अाैर कारनामा

दीनबंधु छोटूराम विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, मुरथल की परीक्षा शाखा की कार्यकुशलता पर एक बार फिर से सवाल खड़ा हुआ है। रिकाॅर्ड समय में परीक्षा परिणाम घोषित कर अक्सर वाहवाही हासिल करने वाली विश्वविद्यालय की परीक्षा नियंत्रक शाखा ने इस बार गजब ही किया हैं। विश्वविद्यालय ने आंतरिक परीक्षा में विद्यार्थियाें काे तय अंक से भी ज्यादा अंक दे दिए। नियम के मुताबिक किसी भी विद्यार्थी को आंतरिक परीक्षा में अधिकतम 25 ही अंक दिए जा सकते हैं, यह खुद अंक तालिका पर भी अंकित है बावजूद कई चरणों से जांच प्रक्रिया में गुजरने के बावजूद अंक तालिका में 28 अंक दिए गए हैं। इससे फिर से सवाल उठ रहा है कि विश्वविद्यालय में लापरवाही का यह दौर आखिर कब तक चलेगा?
यह है पूरा मामला : विश्वविद्यालय की ओर से घोषित किए गए परीक्षा परिणाम के मुताबिक बेचलर ऑफ टेक्नाेलाॅजी के डाटा बेस मैनेजमेंट सिस्टम में विद्यार्थी को आतंरिक परीक्षा में 25 की जगह 28 नंबर दिए गए। बताया गया है कि विवि के प्राध्यापकों के एक वर्ग ने इस गलती की ओर विवि के उच्च अधिकारियों को अवगत भी करवाया, लेकिन उनकी अनदेखी की गई। इस मामले में बताया गया है कि विश्वविद्यालय का साफ्टवेयर में ही ऐसा सिस्टम है जो 25 से अधिक अंक देने पर एरर दिखाता है, ऐसे में सवाल है कि क्या किसी की ओर से साफ्टवेयर में भी गड़बड़ी की गई।
सोनीपत. दीनबंधु छोटूराम विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय परिसर।
इस अंक तालिका को लेकर विवाद।
अनिल बंसल | सोनीपत
दीनबंधु छोटूराम विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, मुरथल की परीक्षा शाखा की कार्यकुशलता पर एक बार फिर से सवाल खड़ा हुआ है। रिकाॅर्ड समय में परीक्षा परिणाम घोषित कर अक्सर वाहवाही हासिल करने वाली विश्वविद्यालय की परीक्षा नियंत्रक शाखा ने इस बार गजब ही किया हैं। विश्वविद्यालय ने आंतरिक परीक्षा में विद्यार्थियाें काे तय अंक से भी ज्यादा अंक दे दिए। नियम के मुताबिक किसी भी विद्यार्थी को आंतरिक परीक्षा में अधिकतम 25 ही अंक दिए जा सकते हैं, यह खुद अंक तालिका पर भी अंकित है बावजूद कई चरणों से जांच प्रक्रिया में गुजरने के बावजूद अंक तालिका में 28 अंक दिए गए हैं। इससे फिर से सवाल उठ रहा है कि विश्वविद्यालय में लापरवाही का यह दौर आखिर कब तक चलेगा?
यह है पूरा मामला : विश्वविद्यालय की ओर से घोषित किए गए परीक्षा परिणाम के मुताबिक बेचलर ऑफ टेक्नाेलाॅजी के डाटा बेस मैनेजमेंट सिस्टम में विद्यार्थी को आतंरिक परीक्षा में 25 की जगह 28 नंबर दिए गए। बताया गया है कि विवि के प्राध्यापकों के एक वर्ग ने इस गलती की ओर विवि के उच्च अधिकारियों को अवगत भी करवाया, लेकिन उनकी अनदेखी की गई। इस मामले में बताया गया है कि विश्वविद्यालय का साफ्टवेयर में ही ऐसा सिस्टम है जो 25 से अधिक अंक देने पर एरर दिखाता है, ऐसे में सवाल है कि क्या किसी की ओर से साफ्टवेयर में भी गड़बड़ी की गई।
शुरुआत से ही विवादों में रही है विवि की परीक्षा शाखा
ऐसा पहली बार नहीं है कि जब विश्वविद्यालय की परीक्षा शाखा की कार्यकुशलता पर सवाल उठा हो, उत्तर पुस्तिका जांच के मामले में अक्सर यह विवादों में रही है, सैकड़ों विद्यार्थियों को फेल करने के बाद पुन: जांच में तब उर्त्तीण घोषित किया गया जब मामला राज्य सरकार से लेकर केंद्र सरकार तक के संज्ञान में लाया गया।
25 गलत कॉपी जांच में चेयरमैन के अधिकार पर भी उठा दिए सवाल
परीक्षा प्रणाली को लेकर सजग होने का दावा करने वाले विश्वविद्यालय प्रशासन ने इससे पहले बैचलर ऑफ टेक्नाेलाॅजी डिग्री प्रोग्राम, मैकेनिकल इंजीनियरिंग उत्तर पुस्तिका जांच में गड़बड़ी के आरोप लगे थे। इसमें कहा गया था कि करीब 25 कॉपियों में मूल्यांकन नियमानुसार नहीं था। विवि स्तर के प्राध्यापक होने के बावजूद उत्तर पुस्तिकाओं में कुल अंक, पोस्टिंग एवं ओवर राइटिंग तक यहां देखने को मिली। इस पर जब चेयरमैन संबंधित प्राध्यापक को मूल्यांकन कार्य से बाहर किया तो विश्वविद्यालय के परीक्षा नियंत्रक ने इस निर्देश को उनके अधिकार क्षेत्र से बाहर की बात बताते हुए आदेश को निरस्त कर दिया।
कुलसचिव बोले यह हमारा आंतरिक मामला : परीक्षा व्यवस्था को लेकर विश्वविद्यालय के परीक्षा नियंत्रक ने जहां इस गंभीर मसले पर कुछ भी जवाब नहीं दिया तो वहीं विश्वविद्यालय के कुलसचिव डॉ. अनिल खुराना ने कहा कि यह हमारा आतंरिक मामला है, हम स्वयं ही इसे सुलझा लेंगे।

Have something to say? Post your comment
More Haryana News
Let me live: Gurugram’s message to govt HARYANA-Press(ing) need for good managers HARYANA-BJP rebels, JJP’s senior leader dejected over being left out सीएम ने जिसे 'नशे के कारोबारी बता पार्टी से दरकिनार किया था उसी देसूजोधा ने रणजीत के साथ मंच साझा कर किया संबोधित PANCHKULA- सेक्टर-15/16 की डिवाइडिंग रोड पर वाॅटर ऑपरेटिंग चैंबर में गिरने से 53 साल के व्यक्ति की हुई थी मौत पानीपत: 155 करोड़ के टैक्स घोटाले में ईटीओ-इंस्पेक्टर पर होगी एफआईआर पहली बार सेल टैक्स के अफसरों पर केस को मंजूरी HARYANA-जनवरी में मिलेगा भाजपा को नया प्रदेशाध्यक्ष, इसी माह विधानसभा वाइज होंगी भाजपा की समीक्षा बैठकें जिस सीआईडी का डर, अब उसके ही मंत्री बने बाबा उचाना में पूर्व केंद्रीय मंत्री बीरेंद्र सिंह बोले-हर चुनाव में हिसाब लगा लेते थे, लेकिन इस बार गड़बड़ाया ROHTAK- 24 काॅलोनियों में 20 मिनट भी नहीं आ रहा पानी, अधिकारी बोले-सात दिन की स्टोरेज क्षमता, 15 दिन सप्लाई देना चुनौती