Monday, April 06, 2020
Follow us on
Haryana

कांग्रेस नेता कुलदीप बिश्नोई के घर 76 घंटे बाद इनकम टैक्स की रेड खत्म, बेटे भव्य को साथ ले गई टीम

July 26, 2019 04:40 PM

कांग्रेस नेता और विधायककुलदीप विश्नोई के ठिकानों पर आयकर टीम की जांच 76 घंटे बाद खत्म हो गई। टीम ने मंगलवार सुबह 8 बजे विश्नोई के ठिकानों पर छापेमारी शुरू की थी। शुक्रवार करीब 1 बजे टीम कुलदीप विश्नोई के हिसार के सेक्टर-15 स्थित आवास से रवाना हुई। टीम अपने साथ कुलदीप के बेटे भव्य को दिल्ली ले गई है।कुछ कागजात भी ले जाने की सूचना है। हालांकि, अभी अधिकारिक तौर पर विभाग की तरफ से किसी प्रकार की जानकारी नहीं दी गई है। कुलदीप, हरियाणा के पूर्व सीएम भजनलाल के बेटे हैं। उनकी पत्नी रेणुका भी विधायक हैं।

इससे पहले मंगलवार सुबह आयकर विभाग ने कुलदीप विश्नोई केआदमपुर, हिसार, गुड़गांव और दिल्ली स्थित आवास और प्रतिष्ठानों पर छापेमारी शुरू की थी। आदमपुर मंडी स्थित कुलदीप की आढत पर मंगलवार देर रात तक आयकर विभाग ने सर्च की। इसके बादएक टीम ने यहां से पैकअप किया औरविधायक के बेटे भव्य को हिसार सेक्टर-15 आवास पर साथ लेकर आई।

इसके बाद सर्च में घर का सामान, अलमारी, पार्क, बाथरूम, छत पर टंकियां आदि को खंगाला गया। परिजनों और करीबियों से पूछताछ की गई। घर में मिले सामान का रिकॉर्ड बनाया गया, क्रॉस चेक किया गया और बयान भी दर्ज किए गए। आयकर की छापेमारी के दौरान कुलदीप की मां जस्मा देवी भी आवास पर रहीं। आयकर की छापेमारी के दौरान कुलदीप केसमर्थक घर के बाहर डटे रहे। किसी को भी घर से बाहर या भीतर नहीं आने-जाने दिया गया।

एक्सपर्ट्स ने बताया कैसे चलती है आयकर विभाग की कार्यवाही
आईटी टीम पहले दिन छापेमारी की जगह पर दस्तावेजों, कैश, प्रॉपर्टी से जुड़ी जानकारियों के साथ-साथ जिन स्थान पर दस्तावेज व रुपए आदि छिपाए जा सकते हैं उनको खोजने का काम करती है। दूसरे दिन जो भी सर्च में तथ्य मिलते हैं उन्हें परिवार के सदस्य के साथ सत्यापित किया जाता है, ताकि यह पता चल सके कि किस संपत्ति का हिसाब दिखा रखा है या किसका नहीं।

यह काम दो या तीन दिन तक भी चल सकता है। अगर हिसाब में शामिल न होने वाली संपत्ति हो तो वह अलग हो जाती है, जिसको इंपाउंड करने के लिए एक रिकॉर्ड बनाया जाता है। संबंधित के बयान दर्ज किए जाते हैं। इसके बाद सर्च ऑपरेशनसमाप्त होता है। इस रिकॉर्ड को अपने साथ असेसमेंट के लिए अधिकारी दफ्तर ले जाते हैं। इसके कुछ समय बाद प्रोसिडिंग शुरू होती है, अगर व्यक्ति या फर्म उन संपत्तियों का स्रोत नहीं बता पाते तो उन पर टैक्स पेनल्टी की कार्रवाई के साथ कानूनी कार्यवाही भी हो सकती है।

Have something to say? Post your comment
 
More Haryana News
केस दर्ज कर सीसीटीवी फुटेज चेक कर रही है पुलिस धनकोट में मस्जिद के बाहर फायरिंग School closures may raise obesity among kids: Experts Ggm labour dept seeks industry opinions on operations post Apr 14 प्रधानमंत्री मोदी की अपील पर दीपावली के बाद अप्रेल में सिरसा में भी पहली बार हुआ दीपोत्सव
हरियाणा के राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य ने चंडीगढ़ में अपने निवास पर मोमबत्ती जलाकर एकजुटता का दिया संदेश
मनोहर लाल ने मुकेश गर्ग द्वारा ‘हरियाणा कोरोना रिलीफ फंड’ में एक करोड़ रूपए का योगदान दिए जाने पर उनका धन्यवाद किया कोरोना:अम्बाला के उपायुक्त अशोक कुमार ने परिवार संग मनाया प्रकाश पर्व
कोरोना:अम्बाला सिटी में विधायक असीम गोयल ने परिवार संग मनाया प्रकाश पर्व
ऊर्जा मंत्री चौधरी रणजीत सिंह ने परिवार संग मनाया प्रकाश पर्व
हरियाणा के स्वास्थ्य व गृह मंत्री अनिल विज ने दीया और मोमबत्ती जलाकर कोरोना के खिलाफ एकता का दिया संदेश