Thursday, December 12, 2019
Follow us on
BREAKING NEWS
दिल्ली में आयोजित 7वें gfiles गवर्नेंस अवार्ड के अवसर पर केंद्रीय मंत्री नितिन जयराम गडकरी प्रोफ़ेसर डॉ. एस के सरीन को लाईफ टाईम अचीवमेंट अवार्ड प्रदान करते हुएवर्ल्ड मेडिकल कॉलेज के कुछ छात्र आज अनिल विज से मिलेउत्तरकाशी: भारी बर्फबारी के चलते सरकारी और प्राइवेट स्कूल कल रहेंगे बंदअसम: एक्टर और बीजेपी नेता जतिन बोरा ने पार्टी से दिया इस्तीफाअयोध्या केस: SC की 5 जजों की बेंच ने अपना फैसला सुनायाअयोध्या केस: SC ने सभी 18 पुनर्विचार याचिकाएं खारिज कींXavier Institute of Management and Entrepreneurship (XIME) announces Two-day National Seminar on ‘Make in India: Making it Work’ in January 2020दिल्ली: निर्भया के चारों दोषियों को शुक्रवार को पटियाला हाउस कोर्ट में पेश किया जाएगा
Haryana

PANIPAT - मॉडल टाउन के पॉल ट्रांसपोर्टर घराने को मिला था प्रदेश में 60 बसें चलाने का ठेका, 20 के रेट में धांधली का केस दर्ज

July 24, 2019 06:20 AM

COURTESY DAINIK BHASKAR JULY 24
मॉडल टाउन के पॉल ट्रांसपोर्टर घराने को मिला था प्रदेश में 60 बसें चलाने का ठेका, 20 के रेट में धांधली का केस दर्ज

रोडवेज के किलोमीटर स्कीम में घोटाले के आरोप में पॉल ट्रेवल्स लाइंस और जशगुन ट्रेवल्स पर यमुनानगर के साथ करनाल डिपो की बस के रेट में भी फर्जीवाड़ा करने का केस दर्ज किया है। दोनों ट्रेवल्स को यमुनानगर और करनाल में पांच-पांच बसें चलाने का परमिट मिला था। स्टेट विजिलेंस के महानिदेशक की शिकायत पर दोनों ट्रेवल्स के मालिक पर विजिलेंस थाना करनाल में एफआईआर दर्ज की गई है। एफआईआर के मुताबिक सरकार ने 60 रुपए प्रति लीटर डीजल के रेट पर 19.50 रुपए किलोमीटर स्कीम निकाली। पॉल ट्रेवल्स लाइन्स के मालिक प्रीतपाल सिंह व जश्गुन ट्रेवल्स की मालकिन नैंसी ने एक ही कंप्यूटर से 36.90 रुपए की रेट से टेंडर भर हासिल कर लिए। दोनों डिपो, यमुनानगर और करनाल में रेट समान थे। इस आधार पर फर्जीवाड़े का शक है। हरियाणा रोडवेज संयुक्त कर्मचारी संघ के प्रदेश अध्यक्ष दलबीर किरमारा ने कहा कि यूनियन संबंधी आरोप झूठे हैं सरकार इसकी भी विजिलेंस जांच करवा ले।
पॉल ट्रेवल्स को 25 बसें चलानी थी, पानीपत डिपो में 15 और करनाल में 10 बसें
पॉल ट्रेवल्स के मालिक गुरशरण सिंह बब्बू के परिवार के तीन ट्रेवल्स (पॉल ट्रेवल्स, पॉल ट्रेवल्स लाइंस और जश्गुन ट्रेवल्स) को 60 बसें चलाने के परमिट मिले थे। पॉल ट्रेवल्स को 25 बसें चलानी थी। इसमें पानीपत डिपो में 15 और करनाल में 10 बसें थी। इसी प्रकार पॉल ट्रेवल्स लाइंस को 10 बसें (पांच करनाल व पांच यमुनानगर) तथा जश्गुन ट्रेवल्स को 25 बसें (5 पानीपत, 10 कुरुक्षेत्र, 5 करनाल और 5 यमुना नगर) चलाने की अनुमति मिली थी। इनमें पॉल ट्रेवल्स लाइंस और जश्गुन ट्रेवल्स के यमुनानगर और करनाल डिपो से चलने वाली पांच-पांच (कुल 20) बसों की रेट पर फर्जीवाड़े का आरोप है।
अंसल के ए-ब्लाॅक में खड़ी पाॅल ट्रेवल्स की बसें।
सरकार की योजना को फेल करनेे यूनियन वालों ने रची साजिश : बब्बू
सरकारी योजना को फेल करने को रोडवेज यूनियन वालों की यह साजिश है। यूनियन वालों ने अपने लोगों को 19.98 रुपए प्रति किलोमीटर की निम्न रेट से 10 बसें दिला दी। उन्हें बसें चलानी नहीं है। इसलिए निम्न रेट पर परमिट ले लिया। उसी के आधार पर किलोमीटर स्कीम में फर्जीवाड़े का आरोप लगा दिया। हम लोगों ने कोई गलती नहीं की। 30 रुपए प्रति किमी. पर तो बैंक भी लोन नहीं देता। सरकार से करार के आधार पर हमने बसें खरीद ली। आज 40 लाख रुपए महीना किस्त भर रहे हैं।
गुरशरण बब्बू
करनाल और यमुनानगर डिपो में चलने वाली बस के रेट में भी फर्जीवाड़ा करने का है आरोप
अंसल में 8 महीने से खड़ी हैं पॉल ट्रेवल्स ग्रुप की 35 बसें
40 बसाें का ठेका छाेड़ भागी गुजरात की कंपनी
हरियाणा सरकार ने 55 ट्रेवल्स काे 510 बसाें के लिए परमिट जारी किया था। इसमें एक ट्रेवल्स गुजरात का था। पाॅल ट्रेवल्स के मालिक गुरशरण ने बताया कि रेट काे लेकर विवाद बढ़ गया ताे गुजरात का ट्रेवल्स पैसा वापस लेकर चला गया। उन्हाेंने कहा कि एक लीटर में 4 किलाेमीटर बस चलाने के हिसाब से ही रेट तय किया गया था। पाॅल ट्रेवल्स लाइंस व जश्गुन ट्रेवल्स काे 36.90 रुपए रेट मिले थे, क्याेंकि उस वक्त डीजल की कीमत 69 रुपए प्रति लीटर थी। अब चूंकि जीएसटी भी खत्म कर दिया गया है अाैर डीजल की कीमत भी कम हाे गई है। इसलिए रेट 36.90 रुपए प्रति किलाेमीटर से घटकर 30 रुपए पहुंच गया है। बब्बू ने कहा कि बावजूद इसके हमें चाेर बनाया जा रहा है

 
Have something to say? Post your comment
 
 
More Haryana News
वर्ल्ड मेडिकल कॉलेज के कुछ छात्र आज अनिल विज से मिले ऊर्जा संरक्षण की थीम पर आयोजित होगी राहगीरी, अतिरिक,पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह ने वीडियो कांफ्रेंस से ली बैठक चेयरमैन, हैफेड श्री सुभाष कत्याल ने हैफेड तेल मिल, रेवाड़ी का निरिक्षण किया व् हर्बल पौधारोपण भी किया नागरिकता संशोधन बिल राष्ट्र हित को ध्यान में रखकर यह ऐतिहासिक निर्णय लिया गया:मनोहर लाल
हरियाणा प्रदेश में 750 डॉक्टरों की भर्ती की जा रही हैं:विज
हरियाणा प्रदेश में हम किसी को नशा बेचने नही देगें:विज शाह बन रहे हैं बीजेपी, संघ के हिंदुत्व का चेहरा No restarting of flights from Hisar for now: Dushyant FARIDABAD-विकास पर प्रदूषण का ब्रेक : 1 महीने से बंद हैं काम, करीब 10 हजार से अधिक श्रमिक लौट गए अपने घर पुलिस कर रही सबसे ज्यादा मानवाधिकारों का उल्लंघन