Wednesday, December 11, 2019
Follow us on
BREAKING NEWS
पुलिस कर रही सबसे ज्यादा मानवाधिकारों का उल्लंघन धान की कथित गड़बड़ी मामले में पीवी के फैसले को लेकर मिलर्स की आज कुरुक्षेत्र में प्रदेशस्तरीय बैठकदुष्कर्म प्रयास मामले में आर्केस्ट्रा कलाकार ने ऑडियो जारी कर कहा- पुलिस बना रही समझौते का दबाव, फिर खाया जहरपंचकूला हिंसा मामले में दाखिल याचिका पर हाईकोर्ट में हुई सुनवाई, कोर्ट ने प्रदेश सरकार से पूछाHARYANA-तबादले का अधिकार; मंत्रियों के पास बचे 5 दिन, सचिवालय में कर्मचारियों का जमघट, लोकसभा में भाटिया बोले- पानीपत में दुनिया का ऐसा पुल, जिसे बिना उपयोग किए वसूला जा रहा टोलसाेनिया की नाराजगी के बाद नागरिकता बिल पर शिवसेना का यू-टर्न, जदयू में भी िवरोध के सुर; पर भाजपा अाश्वस्तKARNAL DISTT- सफाई कर्मचारी करते हैं ड्रेसिंग, रात की ड्यूटी में नहीं कोई डॉक्टर
Haryana

HISAR(HARYANA)-सिविल अस्पताल...यहां मर्ज का नहीं इलाज... जख्म देने के लिए घूम रहे स्ट्रे डॉग, हफ्तों बाद भी वैक्सीन का प्रबंध नहीं

July 24, 2019 06:06 AM

COURTESY DAINIK BHASKAR JULY 24

कुत्ते और बंदरों के हमलों से रेबीज का खतरा

शहर के सिविल अस्पताल में रेबीज से बचाव के लिए एंटी रेबीज वैक्सीन उपलब्ध नहीं हैं। पिछले एक पखवाड़े से वैक्सीन का संकट है। शासन-प्रशासन इसका बंदोबस्त नहीं कर पाया है। वहीं, पीड़ित दर-दर भटक कर रेबीज से बचाव के लिए महंगे दाम पर वैक्सीन खरीदकर लगवाने के लिए मजबूर हैं।
वहीं शहर की गलियों सहित सिविल अस्पताल परिसर में भी स्ट्रे डॉग घूम रहे हैं। इन स्ट्रे डॉग्स से पब्लिक को बचाने के लिए कोई इंतजाम नहीं किए गए हैं। ऐसे में आक्रामक होकर स्ट्रे डॉग लगातार लाेगों पर हमला कर रहे हैं। इसके अलावा झुंड में आकर बंदर भी आतंक मचा रहे हैं। पार्क में बैठकर खाना खाने वाले मरीजों व उनके तीमारदारों पर झपटकर नुकसान पहुंचा रहे हैं। इन जानवरों पर शिकंजा कसने के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठाया है। बंदरों को पकड़ने के लिए सिविल अस्पताल प्रबंधन द्वारा वन्य जीव विभाग को पत्र तक लिखा जा चुका है, मगर अभी तक उस पर संज्ञान नहीं लिया है।
सिविल अस्पताल...यहां मर्ज का नहीं इलाज... जख्म देने के लिए घूम रहे स्ट्रे डॉग, हफ्तों बाद भी वैक्सीन का प्रबंध नहीं
सिविल अस्पताल परिसर में कैंटीन एरिया में चारपाई के नीचे स्ट्रे डाॅग। यहां रोगियों और तीमारदारों को डॉग्स, पशुओं और बंदरों के हमले का खतरा बना रहता है।
बिल्ली-कुत्ते ने काटा तो 350 में खरीदी वैक्सीन
एंटी रेबीज वैक्सीन की सप्लाई ठप और मांग अधिक होने का फायदा भी कुछ केमिस्ट उठा रहे हैं। अपने स्टॉक में रखीं एंटी रेबीज वैक्सीन को महंगे दाम पर बेच रहे हैं। हिसार के रहने वाले रजनीश ने बताया कि बिल्ली ने काट लिया था। मुख्य बाजार स्थित एक मेडिकल स्टोर से वैक्सीन मिल पाई, जोकि 350 रुपये में दी। पहले यही वैक्सीन 280 रुपये में खरीदी थी। वहीं, चंदन नगर वासी अविनाश ने बताया कि कुत्ते ने काट लिया था। मेडिकल स्टोर संचालक ने 350 रुपये में बेची है। उसने कहने पर दाम भी कम नहीं किया।
खूंखार कुत्ते नजर आएं तो खुद करें अपना बचाव
 अगर कहीं कुत्ते नजर आए तो उनसे बचकर ही निकलें। खासकर छोटे बच्चों को दूर ही रखें। आगे दौड़ने पर वे आक्रामक होकर हमला कर सकते हैं। अगर कुत्ते, बिल्ली या बंदर काट लेता है तो एंटी रेबीज के तीन टीके कम से कम लगवाने पड़ते हैं। अगर कमर से ऊपर काट खाया हो तो पांच टीके लगवाने पड़ सकते हैं।
 रेबीज वायरस को फैलने से रोकने के लिए 24 घंटे के भीतर एंटी रेबीज वैक्सीन का पहला टीका लग जाना चाहिए। अगर कोई पीड़ित व्यक्ति पहले से शुगर, लीवर इंफेक्शन या अन्य बीमारियों से ग्रस्त है तो उपचार में उन्हें लापरवाही नहीं बरतनी चाहिए। रोग प्रतिरोधक क्षमता कम वालों में रेबीज संक्रमण तेजी से असर छोड़ता है।
 रेबीज होने पर बुखार, सिरदर्द, घबराहट या बेचैनी, चिंता और व्याकुलता, भ्रम की स्थिति, खाना-पीना निगलने में कठिनाई, बहुत अधिक लार निकलना, पानी से डर लगना (हाईड्रोफोबिया), पागलपन के लक्षण, अनिद्रा, एक अंग में पैरालिसिस यानी लकवा मार जाना इत्यादि लक्षण होते हैं।
 कटे घाव पर मिट्टी, मिर्च, तेल, जड़ी-बूटियां, चाक, पान की पत्तियों जैसे उत्तेजक पदार्थ न लगाएं। अनुभवहीन व्यक्ति, तांत्रिक से झाड़-फूंक का इलाज न करवाएं। अगर एंटी रेबीज वैक्सीन उपलब्ध हैं तो लगवाएं। घाव को काफी देर तक एंटी सेप्टिक साबुन धोते रहें। डॉक्टर की सलाह लेकर पोवीडोट दवा ल

 
Have something to say? Post your comment
 
 
More Haryana News
FARIDABAD-विकास पर प्रदूषण का ब्रेक : 1 महीने से बंद हैं काम, करीब 10 हजार से अधिक श्रमिक लौट गए अपने घर पुलिस कर रही सबसे ज्यादा मानवाधिकारों का उल्लंघन धान की कथित गड़बड़ी मामले में पीवी के फैसले को लेकर मिलर्स की आज कुरुक्षेत्र में प्रदेशस्तरीय बैठक दुष्कर्म प्रयास मामले में आर्केस्ट्रा कलाकार ने ऑडियो जारी कर कहा- पुलिस बना रही समझौते का दबाव, फिर खाया जहर पंचकूला हिंसा मामले में दाखिल याचिका पर हाईकोर्ट में हुई सुनवाई, कोर्ट ने प्रदेश सरकार से पूछा HARYANA-तबादले का अधिकार; मंत्रियों के पास बचे 5 दिन, सचिवालय में कर्मचारियों का जमघट, लोकसभा में भाटिया बोले- पानीपत में दुनिया का ऐसा पुल, जिसे बिना उपयोग किए वसूला जा रहा टोल KARNAL DISTT- सफाई कर्मचारी करते हैं ड्रेसिंग, रात की ड्यूटी में नहीं कोई डॉक्टर HR CM CITY KARNAL-कागजों में हो रहा स्मार्ट सिटी का विकास, क्या काम हुआ न मैनेजर को पता, न सीईओ और न ही मेयर को 'पानीपत' विवाद पर बोले हुड्डा- महाराजा सूरजमल को लालची आदमी दिखाने वाला सीन हटना चाहिए