Thursday, December 12, 2019
Follow us on
BREAKING NEWS
Haryana

HARYANA-कक्षा नौंवी-दसवीं काे पढ़ाने वाला अंग्रेजी का टीचर नहीं है तो सामाजिक विज्ञान के शिक्षक को पूरा करना होगा पाठ्यक्रम

July 23, 2019 06:41 AM

COURTESY DAINIK BHASKAR JULY 23

कक्षा नौंवी-दसवीं काे पढ़ाने वाला अंग्रेजी का टीचर नहीं है तो सामाजिक विज्ञान के शिक्षक को पूरा करना होगा पाठ्यक्रम
शिक्षा विभाग का फैसला : कक्षा छह से आठ को पढ़ाने वाले शिक्षक अब 9वीं-10वीं की कक्षाएं भी लेंगे

भास्कर न्यूज | राजधानी हरियाणा
सरकारी स्कूलों में शिक्षकों की कमी को पूरा करने के लिए नया फार्मूला निकाला है, लेकिन यह नौंवी और दसवीं कक्षा के विद्यार्थियों पर भारी पड़ने वाला हैं। क्योंकि किसी स्कूल में अंग्रेजी विषय का शिक्षक नहीं है तो उसके समानांतर सामाजिक विज्ञान के शिक्षक की ड्यूटी अंग्रेजी पढ़ाने को लगाई जाएगी।
यदि समानांतर इस विषय का भी शिक्षक नहीं है तो कक्षा छह से आठ तक सामाजिक विज्ञान पढ़ाने वाले टीजीटी शिक्षक को इन बड़ी कक्षाओं के बच्चों को अंग्रेजी पढ़ानी होगी। इसी प्रकार कुछ अन्य विषयों के शिक्षकों की कमी होने पर दूसरे विषयों के शिक्षकों को पाठ्यक्रम पूरा कराना होगा। शिक्षा विभाग के विशेष सचिव प्रदीप कुमार की ओर से पांच विषयों को लेकर गाइड लाइन जारी की गई है। इससे पहले भी स्कूलों के हेड टीचर अपने स्तर पर शिक्षकों की कमी पूरी करने के लिए दूसरे विषयों के शिक्षकों की जिम्मेदारी पढ़ाने के लिए लगाते रहे, लेकिन कक्षा छह से आठवीं तक टीजीटी शिक्षकों की ओर से इसका विरोध किया गया, लेकिन अब विभाग की ओर से यह गाइड लाइन जारी कर दी गई है, जिसके तहत यह नियम ही बन गया है।
जानिए...किस विषय के शिक्षक की कमी पर कौन पढ़ाएगा 9वीं और 10वीं के विद्यार्थियों को
अंग्रेजी: यदि किसी स्कूल में अंग्रेजी का पोस्ट ग्रेजुएट टीचर नहीं है तो सामाजिक विज्ञान के पीजीटी को अंग्रेजी पढ़ानी होगी। सामाजिक विज्ञान का भी पीजीटी शिक्षक नहीं है तो ट्रेंड ग्रेजुएट टीचर को इन कक्षाओं के बच्चों को अंग्रेजी पढ़ानी होगी।
गणित: पीजीटी गणित का टीचर नहीं है तो फिजिक्स का टीजीटी टीचर गणित पढ़ाएगा। यह भी नहीं है तो गणित पढ़ाने वाले टीजीटी को इसकी जिम्मेदारी दी जाएगी।
साइंस: फिजिक्स, कैमिस्ट्री और बायोलॉजी पढ़ाने वाले पीजीटी नहीं है तो टीजीटी को इन बड़ी कक्षाओं को साइंस पढ़ाना होगा।
हिंदी: इस विषय का पीजीटी नहीं होने पर टीजीटी संस्कृत का शिक्षक हिंदी पढ़ाएगा।
बच्चों के भविष्य से खिलवाड़ कर रहा विभाग: सीएन भारती
राजकीय अध्यापक शिक्षक संघ के प्रदेशाध्यक्ष सीएन भारती ने विभाग की ओर से टीजीटी को नौंवी और दसवीं कक्षा पढ़ाने के जारी किए गए को गलत बताया है। उन्होंने कहा कि यह न केवल टीजीटी को परेशान करने वाले आदेश है, बल्कि बच्चों की पढ़ाई भी प्रभावित होगी। क्योंकि विषय का एक्सपर्ट शिक्षक ही बच्चों को बेहतर तरीके से पढ़ा सकेगा। प्रदेश में सभी प्रकार के 40 हजार शिक्षकों के पद खाली है। इसलिए सरकार को भर्ती करनी चाहिए, न कि जुगाड़ से काम चलाना चाहिए। इसलिए संघ की ओर से इसका विरोध किया जाएगा।
पीजीटी तबादले के लिए जारी हुई गाइडलाइन
शिक्षा विभाग की ओर से पीजीटी तबादले के लिए गाइड लाइन जारी की गई है। इसके अनुसार यदि किसी स्कूल में किसी विषय का शिक्षक नहीं है और बच्चे भी कम है तो उस सीट काे सरप्लस मान लिया जाएगा। इसके अलावा पांच साल से ज्यादा एक ही जगह पर रहने वाले शिक्षक को दूसरी जगह जाना होगा। यदि कहीं एक ही जगह समान दिन को जॉनिंग है और एक महिला और दूसरा पुरुष शिक्षक है तो पुरुष का तबादला होगा। यदि दोनों पुरुष हैं और समान दिन की जॉनिंग है तो जिसकी उम्र कम है, उसका तबादला होगा।

 
Have something to say? Post your comment
 
 
More Haryana News
पंचकूला प्रकरण की जांच करेगी आईजी भारती अरोडा - डीजीपी वर्ल्ड मेडिकल कॉलेज के कुछ छात्र आज अनिल विज से मिले ऊर्जा संरक्षण की थीम पर आयोजित होगी राहगीरी, अतिरिक,पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह ने वीडियो कांफ्रेंस से ली बैठक चेयरमैन, हैफेड श्री सुभाष कत्याल ने हैफेड तेल मिल, रेवाड़ी का निरिक्षण किया व् हर्बल पौधारोपण भी किया नागरिकता संशोधन बिल राष्ट्र हित को ध्यान में रखकर यह ऐतिहासिक निर्णय लिया गया:मनोहर लाल
हरियाणा प्रदेश में 750 डॉक्टरों की भर्ती की जा रही हैं:विज
हरियाणा प्रदेश में हम किसी को नशा बेचने नही देगें:विज शाह बन रहे हैं बीजेपी, संघ के हिंदुत्व का चेहरा No restarting of flights from Hisar for now: Dushyant FARIDABAD-विकास पर प्रदूषण का ब्रेक : 1 महीने से बंद हैं काम, करीब 10 हजार से अधिक श्रमिक लौट गए अपने घर