Wednesday, January 22, 2020
Follow us on
Haryana

जल शक्ति अभियान की प्रगति की समीक्षा के लिए पहुंची केंद्रीय टीम

July 13, 2019 06:22 PM

 केंद्र सरकार द्वारा शुरू किए गए जल शक्ति अभियान के तहत जिला में शुरू किए गए कार्यों की प्रगति को जांचने केंद्रीय टीम के सदस्य आज रेवाडी पहुंचे और अधिकारियों के साथ बैठक कर अभियान की समीक्षा की। बैठक में एडीसी प्रदीप दहिया, एसडीएम बावल रविन्द्र यादव, जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी वकील अहमद, सिंचाई विभाग के अधीक्षक अभियंता प्रवीन दहिया, तहसीलदार जेवेन्द्र, बीडीपीओ दीपक यादव व अजीत चहल, जिला वन अधिकारी सुंदर लाल, डॉ दिनेश, ईओ नपा मनोज यादव सहित अनके विभागों के अधिकारी भी मौजूद रहें।
केंद्र सरकार द्वारा नियुक्त एमएचआरडी के संयुक्त सचिव मधु रंजन कुमार व नीति आयोग के उप-सचिव डी. बंधोपाध्याय की अध्यक्षता में लोक निर्माण विश्राम गृह में आयोजित बैठक के दौरान जल संरक्षण, जल संचयन व जल संवर्धन आदि विषयों पर चर्चा की गई। संयुक्त सचिव मधु रंजन ने बैठक में बोलते हुए कहा कि तीन महीने के मुहिम के तहत सामुहिक जल संबंधी समस्याओं का निवारण केन्द्र व राज्य सरकार का संचालन हो रहा है। उन्होंने कहा कि विभिन्न क्षेत्रों में लक्ष्य निर्धारित करके कार्य किये जाएगें ताकि जल संसाधनों की कोई कमी न हो। उन्होंने कहा कि इसके लिए डाटा कलैक्शन एकत्रित किये जा रहे है। उन्होंने कहा कि जिन तालाबों की जीओ टैग हो चुकी है, उन तालाबों का डाटाबेस तैयार करें। टीम ने जिले के बोरवैल के बारे में भी समीक्षा की।
उपायुक्त यशेन्द्र सिंह ने टीम सदस्यों को बताया कि इस अभियान के लिए सभी विभागों के अधिकारियों जिम्मेदारियां सौंपी गई है। उन्होंने विस्तार से बताया कि इस अभियान के तहत जिला में क्या-क्या कार्य करवाए जा रहे हैं और अगले 15 दिन में क्या-क्या कार्य करवाए जाने हैं। डीसी ने बताया कि जिले के सभी तालाबों को जीओ टैग से जोडा गया है। उन्होंने कहा कि बरसाती पानी संग्रहण के लिए शहरों में सरकारी भवन, सार्वजनिक भवन, व्यवसायिक-औद्योगिक भवनों में व्यवस्था की जाएगी और जहां बरसाती जल संग्रहण के लिए ढांचा निष्क्रिय पडा है, उसका सुचारू संचालन सुनिश्चित किया जाएगा। डीसी ने बैठक में अधिकारियों को निर्देश दिये कि 500 स्केयर मीटर के अधिक के जो प्लाट है उनका सर्वे करें तथा जिनमें वाटर रिचार्ज के लिए रेन हार्वेस्टिंग नहीं है उन्हें नोटिस दें।
केंद्रीय टीम द्वारा जिला स्तर पर जल शक्ति अभियान के तहत करवाए जा रहे कार्यों का आगामी 3 दिन तक निरीक्षण किया जाएगा। इसमें जल शक्ति अभियान से संबंधित आगामी परियोजनाओं के क्रियान्वयन हेतु विस्तृत चर्चा करते हुए समयबद्घ कार्य निष्पादन किया जाना सुनिश्चित किया जाएगा।
जिला प्रशासन की तरफ से लोक निर्माण विश्राम गृह में केन्द्रीय टीम को प्रोजैक्ट के मााध्यम से सिंचाई, वन व ग्रामीण विकास विभाग के द्वारा जल शक्ति अभियान के तहत किये गये कार्यो को दिखाया गया। केन्द्रीय टीम ने एक-एक बिंदु पर विस्तार से समीक्षा की।
इससे उपरांत केन्द्रीय टीम ने मसानी बैराज का निरीक्षण किया। इस अवसर पर रेवाडी के विधायक रणधीर सिंह कापडीवास विशेष रूप से उपस्थित थे।
सिंचाई विभाग के एसई प्रवीन दहिया ने बताया कि मसानी बैराज में पहली बार वर्ष 2017 में लगातार 66 दिन नहरी पानी से 20 हजार 274 एकड फीट पानी मात्रा तक पूरा भरा गया तथा वर्ष 2018 में 68 दिन से लगातार बैराज को 24 हजार 42 एकड फीट मात्रा तक पानी से भरा गया था तथा बैराज में लगभग 125 एकड में पांच से दस फीट तक पानी संग्रहित हो गया था। अब बरसात के मौसम में जो फालतू पानी होगा इसमें छोडा जाएगा। उन्होंने कहा कि वर्ष 2019 में अप्रैल माह तक मसानी बैराज में पानी था इस बैराज में हमेशा पानी रहे इसके लिए प्रयास किये जा रहे है। इस मौके पर डीसी यशेन्द्र सिंह ने केन्द्रीय टीम को ड्राईंग के माध्यम से मसानी बैराज की स्थिति के बारे में विस्तृत जानकारी दी।
विधायक रणधीर सिंह कापडीवास ने इस अवसर पर कहा कि इस बैराज में पानी भरने से आस-पास गांवों का जल स्तर ऊंचा हुआ है तथा लोगों को पानी भरने का लाभ हुआ है। उन्होंने यह भी कहा कि इस बैराज में जो भी पानी छोडा जाए वह ट्रीटिड हो।
इसके उपरांत केन्द्रीय टीम ने वन विभाग के हरबल पार्क का अवलोकन भी किया तथा यहां पर पौधारोपण भी किया। पौधारोपण करने के उपरांत जिला प्रशासन द्वारा जल शक्ति अभियान के अंतर्गत शुरू किए गए कार्यों का निरीक्षण करने पहुंची केंद्रीय टीम के सदस्यों ने आज जिला के कई गांवों में जाकर जल संरक्षण के उपायों का निरीक्षण किया। टीम सदस्य ने धारूहेडा के राजकीय वरिष्ठï माध्यमिक विद्यालय में लगे रेन वाटर हार्वेस्टिंग, गांव मसानी व खिजुरी में स्थापित किए गए वाटर सैड तथा जेएलएन कैनाल व नर्सरी जैसे कार्यो को देखा तथा जिला प्रशासन द्वारा किये गये कार्यो की सराहना की। इस अवसर पर अधिकारियों के साथ-साथ गांव मसानी, निखरी, खलियावास व डूंगरवास गांव के सरपंच भी मौजूद थे।

 
Have something to say? Post your comment
 
 
More Haryana News
पूर्व केंद्रीय मंत्री और राज्यसभा सांसद ए के एंटनी ने शमशेर सिंह सुरजेवाला जी के निधन पर शोक व्यक्त किया
भारत के पूर्व राष्ट्रपति डॉ प्रणव मुखर्जी ने शमशेर सिंह सुरजेवाला के निधन पर शोक व्यक्त किया
HARYANA- कुंडू के साथ निर्दलीय विधायकों की बैठक से गरमाई सियासत हर तरह के ऑनलाइन फ्रॉड का केंद्र मेवात: ओएलएक्स जैसी साइट्स पर फौजी बन बिक्री के लिए दिखाते हैं वाहन, बुलाकर अरावली पर लूट लेते हैं Nadda mediates in row, but Vij adamant R-Day award for Y’nagar boy for helping Russian woman RRTS plan won’t hamper toll plaza at Panchgaon Cane prices: Farmers protest at Kaithal sugar mill, stop crushing operations BJP bosses back Khattar, say CM will control CID levers पी.सी मीणा ने आज यहां अपने कार्यालय में हरियाणा साहित्य अकादमी द्वारा प्रकाशित मासिक पत्रिका ‘हरिगंधा’ के नवम्बर-दिसम्बर माह के अंक का विमोचन किया