Wednesday, October 23, 2019
Follow us on
 
Haryana

HARYANA-भाजपा नेता के रिश्तेदार का चालान काटने से उपजा विवाद- समय रहते कार्रवाई न करने पर एसएचअाे सस्पेंड

June 27, 2019 06:24 AM

COURTESY DAINIK BHASKAR JUNE 27

डीएसपी की रिपोर्ट अमित से मारपीट नहीं की, समय रहते कार्रवाई न करने पर एसएचअाे सस्पेंड, दाे पुलिस कर्मचारी लाइनहाजिर
भाजपा नेता के रिश्तेदार का चालान काटने से उपजा विवाद

भास्कर न्यूज | अम्बाला सिटी
भाजपा नेता के रिश्तेदार का चालान काटने से उपजे विवाद में बुधवार काे पुलिस अधीक्षक माेहित हांडा ने पुलिस कर्मियों के खिलाफ कार्रवाई कर दी। डीएसपी मनीष सहगल के नेतृत्व में गठित की गई कमेटी की जांच में मामला मारपीट का सामने नहीं अाया है। डीएसपी द्वारा रिपोर्ट सौंपने के बाद एसपी ने समय पर उचित कार्रवाई न कर लापवाही बरतने अाैर पुलिस विभाग की छवि धूमिल होने के कारण पंजोखरा थाना एसएचअाे गुरमेल सिंह काे निलंबित कर दिया है, जबकि उपनिरीक्षक रमेश, ईएचसी शमशेर अली को लाइन हाजिर करते हुए गहनता से जांच करने के लिए विभागीय जांच खोल दी। होमगार्ड मनीष व सुखबीर को ड्यूटी से हटाने के लिए कमांडेंट आॅफिस को लिखा गया है।
जांच में पाया बाेलचाल जरूर हुई, मारपीट नहीं| जिला कष्ट निवारण समिति की बैठक में हंगामे के बाद एसपी ने जांच के लिए डीएसपी मनीष सहगल काे जांच साैंपी थी। जांच में सीआईए टू इंचार्ज भी शामिल रहे। कमेटी ने दाे दिन तक मामले में जांच की अाैर बुधवार काे एसपी काे जांच रिपोर्ट साैंपी थी। जांच कमेटी द्वारा प्रस्तुत रिपोर्ट के अाधार पर पाया गया कि नारायणगढ़ अस्पताल मेडिकल रिपोर्ट डाॅक्टर की राय अनुसार अमित के शरीर पर लगे निशान मारपीट के होना स्पष्ट नहीं हुए हैं। घटना के समय थाना पंजोखरा में शिकायत दर्ज कराने आए मौके पर मौजूद गवाह से भी पूछताछ की गई। रिपोर्ट में बताया गया कि पुलिस व अमित के बीच आपस में कहासुनी व बोलचाल जरूर हुई है, लेकिन मारपीट नहीं हुई।
दाे हाेमगार्ड काे बर्खास्त के लिए लिखा
एसएचअाे गुरमेल सिंह।
एसपी माेहित हांडा ने पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की, डीएसपी के नेतृत्व में गठित कमेटी की जांच में मारपीट का मामला नहीं अाया सामने...
सवाल यह भी... चाेट के निशान कहां से अाए?
चाेट के निशान दिखाते अमित।
पुलिस की लापरवाही... अगर युवक ने झगड़ा किया ताे क्याें नहीं की कार्रवाई
कमेटी ने जांच में पाया कि चालान काटने के दाैरान जब इंजीनियर अमित कुमार झगड़ा करते हुए थाना पंजोखरा में पहुंचे अाैर काफी देर तक झगड़ा करता रहा ताे एसएचअाे गुरमेल सिंह ने जिम्मेवार पद पर होते हुए उसके खिलाफ कोई कार्रवाई क्याें नहीं की। पुलिस ने बिना कार्रवाई उसे जाने दिया।
जांच कमेटी ने अपनी रिपोर्ट में खुलासा किया है कि नारायणगढ़ अस्पताल मेडिकल रिपोर्ट डाॅक्टर की राय अनुसार शरीर पर लगे निशान मारपीट के होना स्पष्ट नहीं हुए हैं। एेसे में सवाल उठता है कि अगर रिपोर्ट में चाेट के निशान स्पष्ट नहीं है ताे निशान अाए कहां से। यह भी सवालिया निशान बना हुअा है।
यह था मामला... विधायक असीम ने लगाए थे नारे
सोमवार को पंचायत भवन में हुई ग्रीवांस कमेटी की बैठक में विधायक असीम गाेयल, भाजपा जिलाध्यक्ष जगमोहन लाल और पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता डॉ. संजय शर्मा ने पुलिस के खिलाफ नारेबाजी की थी। उनका कहना था कि पुलिस वाहनों की चेकिंग और चालान के नाम पर लोगों को परेशान कर रही है। 22 जून को इंश्योरेंस के कागज न होने पर हरिपुर निवासी इंजीनियर अमित की बाइक का चालान काटा था जबकि दूसरे वाहनों को छोड़ा जा रहा था। अमित ने वीडियो बनानी शुरू कर दी। आरोप है कि इस पर पुलिस ने थाने ले जाकर पीटा। पंजोखरा थाना एसएचओ गुरमेल सिंह का कहना है कि युवक के साथ मारपीट नहीं हुई बल्कि उसने ही मुलाजिमों के साथ मिस बिहेव किया। अमित भाजपा के जिला महामंत्री राजेश बतौरा का रिश्तेदार है। पंवार ने उन तीनों पुलिस कर्मियों को तुरंत सस्पेंड करने के आदेश दिए थे, जिनके नाम लिए गए थे। विधायक असीम ने सस्पेंड न किए जाने पर एसपी आॅफिस में धरना देने के लिए मंत्री के सामने चेताया था।
बैठक में उठे मामले में जांच रिपोर्ट के बाद कार्रवाई की है। समय रहते उचित कार्रवाई न करने व पुलिस की छवि धूमिल होने के कारण प्रबंधक थाना पंजोखरा उपनिरीक्षक गुरमेल सिंह को निलंबित किया गया। उप निरीक्षक रमेश, ईएचसी शमशेर अली को लाइनहाजिर कर विभागीय जांच खोल दी है। होमगार्ड मनीष व सुखबीर को ड्यूटी से हटाने के लिए संबंधित विभाग को लिखा गया। माेहित हांडा, एसपी, अम्बाला।

Have something to say? Post your comment