Wednesday, October 23, 2019
Follow us on
 
Haryana

अतरराष्ट्रीय नशा मुक्ति दिवस पर हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल बोले नशे को लेक प्रदेश की स्थिति ठीक नही

June 26, 2019 06:02 PM

हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि युवाओं में नशे की बढ़ती प्रवृति आज एक वैश्विक समस्या बनती जा रही है और हमें राजनीति से ऊपर उठकर, सांझा रणनीति बनाकर तथा समाज की भागीदारी बढ़ाकर युवाओं की मानसिक स्थिति को सुधारना होगा तभी हम एक सभ्य समाज का निर्माण करने के साथ-साथ इस समस्या से निपट सकेंगे।
मुख्यमंत्री आज अंतरराष्ट्रीय मादक पदार्थ विरोध दिवस के अवसर पर चंडीगढ़ में हरियाणा पुलिस द्वारा आयोजित उत्तरी राज्यों व केंद्र शासित प्रदेश चंडीगढ़ के पुलिस प्रमुखों की समन्वयक बैठक को सम्बोंधित कर रहे थे।
बैठक में मादक पदार्थों के दुरुपयोग एवं अवैध तस्करी के खिलाफ एकजुट होकर प्रभावी रणनीति तैयार करने के लिए तीन सूत्रीय फार्मूला अपनाने पर सहमति हुई, जिसके तहत संयुक्त राष्ट्र के अपराध एवं नशीले पदार्थों की रोकथाम के लिए तैयार सॉफ्टवेयर अपनाकर जांच अधिकारियों को ई-लर्निंग के कोर्स करवाए जाएंगे ताकि वे पूरी तैयारी के साथ न्यायालय में केस प्रस्तुत कर सकें। इसके अलावा, नशे के आदी के उपचार, इन्फोर्समेंट तथा जागरूकता बढ़ाने का निर्णय लिया गया।
श्री मनोहर लाल ने कहा कि मादक पदार्थों के दुरुपयोग व इसके कारोबार को रोकने के लिए राज्यों की सीमाओं की कोई समस्या नहीं होती है और इस मामले में जो एक राज्य की समस्या होती है वह आस-पास के सभी राज्यों की समस्या होती है। नशा तथा इसका व्यापार करने वालों के खिलाफ सूचना प्राप्त करने के लिए पुलिस को सार्वजनिक भागीदारी बढ़ानी होगी और सूचना देने वालों को प्रोत्साहित करना होगा। इसके लिए अलग से फंड की व्यवस्था की जानी चाहिए। सूक्ष्म प्रबन्धन पर टीम बनाकर कार्य करना होगा। हालांकि, यह जोखिम भरा काम होता है और नशे के तस्करों को समाज की समृद्धि से कोई लेना-देना नहीं, उन्हें तो अपना कारोबार करने से मतलब है। उन्होंने कहा कि नशे के कारोबारी को सख्त से सख्त सजा दिलवाने के लिए हमें भले ही कानून में संशोधन करना पड़े तो भी हम करेंगे।
मुख्यमंत्री ने कहा कि हरियाणा सरकार ने युवाओं को नशे से दूर रखने के लिए कई कार्यक्रम चलाएं हैं। युवाओं का रूझान खेलों में हो इसके लिए 1000 से अधिक योग एवं व्यायामशालाएं खोली हैं। हरियाणा पुलिस द्वारा राहगीरि के कार्यक्रम चलाए गए हैं। इसके अलावा, हरियाणा कला परिषद के माध्यम से भी सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन व्यापक स्तर पर किया जाएगा। उन्होंने कहा कि अभी हाल ही में अन्तरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर हरियाणा योग परिषद का गठन किया गया है ताकि योग से युवाओं को अधिक से अधिक जोड़ा जा सके।
श्री मनोहर लाल ने कहा कि बेरोजगारी की समस्या भी युवाओं में नशे का एक कारण है, इसके लिए हरियाणा सरकार युवाओं को अधिक से अधिक रोजगार उपलब्ध करवाने के लिए नीति बना रही है ताकि कोई भी युवा बेरोजगार न रहे। मुख्यमंत्री ने उपस्थिति पुलिस अधिकारियों को इस बात से अवगत करवाया कि सिरसा में रन अगेंस्ट ड्रग्स मैराथान का आयोजन किया गया, जिसमें लगभग 50,000 से अधिक युवाओं ने भाग लेकर एक रिकॉर्ड बनाया और समाज में नशे के खिलाफ लडऩे का एक सार्थक संदेश दिया।
मुख्यमंत्री ने कहा कि इससे पहले भी हरियाणा की पहल पर ही नशाखोरी से प्रभावी ढंग से निपटने व अंकुश लगाने के लिए उत्तरी राज्यों के मुख्यमंत्रियों व अधिकारियों की एक संयुक्त बैठक अगस्त, 2018 को आयोजित की जा चुकी है। बैठक में मुख्यमंत्री को अवगत करवाया गया कि पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेन्द्र सिंह ने उत्तरी राज्यों के मुख्यमंत्रियों व अधिकारियों की अगली बैठक बुलाने का संदेश दिया है।
हरियाणा के मुख्य सचिव श्री डी.एस. ढेसी ने अपने सम्बोधन में कहा कि नशे की समस्या देश के लिए ही नहीं बल्कि विश्व के लिए एक चुनौती बनती जा रही है और यह समाज के लिए खतरा उत्पन्न कर रही है। उन्होंने मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल का आभार व्यक्त किया, जिन्होंने नशे के खिलाफ लडऩे की राजनीतिक इच्छा दर्शायी है। श्री ढेसी ने इकनोमिस्ट मैगेजीन के एक लेख का जिक्र करने हुए कहा कि अमेरिका में सडक़ दुर्घटनाएं नशे की ओवरडोज लेने के कारण बढ़ रही हैं। उन्होंने कहा कि आर्थिक प्रगति तथा सोशल मीडिया भी युवाओं में नशे का एक कारण बन रहा है। उन्होंने कहा कि सांझी रणनीति से ही इस समस्या से निपटा जा सकता है।
हरियाणा पुलिस महानिदेशक मनोज यादव ने दिनभर चली बैठक में की गई चर्चा के बारे मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल को अवगत करवाया। उन्होंने कहा कि आज की बैठक के प्रेरणा स्त्रोत भी मुख्यमंत्री हैं, जिनकी पहल पर पंचकूला में इंटर स्टेट सचिवालय खोला गया है और एडीजीपी श्री पी.के.अग्रवाल को इसका नोडल अधिकारी बनाया गया है। सभी उत्तरी राज्यों के नोडल अधिकारियों के दूरभाष नम्बर, टोल फ्री नम्बर तथा कंट्रोल रूम के नम्बरों की जानकारी उपलब्ध है। इसके अलावा, पकड़े गए ड्रग्स व तस्करों के खिलाफ की गई कार्रवाई की जानकारी भी वेबसाइट पर अपलोड की जा रही है।
अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून एवं व्यवस्था) श्री नवदीप सिंह विर्क ने अपने धन्यवाद भाषण में मुख्यमंत्री व अन्य राज्यों के पुलिस अधिकारियों का बैठक में पहुंचने के लिए आभार व्यक्त किया।
बैठक में उत्तरी क्षेत्र में सक्रिय संगठित गिरोह और तस्करी नेटवर्क की गतिविधियों से निपटने के लिए क्षेत्र के पुलिस बलों के बीच आवश्यक तालमेल कर आपराधिक गतिविधियों पर अंकुश लगाने पर भी बल दिया गया।
बैठक में हरियाणा के अलावा, पंजाब, हिमाचल प्रदेश, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, दिल्ली तथा केन्द्र शासित प्रदेश चंडीगढ़ के पुलिस महानिदेशक, एनसीबी महानिदेशक व गुप्तचर ब्यूरो के अधिकारी उपस्थित थे।

Have something to say? Post your comment