Wednesday, October 23, 2019
Follow us on
 
Haryana

हरियाणा में खिलाड़ियों ने इनाम नहीं मिलने पर जताई निराशा चेक नहीं मिलेगा तो फिर ‘चक दे इंडिया’ कैसे/

June 26, 2019 05:52 AM

COURTESY NBT JUNE 26
हरियाणा में खिलाड़ियों ने इनाम नहीं मिलने पर जताई निराशा
चेक नहीं मिलेगा तो फिर ‘चक दे इंडिया’ कैसे/

Roushan.Jha
@timesgroup.com

 


•नई दिल्ली: आज अंतरराष्ट्रीय स्तर पर किसी भी टूर्नामेंट में देश के लिए मेडल जीतने वाले सबसे ज्यादा खिलाड़ी हरियाणा के होते हैं। देश का नाम रोशन करने वाले खिलाड़ियों को सबसे ज्यादा इनाम भी हरियाणा में ही मिलता है। हालांकि मेडल जीतने की बात तो सच है लेकिन इनाम वाली बात शक के घेरे में आ गई है। राज्य के कई खिलाड़ियों ने खुल कर कहा है कि जब से मौजूदा सरकार आई है, उन्हें इनाम के मामले में निराशा ही हाथ लगी है। यहां तक कि मेडल जीतने वाले खिलाड़ियों को नौकरी भी नहीं मिल रही है।

पहलवानों ने खोला मोर्चा

इसी साल जनवरी में राज्य की एक शूटर ने सरकार पर इनामी राशी नहीं देने का आरोप लगाया था। मंगलवार को दुनिया के नंबर वन पहलवान बजरंग और विनेश फोगाट ने भी ट्वीट कर सरकार के प्रति नाराजगी जाहिर की। विनेश ने ट्वीट कर कहा, ‘हर बार आप इसी कोशिश में रहते हैं कि कैसे खिलाड़ियों को परेशान किया जाए। मैंने आज तक हरियाणा में खिलाड़ियों का इतना अपमान करने वाली सरकार नहीं देखी है। मैं पूछना चाहती हूं आपसे आपने आज तक कितने खिलाड़ियों को प्राइजमनी और जॉब देने का काम किया है।’

पुरस्कार राशि में भी कटौती

खिलाड़ियों को इस बात को लेकर भी निराशा है कि हरियाणा सरकार ने इनामी राशि में कटौती कर दी है। बजरंग ने इस पर आपत्ति जताते हुए ट्वीट किया, ‘खिलाड़ी जब देश के लिए मेडल लाता है तो वह देश की जीत होती है। यह एक दिन की मेहनत से नहीं, पूरे जीवन की तपस्या से प्राप्त होता है। खिलाड़ियों को मिलने वाली राशि में कटौती करके उनके मानसिकता और आत्मसम्मान पर ठेस ना पहुंचाएं। मेरी सरकार से विनती है कि इस निर्णाय पर फिर से विचार करें।’

कुछ को मिली

आधी-अधूरी रकम

दरअसल पिछले कुछ दिनों से खिलाड़ियों के एकाउंट में पैसे आ रहे हैं। लेकिन इससे खिलाड़ियों को खुशी नहीं बल्कि निराशा हो रही है। एक खिलाड़ी ने बताया कि उसने इंटरनैशनल और नैशनल लेवल पर कई गोल्ड जीते हैं। इस लिहाज से उसे कम से कम पांच करोड़ रुपये तो मिलने ही चाहिए लेकिन उसके एकाउंट में कुछ दिन पहले 25 लाख रुपये आए हैं। उसे खुद नहीं पता कि यह रकम उसे किस टूर्नामेंट और किस साल के मिले हैं। इसी तरह एक और स्टार खिलाड़ी ने बताया कि उसके एकाउंट में 15 लाख रुपये आए हैं लेकिन उसे भी नहीं पता कि यह किस टूर्नामेंट का है। इनका यहां तक कहना है कि सरकार से पूछने पर भी कोई जवाब नहीं मिल पाया।

पांच साल से नहीं हुआ सम्मान समारोह

इसी महीने 24 जून को पंचकुला में राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मेडल जीतने वाले खिलाड़ियों के सम्मान में समारोह का आयोजन होना था। इस समारोह में तकरीबन तीन हजार खिलाड़ियों का सम्मान होता। लेकिन सरकार ने इसे रद्द कर दिया। यह लगातार पांचवां साल है जब हरियाणा में सम्मान समारोह का आयोजन नहीं हुआ है।

Have something to say? Post your comment