Tuesday, July 23, 2019
Follow us on
BREAKING NEWS
HRD, culture ministries should be merged, suggests RSS body मंत्री मजाक में बोलते थे- आओ कभी दिल्ली मिलने; रोज 150 लाेग पहुंचने लगे तो अपनों से परेशान होकर गेट पर चौकीदार बैठाया  : मानव संसाधन मंत्री रमेश पोखरियाल के ऑफिस के बाहर पहली बार प्राइवेट गार्ड तैनातHARYANA-House sittings: BJP scores better than Cong, INLD LAST SESSION OF 13TH VIDHAN SABHA BEGINS FROM AUGUST 2कर्नाटक विधानसभा में हंगामा, कांग्रेस-जेडीएस ने संविधान बचाओ के लगाए नारेकोलकाता: BSNL बिल्डिंग में लगी आग, दमकल की 6 गाड़ियां मौके परभारतीय जनता पार्टी(बीजेपी) के संसदीय दल की बैठक कलडोनाल्ड ट्रंप और इमरान खान के बीच व्हाइट हाउस में हुई मुलाकातCM कुमारस्वामी की सफाई-राज्यपाल से मिलने का कार्यक्रम नहीं
 
Haryana

सैलजा या हुड्‌डा को मिल सकती है प्रदेश की कमान, सैलजा बनीं तो दीपेंद्र-कुलदीप-कैप्टन बन सकते हैं कार्यकारी अध्यक्ष

June 19, 2019 05:32 AM

COURTESY DAINIK BHASKSR JUNE 19

सैलजा या हुड्‌डा को मिल सकती है प्रदेश की कमान, सैलजा बनीं तो दीपेंद्र-कुलदीप-कैप्टन बन सकते हैं कार्यकारी अध्यक्ष
प्रदेश कांग्रेस में बदलाव की तैयारी : विधानसभा चुनाव से पहले गुटबाजी खत्म करना चाहती है हाईकमान
भास्कर न्यूज | राजधानी हरियाणा
प्रदेश में 10 साल लगातार सत्ता में रहने वाली कांग्रेस में फिलहाल चल रही खींचतान को खत्म करने के लिए केंद्रीय नेतृत्व कसरत कर रहा है, क्योंकि लोकसभा चुनाव में कांग्रेस में आपसी गुटबाजी की वजह से परिणाम अनुकूल नहीं रहे। अब अक्टूबर में विधानसभा चुनाव हैं। शीर्ष नेतृत्व जल्द ही प्रदेश में संगठन को मजबूत करना चाहता है। नेतृत्व पर पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्‌डा लगातार प्रदेश की कमान को लेकर दबाव बनाए हुए हैं। पार्टी दो विकल्पों पर विचार कर रही है। पहला विकल्प पार्टी की प्रदेश में कमान कुमारी सैलजा को दी जाए और पूर्व मंत्री कैप्टन अजय यादव, पूर्व सांसद दीपेंद्र हुड्‌डा और कुलदीप बिश्नोई को कार्यकारी अध्यक्ष बना दिया जाए, जबकि दूसरा विकल्प भूपेंद्र हुड्‌डा को संगठन की जिम्मेदारी देकर बिश्नोई को विधायक दल का नेता बनाया जा सकता है।
सूत्रों का कहना है कि पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष अशोक तंवर को केंद्रीय राजनीति में भी शामिल किया जा सकता है, ताकि अजा वर्ग भी नाराज न हो। विधायक दल की नेता किरण चौधरी को संगठन में बड़ी जिम्मेदारी मिल सकती है।
प्रियंका गांधी से मिल चुके हैं दीपेंद्र-कुलदीप
पिछले दिनों पूर्व सांसद दीपेंद्र हुड्‌डा और कुलदीप बिश्नोई पार्टी की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी से भी मुलाकात कर चुके हैं। पिछले दिनों हुड्‌डा दिल्ली में समर्थकों के साथ हुई बैठक में बड़ा निर्णय ले सकते थे, लेकिन इससे पहले ही हाईकमान की सूचना उन तक पहुंची और कोई भी निर्णय लेने से रोक दिया गया। कुछ समय बाद ही पार्टी के सीनियर नेता अशोक गहलोत और आनंद शर्मा उनसे मिले और लंबे समय तक उनमें वार्ता हुई। बताया गया है कि हुड्डा से 10 दिन का वक्त मांगा गया था। ऐसे में कयास लगाया जा रहा है कि अगले दो-तीन दिन में हाईकमान बड़ा फैसला ले सकती है। पार्टी के राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी रणदीप सुरजेवाला राष्ट्रीय राजनीति में ही सक्रिय रह सकते हैं। हालांकि अभी आखिरी निर्णय आना बाकी है। कांग्रेस प्रदेश में बड़े स्तर पर बदलाव की तैयारी कर रही है।
एक तीर से कई निशाने : अजा वोटर नाराज न हो, जातीय समीकरण बनें
पार्टी एक प्रदेशाध्यक्ष और तीन कार्यकारी अध्यक्ष बनाकर एक तीर से कई निशाने साध सकती है। कुमारी सैलजा को प्रदेशाध्यक्ष बनाने से अजा के लोग पार्टी से जुड़े रहेंगे, जबकि कैप्टन अजय यादव दक्षिणी हरियाणा में पार्टी को सक्रिय कर सकते हैं। दीपेंद्र हुड्‌डा को जाटलैंड की जिम्मेदारी दी जा सकती है तो कुलदीप बिश्नोई गैरजाट जातियों को लुभा सकते हैं। इससे जहां सभी जातीय समीकरण भी पार्टी बैठा सकती है। वहीं, नाराजगी से बचने को पार्टी के सभी बड़े नेताओं को एडजस्ट करना हाईकमान की मजबूरी भी है।

Have something to say? Post your comment