Saturday, September 21, 2019
Follow us on
BREAKING NEWS
दिल्ली: किसानों के मार्च के चलते गाजीपुर फ्लाईओवर पर लगा भारी जामहरियाणा-महाराष्ट्र चुनाव: केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी बोले- BJP इलेक्शन के लिए तैयारदिल्ली: चुनाव के ऐलान के बाद अमित शाह की अध्यक्षता में बीजेपी की बैठक जारीहरियाणा और महाराष्ट्र में आचार संहिता लागू हुईनामांकन वापस लेने की अंतिम तारीख 7 अक्टूबर: ECमहाराष्ट्र-हरियाणा विधानसभा चुनाव के लिए 4 अक्टूबर तक किया जा सकेगा नामांकन: ECउत्तराखंड में पंचायत चुनाव और पश्चिम बंगाल में दुर्गापूजा की वजह से उपचुनाव टाले गएमहाराष्ट्र-हरियाणा में 21 अक्टूबर को चुनाव होंगे और 24 अक्टूबर को आएंगे नतीजे: EC
 
Haryana

वैदेही ने शिमला में शास्त्रीय नृत्य कत्थक में प्रथम पुरस्कार जीत अम्बाला का नाम किया रोशन

June 12, 2019 02:53 PM

ऑल इंडिया आर्टिस्ट एसोसिएशन द्वारा जून में शिमला कार्निवल के दौरान राष्ट्रीय स्तर पर अभिनय एवं नृत्य क्षेत्र में अलग अलग आयु वर्ग के लिए हर वर्ष प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाता है व इसका संचालन मशहूर टी वी सीरीयल फेम भाभी जी घर पर हैं के जाने माने कलाकार "तिवारी जी" द्वारा किया जाता है। इसी कड़ी में इस वर्ष यह कार्निवाल 7जून से 11 जून तक आयोजित किया गया। इस प्रतियोगिता में देश ही नहीं विदेशों में भी अपनी कला की छाप छोड़ चुकी कत्थक गुरू अंजु मिगलानी अपनी शिष्याओं को लेकर भाग लिया व उनकी नन्ही शिष्या कान्वेंट स्कूल में पढ़ने वाली 8 वर्षीय वैदेही ने एसोसिएशन द्वारा शिमला के काली बाड़ी ऑडिटोरियम में आयोजित 64वें राष्ट्रीय ड्रामा एवं डांस प्रतियोगिता में शानदार प्रस्तुति देते हुए कत्थक नृत्य एकल में प्रथम पुरस्कार प्राप्त कर अपनी गुरू अंजु मिगलानी, अपने माता-पिता, स्कूल के साथ ही अम्बाला का नाम भी पुनः रोशन कर किया। वैदेही की कत्थक नृत्य प्रस्तुति ने सभी दर्शकों को मंत्रमुग्ध के साथ ही स्तब्ध कर दिया कि मात्र 8 वर्ष की बच्ची व ऐसा नृत्य। अभी हाल ही में इस बच्ची ने अखिल भारतीय सांस्कृतिक संघ द्वारा पुणे में राष्ट्र स्तरीय सांस्कृतिक प्रतियोगिता में भी भाग लेते हुए प्रथम स्थान प्राप्त किया था। इससे पूर्व भी वह जिला, जोनल, राज्य, राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी कई पुरस्कार जीत चुकी है। वैदेही ने फिर से अपनी इस जीत का श्रेय गुरु अंजु मिगलानी, सतयुग दर्शन संगीत कला केंद्र ,अपने स्कूल व माता पिता को दिया है। अम्बाला की बेटी की इस जीत पर जहां परिवार में खुशी की लहर दौड़ गई है वहीं बधाई देने वालों का भी तांता सा लग गया है। हमें अम्बाला की ऐसी बेटी पर गर्व है व हम सब बिटिया के उज्ज्वल भविष्य की कामना करते हैं।

Have something to say? Post your comment