Wednesday, June 19, 2019
Follow us on
Chandigarh

भारत के मुख्य चुनाव अधिकारी अशोक लवासा की चंडीगढ़ , पंजाब और हरियाणा के मुख्य चुनाव अधिकारियों के साथ मीटिंग हुई

May 29, 2019 02:29 PM

आज चंडीगढ़ सेक्टर 17 हरियाणा मिनी सचिवालय में भारत के मुख्य चुनाव अधिकारी अशोक लवासा की चंडीगढ़ , पंजाब और हरियाणा के मुख्य चुनाव अधिकारियों के साथ मीटिंग हुई।

मीटिंग के दौरान एक और जहां हाल ही में संपन्न हुए लोकसभा चुनावों का फीडबैक पंजाब हरियाणा और चंडीगढ़ से लिया गया वहीं दूसरी और हरियाणा में आने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर भी चर्चा हुई।

मीटिंग में हरियाणा के मुख्य चुनाव अफसर राजीव रंजन, संयुक्त मुख्य चुनाव अफसर डॉक्टर इंदरजीत, पंजाब के मुख्य चुनाव अधिकारी डॉक्टर एस करुणा राजू, चंडीगढ़ के डिप्टी कमिश्नर और चुनाव अधिकारी मनदीप बराड़ आदि शामिल हुए।
लगभग डेढ़ घंटा चली मीटिंग के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए भारत के मुख्य चुनाव अधिकारी अशोक लवासा ने बताया कि 3 जून को दिल्ली में सी ई ओ लेवल की एक मीटिंग की की जाएगी जिसमें चुनाव प्रणाली में क्या सुधार किए जा सकते हैं और क्या जरूरत है उसको लेकर चर्चा होगी।

उसी के संबंध में आज पंजाब हरियाणा और चंडीगढ़ से फीडबैक लिया गया है । वही हरियाणा के आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर भी सुझाव मांगे गए हैं कि किस प्रकार की दिक्कते आई जिन्हें भविष्य मैं सुधारा जा सकता है। उन्होंने साफ किया कि चुनाव आयोग पूरी तरह चुनावों की निष्पक्षता को लेकर गंभीर है वही नए वोटरों को शामिल करने का भी काम तेजी से किया जाएगा । वहीं उन्होंने बताया कि दिव्यांग वोटर्स के लिए विशेष सुविधाएं शुरू की गई थी उनके लिए विशेष प्रकार के प्रबंध आगामी चुनावों में भी किए जाएंगे।

साथ ही 18 वर्ष के होने वाले युवाओं को मतदाता के रूप में तेजी से जोड़े जाने की जरूरत पर भी उन्होंने बल दिया। इसके अलावा उन्होंने इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन प्रणाली पर राजनीतिक दलों द्वारा उठाए जाने वाले सवालों पर जवाब देते हुए कहा कि इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन प्रणाली देश में 20 वर्ष से भी ज्यादा पुरानी है और इन मशीनों का वीवीपैट के साथ लोकसभा चुनाव में इस्तेमाल किया गया।

पूरे देश में 1035918 पोलिंग स्टेशन्स का इस्तेमाल हुआ। उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग का मानना है कि चुनावों को और बेहतर करने के लिए जो भी सुझाव आते हैं उन पर विचार किया जाए।

सुप्रीम कोर्ट ने भी आदेश दिए थे कि हर असेंबली में वीवीपैट के 5 चिट का ईवीएम के साथ मिलान कराना जरूरी है।

चुनाव अधिकारी ने बताया कि 21000 वीवीपैट के साथ मिलान किया गया जिसमें कोई भी अनियमितता नहीं पाई गई।
ऐसे में किसी भी प्रकार के सवाल, शंका या अज्ञानता को खत्म किया गया है।

साथ ही उन्होंने कहा कि हर चीज में इंप्रूवमेंट का स्कोप होता है और इलेक्शन कमिशन इस सुझाव को एक बेहतर दिशा में देखती है।


वहीं दूसरी और हरियाणा के संयुक्त मुख्य चुनाव अधिकारी डॉ इंद्रजीत ने मीडिया से बातचीत के दौरान बताया कि पंजाब हरियाणा और चंडीगढ़ के चुनाव अधिकारियों के साथ मीटिंग की गई जिसमें एक और जहां लोकसभा चुनावों की चर्चा हुई। वहीं यह देखा गया कि किस प्रकार की कमी आ रही है जिन्हें लेकर एक मीटिंग दिल्ली में भी आयोजित की जाएगी।

आज मीटिंग में फीडबेक लिया गया और सुधार की गुंजाइश पर बल दिया गया।

साथ ही दिव्यांग वोटर्स की मतदान में सहभागिता पर भी बल दिया गया।

डॉ इंद्रजीत ने बताया की विधानसभा चुनाव को लेकर चुनौतियों पर चर्चा हुई।

 
Have something to say? Post your comment