Thursday, June 27, 2019
Follow us on
BREAKING NEWS
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात से पहले अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ट्वीट करके कहा है कि भारत को अमेरिका पर लगाए गए टैरिफ वापस लेने होंगेHaryana Govt nominates Krishan Lal of village Baniyani as a non-official member of the District Grievances Readdressal Committee. Rohtakस्विट्जरलैंड में नीरव मोदी और पूर्वी मोदी के चार बैंक खाते सीजMG Hector SUV हुई भारत में लॉन्च, TATA Harrier से सस्तीश्रीनगर में नेशनल कॉन्फ्रेंस के वरिष्ठ नेता अब्दुल रहीम राथर के ठिकानों पर IT की छापेमारीदिल्ली वक्फ बोर्ड का मॉब लिंचिंग में मारे तबरेज अंसारी की पत्नी को 5 लाख रुपये-नौकरी देने का ऐलानप्रधानमंत्री शिंजो आबे ने जीत पर सबसे पहले बधाई दी: पीएम मोदीG20 सम्मेलन से पहले जापान में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पीएम शिंजो आबे की मुलाकात
International

डब्ल्यूएचअाे ने ऑफिस में ज्यादा काम करने से थकान को बीमारी माना, नाम दिया बर्न आउट

May 29, 2019 06:21 AM

COURTESY DAINIK BHASKAR MAY 29
डब्ल्यूएचअाे ने ऑफिस में ज्यादा काम करने से थकान को बीमारी माना, नाम दिया बर्न आउट; दोस्तों से दूरी बनाना भी इसके लक्षण
 : विश्व स्वास्थ्य संगठन ने बर्न आउट को अंतरराष्ट्रीय बीमारियों की सूची में शामिल किया

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचअाे) ने मंगलवार काे इस बात काे मान लिया है कि अाॅफिस में काम के दबाव के कारण हाेने वाली थकान काे बीमारी माना जाएगा। इसे बर्न अाउट नाम दिया गया है। डब्ल्यूएचअाे ने इस बीमारी काे अाईसीडी यानी अंतरराष्ट्रीय बीमारियों को वर्गीकृत करने वाली सूची में शामिल कर लिया है। इसके बाद अब इस बीमारी की जांच भी हो सकेगी। कुछ दिनों पहले ही डब्ल्यूएचअाे ने वीडियाे गेमिंग की लत काे मानसिक बीमारी की सूची में शामिल किया था। डब्ल्यूएचअाे के मुताबिक बर्न आउट एक ऐसा सिंड्रोम है, जो कार्यस्थल पर होने वाले गंभीर तनाव यानी काम के बहुत ज्यादा बोझ की वजह से पैदा होता है। इसे सही तरीके से नियंत्रित न किया जाए तो व्यक्ति बर्न आउट की स्थिति में पहुंच जाता है। इस सिंड्रोम को 3 हिस्साें में पहचाना गया है। पहला- एनर्जी की बहुत ज्यादा कमी और थकान महसूस करना, दूसरा- प्राेफेशनल क्षमता और गुण में कमी आ जाना अाैर तीसरा- काम से मानसिक दूरी बढ़ना, अपने काम को लेकर मन में नकारात्मक भाव का आना। डब्ल्यूएचअाे की डिजीज लिस्ट के मुताबिक बर्न आउट सिर्फ काम और व्यावसायिक हिस्साें में होने वाली बीमारी है। दुनियाभर में लाखों लोग अपने काम से जुड़े व्यस्त कार्यक्रमाें की वजह से हद से ज्यादा थक जाते हैं और बर्न आउट महसूस करने लगते हैं। इंटिटी हेल्थ की ओर से एक हजार लोगों पर किए गए सर्वे में यह बात सामने आई थी कि इनमें से करीब 40 फीसदी लोग हफ्ते में कम से कम तीन बार काम की वजह से तनाव और थकान महसूस करते हैं।
कुछ दिनों पहले वीडियो गेम की लत को भी बीमारी माना गया था
बर्न आउट में सुबह उठते ही थकान और गुस्सा अाता है
बर्न अाउट बीमारी का पहला लक्षण है, कम सोना और सुबह उठते वक्त थकान महसूस करना। इस बीमारी में उत्साह की कमी महसूस हाेती है और काम में फाेकस करने में मुश्किल का सामना करना पड़ता है। साथ ही छोटी-छोटी बात पर गुस्सा आता है और विवाद की स्थिति पैदा हाेती है। इस बीमारी से लाेग अपने दोस्तों और परिवार वालों से भावनात्मक रूप से दूर होते जाते हैं।

 

Have something to say? Post your comment
 
More International News
स्विट्जरलैंड में नीरव मोदी और पूर्वी मोदी के चार बैंक खाते सीज प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने जीत पर सबसे पहले बधाई दी: पीएम मोदी G20 सम्मेलन से पहले जापान में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पीएम शिंजो आबे की मुलाकात जापान में शुक्रवार को US राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और PM मोदी के बीच मुलाकात होगी अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात पर ट्वीट किया डोनाल्ड ट्रंप G20 समिट के लिए जापान रवाना, मोदी, शी, पुतिन से करेंगे मुलाकात Ranjit Singh statue to be unveiled in Lahore today जापान में हिंदी काफी लोकप्रिय है. बड़ी संख्या में विद्यार्थीं यहाँ हिंदी सीख रहे हैं. 2,000 counterfeit apps on G-Play Store: Study सभी कानूनी विकल्प इस्तेमाल कर चुकने के बाद मेहुल चौकसी को भारत प्रत्यर्पित कर दिया जाएगा : एंटीगुआ PM